Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजतौफीक शेख बीवी की प्राइवेट पार्ट में डाल देता था रॉड, 2 बेटियाँ पैदा...

तौफीक शेख बीवी की प्राइवेट पार्ट में डाल देता था रॉड, 2 बेटियाँ पैदा होने के बाद नाराज़ था: तलाक और दूसरे निकाह की भी धमकी

महिला का शौहर शौहर गुप्तांगों में लोहे की रॉड डाल देता था। इस दौरान वो चीख-पुकार के साथ रहम की भीख माँगती थी। लेकिन, इसका आरोपित पर कोई असर नहीं होता था।

पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले में एक शौहर पर अपनी बीवी के गुप्तांग में लोहे की रॉड डालने का आरोप लगा है। आरोपित का नाम तौफीक शेख है। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। शादी के बाद पीड़िता ने 2 बेटियों को जन्म दिया था। बताया जा रहा है कि आरोपित शौहर इस से नाराज था क्योंकि वो बेटा चाहता था। घटना शनिवार (29 जनवरी, 2022) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना कालना क्षेत्र की है। पीड़िता का नाम शरीफा बीवी बताया जा रहा। पीड़िता के अनुसार, उनका निकाह 2016 में तौफीक शेख से हुआ था। शादी के बाद 2 बेटियाँ होने से शौहर तौफीक नाराज रहने लगा। वो आए दिन अपनी बीवी को मारने पीटने लगा। जान से मारने की धमकियों के साथ मानसिक प्रताड़ना भी दी जाने लगी। पीड़िता ने शौहर पर तलाक की धमकी देने का भी आरोप लगाया है। तौफीक शेख पर अपनी पत्नी को दूसरी लड़की से निकाह करने की भी धमकी देने का आरोप है।

पुलिस को दी गई शिकायत में पीड़िता ने बताया है कि उसका शौहर उनके गुप्तांगों में लोहे की रॉड डाल देता था। इस दौरान वो चीख-पुकार के साथ रहम की भीख माँगती थी। लेकिन, इसका आरोपित पर कोई असर नहीं होता था। किसी तरफ से वो अपने साथ हो रही प्रताड़ना को अपने मायके तक पहुँचाने में सफल रही। मायके वालों ने ही पीड़िता को अस्पताल में भर्ती करवाया। पीड़िता के पिता भुलू शेख ने भी ससुराल पक्ष पर अपनी बेटी को यातना देने का आरोप लगाया है।

पीड़िता का घर कालना के निवुजी कंपनीडांगा में है। जबकि आरोपित शौहर कालना के बगनापारा बिजारा इलाके में रहता है। यह केस कालना थाने में दर्ज हुआ है। ससुराल पक्ष के लोगों ने शरीफा बीबी के आरोपों को झूठ बताया है। पीड़िता की सास ने बहू पर काम न करने का आरोप लगाया। साथ ही खुद पर लगे आरोपों को निराधार बताया। पीड़िता की सास ने बस एक बार दोनों के बीच झगड़े की बात कही है। फिलहाल पुलिस ने आरोपित शौहर को गिरफ्तार कर लिया है। अब उसके खिलाफ केस दर्ज कर के उसे अदालत में पेश किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक आरोपित पर धारा 498 A / 307 IPC के तहत केस दर्ज हुआ है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20000 महिलाओं को रेप-मौत से बचाने के लिए जब कॉन्ग्रेसी मंत्री ने RSS से माँगी थी मदद: एक पत्र में दर्ज इतिहास, जिसे छिपा...

पत्र में कहा गया था कि आरएसएस 'फील्ड वर्क' के लिए लोगों को अत्यधिक प्रशिक्षित करेगा और संघ प्रमुख श्री गोलवरकर से परामर्श लिया जा सकता है।

कागज तो दिखाना ही पड़ेगा: अमर, अकबर या एंथनी… भोले के भक्तों को बेचना है खाना, तो जरूरी है कागज दिखाना – FSSAI अब...

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कांवड़ रूट में नाम दिखने पर रोक लगाई जा रही है, लेकिन कागज दिखाने पर कोई रोक नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -