Thursday, June 30, 2022
Homeदेश-समाजजमुई के कॉलेज में रची ट्रेन जलाने की साजिश, बाहर से लड़के बुलाने के...

जमुई के कॉलेज में रची ट्रेन जलाने की साजिश, बाहर से लड़के बुलाने के लिए फिजिकल ट्रेनरों को मिले 20-20 हजार: अग्निपथ ​हिंसा को लेकर रिपोर्ट में दावा

रिपोर्ट के अनुसार 17 जून को जमुई में मोकामा-हावड़ा एक्सप्रेस को जलाने की तैयारी थी इसके लिए बाहर के जिलों से भी लड़कों को बुलाया गया था।

अग्निपथ योजना के खिलाफ देश भर में हुए विरोध-प्रदर्शन के दौरान बिहार हिंसा से सर्वाधिक प्रभावित रहा है। राज्य के जिन जिलों में हिंसा हुई, उनमें से एक जमुई भी है। यहाँ पुलिस पर पथराव किया गया। सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुँचाने की कोशिश हुई। अब एक नए खुलासे के अनुसार इस हिंसा का सूत्रधार एक सफेदपोश नेता है। हिंसा की प्लानिंग जमुई के KKM कॉलेज में की गई। कॉलेज में युवाओं को फिजिकल ट्रेनिंग देने वाले 2 ट्रेनर भी इस साजिश के सूत्रधारों में शामिल हैं।

ETV की रिपोर्ट के मुताबिक जमुई में मोकामा-हावड़ा एक्सप्रेस ट्रेन को जलाने की तैयारी थी। इस साजिश को अंजाम देने के लिए अलीगंज और लखीसराय से सैकड़ों लड़कों को गुरुवार (16 जून 2022) को जमुई बुलाया गया था। इन्हे हॉस्टल, होटलों और लॉज में ठहराया गया था। ट्रेन जलाने के लिए 17 जून की तारीख तय की गई थी। इन लोगों को जुटाने में KKM कॉलेज में फिजिकल ट्रेनिंग देने वाले 2 लोगों की भूमिका सबसे ज्यादा रही। दोनों को इसके लिए 20 हजार रुपए दिए जाने की बात भी कही जा रही है।

रिपोर्ट में हिंसा के सूत्रधार रहे नेता का नाम नहीं बताया गया है। लेकिन रिपोर्ट के अनुसार उसने प्रदर्शनकारियों को हिंसा को सिलसिलेवार ढंग से अंजाम देने के निर्देश दिए थे। पहले चरण में शहर के कचहरी चौक पर जमा होना था। उनसे कहा गया था कि यदि पुलिस हटाए तो अलग-अलग टोलियों में बँट जाना है। सभी को 9 बजे से पहले स्टेशन पहुँचने के लिए कहा गया था। शुक्रवार को ऐसा ही हुआ भी था? लेकिन उस दिन ट्रेन स्टेशन पर आई ही नहीं और एक बड़ी वारदात होने से बच गई। जानकारी के मुताबिक उस दिन ट्रेन जमुई से पहले ही झाझा स्टेशन पर रोक दी गई थी।

पुलिस ने इस पूरी साजिश की जानकारी मिलते ही शुक्रवार (17 जून 2022) को लॉज, हॉस्टल और होटलों में छापेमारी की। इस दौरान साजिश में शामिल दोनों फिजिकल ट्रेनरों को गिरफ्तार कर लिया गया। इन दोनों से पूछताछ की जा रही है। हिंसा के मुख्य सूत्रधार बताए जा रहे नेता के विरुद्ध सबूत जुटाए जा रहे हैं। शुक्रवार की घटना में 7 नामजद और लगभग 500 अज्ञात लोगों पर FIR दर्ज है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe