Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजबंगाल में खाली पड़े घर से मिलीं जिलेटिन की 12000 छड़ें: 60 डिब्बों में...

बंगाल में खाली पड़े घर से मिलीं जिलेटिन की 12000 छड़ें: 60 डिब्बों में भरकर रखा गया था अवैध जखीरा, 15 जिंदा बम भी बरामद

इससे पहले 10 अप्रैल, 2023 को भी बीरभूम जिले में एक कार से जिलेटिन की छड़ों से भरे 17 बक्से बरामद किए थे। इन बक्सों की जब जाँच की गई तो सामने आया था कि इसमें 3400 नग जिलेटिन की छड़ें रखी हुई थीं।

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में पुलिस ने दो अलग-अलग गाँवों से जिलेटिन की छड़ें और जिंदा बम बरामद किए। जिलेटिन की छड़ें कार्टून के डिब्बों में भरकर रखी गई थीं। इन डिब्बों में जिलेटिन की 12000 छड़ें बरामद हुईं। इसके अलावा, पुलिस ने प्लास्टिक के ड्रम में रखे गए 15 जिंदा बम भी बरामद किए। घटना शनिवार (5 अगस्त, 2023) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस ने जिलेटिन की ये छड़ें बीरभूम जिले के रामपुरहाट थाना इलाके के रदीपुर गाँव से बरामद कीं। बताया जा रहा है कि पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर एक खाली पड़े मकान में छापेमारी की थी। इसके बाद यहाँ से कार्टून के डिब्बों में पैक ये छड़ें बरामद हुईं। पुलिस इस मामले में जाँच की बात कह रही है। लेकिन इस मामले में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

इससे पहले शनिवार (5 अगस्त, 2023) दोपहर बीरभूम जिले के खैराशोल के कृष्णापुर गाँव में ग्रामीणों ने झाड़ियों के बीच प्लास्टिक का ड्रम दिखाई दिया। इसके बाद सूचना मिलने पर मौके पर पहुँची पुलिस ने 15 जिंदा बम बरामद किए। इस मामले में भी पुलिस अब तक किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

चूँकि विस्फोटक बनाने में जिलेटिन की छड़ों का प्रमुखता से उपयोग होता है। इसलिए सवाल यह उठता है कि आखिर इतनी बड़ी मात्रा में जिलेटिन की छड़ें कहाँ से आईं? इन्हें खाली पड़े मकान में क्यों रखा गया था? आतंकी बड़े पैमाने पर विस्फोटक तो नहीं तैयार करने वाले थे? इस मामले की जाँच करते हुए पुलिस को ऐसे अनेकों सवालों के जवाब ढूँढ़ने होंगे।

बता दें कि इससे पहले 10 अप्रैल, 2023 को भी बीरभूम जिले में एक कार से जिलेटिन की छड़ों से भरे 17 बक्से बरामद किए थे। इन बक्सों की जब जाँच की गई तो सामने आया था कि इसमें 3400 नग जिलेटिन की छड़ें रखी हुई थीं। उल्लेखनीय है कि इलाके में उत्खनन के लिए भी विस्फोटकों का इस्तेमाल किया जाता है। रिपोर्टों के मुताबिक, एक से दो खदानों को छोड़ बाकी के पत्थर खदान वालों के पास विस्फोटक के लाइसेंस नहीं है। बिना लाइसेंस के खादान वाले अवैध तरीके से हासिल विस्फोटक का उपयोग कर पत्थर तोड़ते और प्राप्त करते हैं। चूँकि अब स्वतंत्रता दिवस आने वाला है। ऐसे में अवैध रूप से मिलने वाले विस्फोटक से सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े होना स्वाभाविक है।

TMC नेता हुआ था गिरफ्तार

गौरतलब है कि जून 2022 में पश्चिम बंगाल एसटीएफ ने कोलकाता से एक टाटा सूमो कार सहित कई जगहों से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया था। इनमें 81,000 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 27000 किलोग्राम अमोनियम नाइट्रेट और 1625 किलोग्राम जिलेटिन छड़ें शामिल थीं। इस मामले में NIA ने शुक्रवार (4 अगस्त, 2023) को तृणमूल कॉन्ग्रेस नेता इस्लाम चौधरी को बीरभूम जिले से ही गिरफ्तार किया था। ऐसे में संभव है कि जिलेटिन की इन छड़ों के तार जून 2022 में मिले विस्फोटक से जुड़े हों।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -