Tuesday, October 4, 2022
Homeदेश-समाज'मुस्लिम बने तो नर्क में नहीं जाओगे': 9वीं के छात्र रहे विनोद को मस्जिद...

‘मुस्लिम बने तो नर्क में नहीं जाओगे’: 9वीं के छात्र रहे विनोद को मस्जिद में गले लगा कलीम सिद्दीकी ने बना दिया नूर मुहम्मद

जबरन धर्मांतरण के बाद विनोद को इस्लामी तालीम के लिए गुजरात और यूपी भेजा गया। उसका दावा है कि मौलाना का एक साथी उसे ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजने की बात भी करता था।

उत्तर प्रदेश एटीएस ने धर्मांतरण मामले में 21 सितंबर 2021 को मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया था। वह 10 दिनों की पुलिस रिमांड पर है। एटीएस ने एक बयान में बताया था कि मौलाना सिद्दीकी अपने मदरसों, सामाजिक और मजहबी संस्थानों की आड़ में देशव्यापी धर्मांतरण का रैकेट चला रहा था और इसके लिए उसे विदेश से फंडिंग भी मिल रही थी।

उसकी गिरफ्तारी के बाद से ही मीडिया रिपोर्टों से लगातार चौंकाने वाले तथ्य सामने आ रहे हैं। इस बीच फरीदाबाद के सेक्टर-17 थाने में विनोद नाम के एक शख्स ने खुद का धर्म परिवर्तन कराए जाने को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। फरीदाबाद पुलिस के प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया है, “एक व्यक्ति ने शिकायत कर कहा है कि 5-6 लोगों ने बातों में फँसाकर उसका धर्म परिवर्तन किया। उन लोगों ने उसे मस्जिद में मौलवी के द्वारा कलमा पढ़वाया। FIR दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। मामले में जाँच जारी है।”

रिपोर्टों में बताया गया है कि विनोद ने मौलाना कलीम सिद्दीकी और उसके पाँच अन्य साथियों के खिलाफ जबरन धर्मांतरण का मामला दर्ज करवाया है। उसने बताया है कि 2011 में वह अपने परिवार के साथ सेक्टर-17 की प्रेम नगर की झुग्गियों में रहता था। उसके पड़ोस में कुछ मुस्लिम रहते थे जो इस्लाम का महिमामंडन कर हिंदू धर्म की बुराई करते थे।

विनोद के मुताबिक आरोपित उसे बीच-बीच में पैसे और अन्य जरूरी सामान भी दिया करते थे। उसके अनुसार उसे दिल्ली के शाहीनबाग की एक मस्जिद में ले जाकर मौलाना कलीम सिद्दीकी से मिलवाया गया था। यहाँ मौलाना ने उसे गले लगाते हुए उसका धर्मांतरण करवाया। उसे नया नाम नूर मोहम्मद दिया गया। इसके बाद उसे इस्लामी तालीम के लिए गुजरात और उत्तर प्रदेश भी भेजा गया।

विनोद का दावा है कि मौलाना का एक साथी उसे ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजने की बात भी करता था। विनोद ने बताया कि 2018 में आरोपितों के चंगुल से छूटने के बाद उसने फरीदाबाद में ही 2 साल गुमनामी से बिताए। 2020 में जब उसे अपनी बहन की शादी का पता चला तो वह अपने परिवार से मिला।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार विनोद का जब जबरन धर्मांतरण कराया गया तब वह नौवीं में पढ़ता था। विनोद ने बताया है कि 2014-15 में जब वह फरीदाबाद के सेक्टर 16 के एक स्कूल में नौंवी कक्षा में था तब उसका धर्मांतरण कराया गया था। गैस चूल्हा और सिलाई मशीन की रिपेयरिंग-बिक्री का काम करने वाला शहजाद स्कूल आते-जाते वक्त उसे अपने पास बुलाता। उसे खाने-पीने की चीजें देता और इस्लाम का बखान करता। उससे कहता कि यदि तुम मुस्लिम बन गए तो नर्क में जाने से बच जाओगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

एक मिनट में दागेगा 750 गोलियाँ, ऊँचाई वाले स्थानों पर दुश्मन की खैर नहीं: जानें 5800 किलो के स्वदेशी ‘प्रचंड’ के बारे में, जो...

'प्रचंड' चॉपर दुश्मनों के लड़ाकू विमानों को ध्वस्त करने, आतंकवाद विरोधी अभियानों को अंजाम देने, कॉम्बैट सर्च और बचाव कार्यों में सक्षम हैं।

कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत आए चीतों को बताया लंपी वायरस का कारण, नामीबिया को बताया ‘नाइजीरिया’: BJP नेता ने कहा – इनको...

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि देश में फैले हुए लंपी वायरस के लिए 'नाइजीरिया' से आए चीते जिम्मेदार हैं। हुई जगहँसाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe