Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजकश्मीर के 'पत्रकार' ने पोस्ट किया भारत विरोधी वीडियो: हुआ गिरफ्तार, फर्जी खबरें चलाने...

कश्मीर के ‘पत्रकार’ ने पोस्ट किया भारत विरोधी वीडियो: हुआ गिरफ्तार, फर्जी खबरें चलाने पर इस संस्थान के कई पत्रकारों पर हुई है कार्रवाई

जिस वीडियो को सज्जाद गुल ने पोस्ट किया, उसमें महिलाओं का एक समूह भारत विरोधी नारे लगा रहा है। इसी वीडियो में पाकिस्तान और ज़ाकिर मूसा का समर्थन भी किया जा रहा है। वीडियो श्रीनगर में मुठभेड़ के दौरान मार गिराए गए एक आतंकी की मौत के बाद बनाया गया था। मारे गए आतंकी का नाम सलीम पैरी था, जो लश्कर ए तैयबा का सक्रिय सदस्य था।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक कथित पत्रकार को आतंकी की मौत के बाद संबंधित वीडियो को पोस्ट के आरोप में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार पत्रकार का नाम सज़्ज़ाद अहमद डार है और उसे बांदीपोरा जिले से पकड़ा गया है। सज़्ज़ाद अहमद ऑनलाइन पोर्टल ‘द कश्मीर वाला (The Kashmir Walla)’ के लिए काम करता था। पुलिस ने शनिवार (8 जनवरी) को गिरफ्तारी की पुष्टि की।

जिस वीडियो को सज्जाद गुल ने पोस्ट किया, उसमें महिलाओं का एक समूह भारत विरोधी नारे लगा रहा है। यह वीडियो मारे गए आतंकी के परिजनों का बताया जा रहा है। इसी वीडियो में पाकिस्तान और ज़ाकिर मूसा का समर्थन भी किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि वीडियो श्रीनगर में मुठभेड़ के दौरान मार गिराए गए एक आतंकी की मौत के बाद बनाया गया था। मारे गए आतंकी का नाम सलीम पैरी था, जो लश्कर ए तैयबा का सक्रिय सदस्य था। सलीम 3 जनवरी को श्रीनगर के हरवान में मारा गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सज्जाद गुल के भाई ने बताया कि उसको 5 जनवरी को कस्टडी में लिया गया था। यह कार्रवाई रात लगभग 10 बजे सैनिकों की दबिश के दौरान की गई। बाद में गुल को पुलिस के हवाले कर दिया गया। परिजनों ने बताया कि FIR की जानकारी उन्हें 7 जनवरी (शुक्रवार) को हुई। सज्जाद गुल पर धारा IPC की धारा 120B, 153B और 505B के तहत केस दर्ज किया गया है।

गिरफ्तार सज्जाद गुल अहमद डार उर्फ़ सज्जाद गुल, जिस ‘द कश्मीर वाला’ के लिए काम करता था वो संस्थान पहले से ही विवादों में रहा है। इसके एडिटर-इन-चीफ का नाम फहद शाह है। फहद शाह और एक अन्य रिपोर्टर यशराज शर्मा पर पहले भी केस दर्ज हो चुका है। इन्होंने 26 जनवरी को शोपियाँ के एक धार्मिक स्कूल में सेना द्वारा जबरन गणतंत्र दिवस मनाने की झूठी खबर प्रकाशित की थी। यशराज शर्मा इस बार भी आतंकियों के साथ खड़े सज्जाद गुल का समर्थन कर रहा है।

फहद शाह को मई 2020 में पुलिस ने श्रीनगर में एक मुठभेड़ की कवरेज के लिए सम्मन जारी किया था। इसमें उनको हिरासत में लेकर पूछताछ भी की गई थी। फिलहाल फहद शाह ने भी सज्जाद गुल की गिरफ्तारी की निंदा की है और उसे फ़ौरन रिहा करने की माँग की है।

कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस विजय कुमार के मुताबिक, “2 दिन पहले पकड़ा गया सज़्ज़ाद डार अभी रिमांड पर है। वह सज़्ज़ाद गुल नाम से ट्विटर हैंडल चलाया करता था। उसकी खबरों में हमेशा सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार रहता था। उसका इरादा सामाजिक वैमनस्यता फैलाने का रहा करता था। साथ ही उसकी खबर तथ्यात्मक रूप से सही नहीं रहती हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -