Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजराष्ट्र विरोधी गतिविधियों का महिमामंडन, खबरों के नाम पर भड़काऊ कंटेंट: 'द कश्मीर वाला'...

राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का महिमामंडन, खबरों के नाम पर भड़काऊ कंटेंट: ‘द कश्मीर वाला’ का संपादक फहद शाह गिरफ्तार

फहद ऑनलाइन समाचार पोर्टल 'द कश्मीर वाला' के संपादक हैं, जो वर्ष 2011 में शुरू हुआ था। यह जम्मू-कश्मीर में समाचार और अन्य सामाजिक-सांस्कृतिक खबरों को कवर करने का दावा करता है। इस पोर्टल ने 5 अगस्त, 2019 को मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 निरस्त करने के फैसले का भी विरोध किया था।

जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में न्यूज पोर्टल ‘द कश्मीर वाला’ के संपादक फहद शाह को शुक्रवार (4 फरवरी 2022) को गिरफ्तार कर लिया गया। जम्मू-कश्मीर पुलिस के अनुसार, फहद शाह पर राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का महिमामंडन करने और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (फेसबुक) पर भड़काऊ कंटेंट शेयर करने के आरोप हैं। पुलिस ने बताया, “पत्रकार ने कानून-व्यवस्था बिगाड़ने के लिए और जनता को उकसाने के लिए आपराधिक इरादे से यह कृत्य किया।”

पुलवामा जिला पुलिस द्वारा जारी बयान में कहा गया है, “कुछ फेसबुक यूजर्स और पोर्टल जनता के बीच भय का माहौल पैदा करने के लिए आपराधिक इरादे से तस्वीरें, वीडियो और पोस्ट सहित राष्ट्र विरोधी सामग्री अपलोड कर रहे हैं। इस तरह अपलोड की गई सामग्री कानून व्यवस्था बिगाड़ने के लिए जनता को उकसा सकती है।” पोर्टल की सामग्री को लेकर पुलिस पहले ही तीन बार फहद को तलब कर चुकी है। 31 जनवरी को उसे पुलवामा पुलिस ने बुलाया और पूछताछ के बाद छोड़ दिया था।

इसके बाद पुलिस ने एक फरवरी को शाह को पूछताछ के लिए बुलाया। उसके बाद बयान दर्ज कराने के लिए उसे 4 फरवरी को पुलवामा पुलिस स्टेशन बुलाया गया और फिर उसे हिरासत में ले लिया गया। पुलिस के अनुसार, एफआईआर संख्या 19/2022 के तहत मामले की जाँच के दौरान शाह को हिरासत में लिया गया है। वहीं, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने पुलिस के इस कदम की निंदा करते हुए कहा कि सच के साथ खड़ा होना अब राष्ट्र विरोधी हो गया है। सरकार को आईना दिखाना भी राष्ट्र विरोधी कृत्य है।

बता दें कि फहद ऑनलाइन समाचार पोर्टल ‘द कश्मीर वाला’ के संपादक हैं, जो वर्ष 2011 में शुरू हुआ था। यह जम्मू-कश्मीर में समाचार और अन्य सामाजिक-सांस्कृतिक खबरों को कवर करने का दावा करता है। इस पोर्टल ने 5 अगस्त, 2019 को मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 निरस्त करने के फैसले का भी विरोध किया था। पिछले महीने, ‘द कश्मीर वाला’ के एक ट्रेनी रिपोर्टर सज्जाद गुल को भी अपने ट्वीट के माध्यम से कथित तौर पर लोगों को सरकार के खिलाफ भड़काने और नफरत फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। साथ ही इसके पत्रकार यशराज शर्मा पर भी केस दर्ज हो चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजा बेटे पर हत्या करवाने का आरोप, माँ बिहार पुलिस को हड़का रही: कहा- कोई चोर चिल्लर है जो भाग जाएगा… RJD नेता बीमा...

पूर्णिया की राजद नेता बीमा भारती के पटना स्थित आवास पर बिहार पुलिस ने दबिश दी है। पुलिस को उनके बेटे राजा की हत्या के मामले में तलाश है।

घर लूटा, दुकानें फूँकी, हत्या की धमकी… परिवार समेत पलायन कर BJP दफ्तर में रहने को मजबूर कार्यकर्ता, रिपोर्ट में बताया – TMC के...

किसी का घर लूट लिया गया, किसी की दुकान में ताला जड़ दिया गया, तो कहीं भाजपा का दफ्तर ही फूँक दिया गया। पलायन को मजबूर कार्यकर्ता पार्टी के दफ्तरों में बिता रहे रात।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -