Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपवन के प्यार में 6000 Km दूर से खिंची चली आई क्रिस्टल: हिन्दू रीति-रिवाज...

पवन के प्यार में 6000 Km दूर से खिंची चली आई क्रिस्टल: हिन्दू रीति-रिवाज से की शादी, स्वीडन की महिला को यूपी के युवक से फेसबुक पर हुआ था प्यार

पवन और क्रिस्टल की दोस्ती फेसबुक के जरिए हुई थी। साल 2012 में क्रिस्टल ने पवन कुमार को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। इसे पवन ने एक्सेप्ट कर लिया।

सोशल मीडिया के जरिए परवान चढ़ा प्यार इस कदर हावी हो गया कि स्वीडन की रहने वाली महिला ने भारत आकर शादी कर ली। स्वीडन की क्रिस्टन लिवर्ट और उत्तर प्रदेश में रहने वाले पवन कुमार फेसबुक के जरिए मिले थे। फेसबुक के जरिए ही साल 2012 में शुरू हुई बातचीत प्यार में बदल गई। इसके बाद अब 10 साल बाद दोनों ने शादी कर ली।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तर प्रदेश के एटा जिले के अवागढ़ गाँव में रहने वाले पवन कुमार और स्वीडन की रहने वाली क्रिस्टल लिवर्ट ने शुक्रवार (27 जनवरी, 2023) को स्थानीय स्कूल में हिंदू रीति रिवाज से शादी कर ली। दोनों की शादी न केवल एटा बल्कि आसपास के क्षेत्रों में भी चर्चा का विषय बनी हुई है।

पवन के पिता की साइकल रिपेयरिंग का काम करते हैं। हालाँकि, पवन ने इंजीनियरिंग की है। लेकिन, वह बेरोजगार हैं। वहीं, क्रिस्टल लिवर्ट भी पढ़ी लिखी है। उसने होटल मैनेजमेंट और टूरिज्म में डिप्लोमा किया है।

पवन और क्रिस्टल की दोस्ती फेसबुक के जरिए हुई थी। साल 2012 में क्रिस्टल ने पवन कुमार को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। इसे पवन ने एक्सेप्ट कर लिया। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत शुरू हुई। बाद में फोन कॉल और वीडियो तक बात पहुँच गई। फेसबुक से शुरू हुई दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गई।

पवन कुमार के प्यार में पड़ने के बाद क्रिस्टल ने भारत आकर पवन से मिलने का फैसला किया। क्रिस्टल बीते 10 सालों में 8 बार भारत आ चुकी है। हालाँकि, इनकी शादी का फैसला साल 2022 में तब हुआ जब दोनों साथ में ताजमहल देखने गए। ताजमहल देखते ही दोनों ने शादी करने का फैसला किया।

इस शादी को लेकर पवन का कहना है कि उनके पिता इस शादी के खिलाफ थे। लेकिन जब उन्होंने मनाया तो वह मान गए। उन्होंने यह भी कहा है कि यह शादी उनके और क्रिस्टल के घरवालों की मर्जी से हुई है। दोनों के ही घरवाले खुश हैं। पवन के पिता गीतम सिंह ने कहा है कि बच्चों की खुशी में ही उनकी खुशी है। वह इस शादी से पूरी तरह से सहमत हैं और खुश भी हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -