Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाजपश्चिम बंगाल: ड्रोन उड़ाकर विक्टोरिया मेमोरियल की तस्वीरें लेने वाला चीनी नागरिक गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल: ड्रोन उड़ाकर विक्टोरिया मेमोरियल की तस्वीरें लेने वाला चीनी नागरिक गिरफ्तार

बेशक कोई व्यक्ति ड्रोन का मालिक हो सकता है, मगर वह बिना प्रशासन की अनुमति के उसे उड़ा नहीं सकता।

पश्चिम बंगाल के सबसे हाई सिक्योरिटी जोन माने जाने वाले फोर्ट विलियम इलाके से ड्रोन उड़ाकर विक्टोरिया मेमोरियल की तस्वीरें ले रहे एक 34 वर्षीय चीनी नागरिक लियु झिंउओई को 2 महिलाओं समेत गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के बाद चीनी नागरिक को कोर्ट के सामने पेश किया गया, जिसके बाद उसे 25 मार्च तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया और आरोपी के साथ जो दो महिलाएँ थीं, उन्हें रिहा कर दिया गया। हालाँकि, अभी इस बात का पता नहीं चल पाया है कि महिलाएँ चीन की नागरिक हैं या भारत की।

जानकारी के मुताबिक, शनिवार (मार्च 16, 2019) की शाम ड्यूटी पर तैनात सीआइएसएफ की नज़र आसमान में उड़ रहे ड्रोन पर पड़ी। जिसके बाद जाँच पड़ताल शुरू हुई और आरोपी पकड़ा गया। घटना की जानकारी कोलकाता स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास को दे दी गई है। इस मामले पर कानूनी विशेषज्ञों का कहना है कि बेशक कोई व्यक्ति ड्रोन का मालिक हो सकता है, मगर वह बिना प्रशासन की अनुमति के उसे उड़ा नहीं सकता। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि किसी को भी प्रतिबंधित क्षेत्र में उड़ाने की अनुमति नहीं होती। जबकि चीनी नागरिक प्रतिबंधित क्षेत्र में ही ड्रोन उड़ा रहा था।

इस मामले पर पुलिस का कहना है कि ऐसा हो सकता है कि चीनी नागरिक को ड्रोन से संबंधित कानून के बारे में पता ना हो। इसलिए वो उससे पूछताछ करके ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि प्रतिबंधित क्षेत्र में किस मंशा से ड्रोन उड़ा रहा था?

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

UGC-NET जून 2024 परीक्षा रद्द, 18 जून को 11.21 लाख छात्रों ने दी थी परीक्षा: साइबर क्राइम सेल से मिला सेंधमारी का इनपुट,...

परीक्षा प्रक्रिया की उच्चतम स्तर की पारदर्शिता और पवित्रता सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि यूजीसी-नेट जून 2024 परीक्षा रद्द की जाए।

मंच से उड़ा रहे थे भगवान राम और माता सीता का मजाक, नीचे से बज रही थी सीटी: एक्शन में IIT बॉम्बे, छात्रों पर...

भगवान का मजाक उड़ाने वाले छात्रों के खिलाफ 1.20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया। वहीं कुछ छात्रों को हॉस्टल से निलंबित भी किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -