Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज'लुंगी पहनी थी इसलिए रेस्टोरेंट में घुसने तक नहीं दिया': One8Commune में 'तमिलों के...

‘लुंगी पहनी थी इसलिए रेस्टोरेंट में घुसने तक नहीं दिया’: One8Commune में ‘तमिलों के अपमान’ का आरोप, फैन को लौटना पड़ा भूखे पेट

विराट कोहली का एक फैन तमिलनाडु से मुंबई गया ताकि उनके जुहू स्थित रेस्टोरेंट में जा सके। लेकिन वहाँ मैनेजमेंट ने उसको अंदर ही नहीं घुसने दिया। जब वजह पूछी गई तो बताया गया कि चूँकि उसने लुंगी पहनी है इसलिए उन्हें एंट्री नहीं मिल सकती।

क्रिकेटर विराट कोहली की रेस्टोरेंट चेन One8 Commune पर एकबार फिर भेदभाव करने का आरोप लगा है। ये आरोप तमिलनाडु के एक शख्स ने लगाया है। व्यक्ति का कहना है कि उन्हें मुंबई के जुहू में स्थित One8commune रेस्टोरेंट में लुंगी पहन कर प्रवेश नहीं करने दिया गया।

बताते चलें कि इससे पहले भी साल 2021 में कोहली के रेस्टोरेंट पर LGBTQIA+ समुदाय के साथ भेदभाव करने का आरोप लग चुका है। अब सोशल मीडिया पर रेस्टोरेंट पर भेदभाव करने का आरोप लगाया गया है। शख्स ने इस पोस्ट पर विराट कोहली को भी टैग किया है।

शख्स का कहना है कि रेस्टोरेंट में महज इसलिए एंट्री नहीं दी गई क्योंकि उन्होंने शर्ट के साथ पारंपरिक पोशाक लुंगी (वेष्टी) पहनी थी। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु से मुंबई वो खास जुहू स्थित One8 Commune रेस्टोरेंट के लिए आए थे, लेकिन यहाँ उनके साथ हुए भेदभाव से वो आहत और निराश हैं।

उन्होंने कहा कि वो विराट कोहली के बहुत बड़े प्रशंसक हैं, इसलिए जुहू के जेडब्ल्यू मैरियट होटेल में चेक इन करने के तुरंत बाद वो बेहद उत्सुक होकर उस रेस्टोरेंट में पहुँचे थे। इस दौरान उन्होंने एक बड़े मशहूर ब्रांड रामराज कॉटन की शर्ट और लुंगी पहन रखी थी।

उन्होंने बताया कि रेस्टोरेंट के मैनेजमेंट ने शर्ट लुंगी में उन्हें देखकर उन्हें रेस्टोरेंट के अंदर ही नहीं घुसने दिया। मैनेजमेंट ने कहा कि उनकी पोशाक रेस्टोरेंट के ड्रेस कोड के मुताबिक नहीं है, इसलिए वो अंदर नहीं जा सकते। इसके बाद वो निराश होकर अपने होटल वापस आ गए।

विराट के इस प्रशंसक ने सोशल मीडिया पर कहा है कि उन्हें संदेह है कि विराट कोहली उनकी इस पोस्ट को देखने के बाद रेस्टोरेंट मैनेजमेंट के खिलाफ एक्शन लेंगे, लेकिन वो उम्मीद करते हैं कि ऐसा व्यवहार किसी के साथ न हो।

उन्होंने आगे कहा, “मैं तमिलनाडु की संस्कृति की सम्मानित पोशाक पहनकर वहाँ गया था। अगर उन्होंने मुझे 3/4 लेंथ की रंग-बिरंगी लुंगी या कोई कैजुअल ड्रेस पहने पर टोका होता तो और अंदर नहीं जाने दिया होता तो ईमानदारी से मैं इसे स्वीकार करता।”

वो कहते हैं कि वो इस वीडियो को बनाकर इसलिए पोस्ट कर रहे हैं क्योंकि रेस्टोरेंट ने तमिलों और उनकी पूरी संस्कृति का अपमान किया। उन्होंने कहा, “विराट कोहली के रेस्टोरेंट में उत्सुकता से जाने का ईनाम मुझको यही मिला कि मुझे वहाँ से भूखे पेट लौटना पड़ा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

रेड सिग्नल पार करने वाली ट्रेनों को भी रोक देता है कवच, फिर क्यों कंचनजंगा एक्सप्रेस से भिड़ गई मालगाड़ी: जानिए सब कुछ

न्यू जलपाई गुड़ी में हुए रेल हादसे के बाद कवच पर चर्चा चालू हो गई है। जिस रूट पर हादसा हुआ है, वहाँ अभी कवच सिस्टम नहीं लगा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -