Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजजिस आसिफ के लिए बनी अंजना से आइसा, उसके ही परिवार ने किया प्रताड़ित:...

जिस आसिफ के लिए बनी अंजना से आइसा, उसके ही परिवार ने किया प्रताड़ित: महिला ने विधानसभा के सामने किया आत्मदाह का प्रयास

महिला ने धर्म परिवर्तन कर आसिफ नाम के युवक से शादी कर ली। बताया गया है कि शादी के बाद आसिफ सऊदी अरब चला गया। महिला ने आसिफ के परिजनों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है।

उत्तर प्रदेश में विधानसभा के सामने ही एक महिला ने खुद के शरीर में आग लगा कर आत्मदाह का प्रयास किया है। लखनऊ विधानसभा के बाहर महिला द्वारा खुद को आग लगाए जाने के बाद हंगामा मच गया। महिला का शरीर काफी जल गया है, जिसके बाद पुलिस ने उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। निजी अस्पताल में इलाजरत महिला की स्थिति काफी गंभीर है, ऐसा डॉक्टरों ने जानकारी दी है।

‘आजतक’ की खबर के अनुसार, 35 वर्षीय महिला का आरोप है कि महाराजगंज के निवासी अखिलेश तिवारी से उसकी शादी हुई थी जिसके बाद तलाक हो गया। तत्पश्चात महिला ने धर्म परिवर्तन कर आसिफ नाम के युवक से शादी कर ली। बताया गया है कि शादी के बाद आसिफ सऊदी अरब चला गया। महिला ने आसिफ के परिजनों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। हाथरस मामले के बीच इस तरह की घटना का सामने आना चर्चा का विषय बन रहा है।

महिला का नाम अंजना तिवारी है। लेकिन, आसिफ के साथ निकाह के बाद उसने अपना नाम बदल कर आइसा रख लिया हुआ था। उसने विधानसभा के गेट पर खुद को आग लगाई। महिला ने जैसे ही खुद को आग लगाई, पुलिस ने जल्दी-जल्दी में वहाँ पहुँच कर उसे बचाया और अस्पताल में ले जाया गया। लखनऊ डीसीपी सेंट्रल सोमेन वर्मा का कहना है कि जाँच शुरू है और इस मामले की तह तक पुलिस पहुँचेगी।

वैसे ये पहला मामला नहीं है, जब किसी ने आत्मदाह का प्रयास किया हो। अमेठी की एक माँ-बेटी ने इसी तरह खुद को आग लगा ली थी। उन दोनों का पड़ोसी से विवाद चल रहा था, जिसका समाधान न निकलने के कारण उन्होंने आत्मदाह कर लिया था। मीडियाकर्मियों ने तब इन दोनों की जान बचाने का प्रयास भी किया था, लेकिन वो असफल हुए। हालाँकि, पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल ज़रूर उठे थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe