Tuesday, March 5, 2024
Homeदेश-समाजYes Bank संकट पर बोलीं वित्त मंत्री- किसी को घबराने की जरूरत नहीं, सभी...

Yes Bank संकट पर बोलीं वित्त मंत्री- किसी को घबराने की जरूरत नहीं, सभी ग्राहकों का पैसा पूरी तरह सुरक्षित

भारतीय स्टेट बैंक के बोर्ड ने संकटग्रस्त यस बैंक में निवेश के लिए सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी है। यानी अगर सबकुछ ठीक रहा तो आर्थिक संकट में फँसे यस बैंक में देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI की हिस्‍सेदारी होगी।

संकट से जूझ रहे यश बैंक पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारण ने अपना बयान जारी करते हुए ग्राहकों से अपील की है कि किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है सभी ग्राहकों का पैसा बैंक में पूरी तरह से सुरक्षित है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, कि मैं RBI गवर्नर के साथ बातचीत कर रही हूँ। किसी को भी कोई नुकसान नहीं होगा। सभी ग्राहकों का पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है। इस संकट के दौरान बैंक ग्राहकों को बिल्कुल घबराना नहीं चाहिए। वित्त मंत्री ने आगे कहा कि अगर किसी को इमरजेंसी है तो वो नियमों के तहत ज्यादा रकम भी निकाल सकते हैं। नोटिफिकेशन में दी गई जानकारी के मुताबिक, कुछ विशेष परिस्थितियों में अकाउंट होल्डर्स अपने खाते से 50,000 रुपए से अधिक रकम विड्रॉ कर सकते हैं। 

इससे पहले RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि हमने 30 दिनों के लिए यह लिमिट लगाई है। जल्द ही आरबीआई यस बैंक को संकट से निकालने के लिए तेजी से कार्रवाई करेगा। आरबीआई गवर्नर ने कहा, आपको बैंक को समय देना होगा, प्रबंधन द्वारा उठाए जाने वाले जरूरी कदम को उठाने की कोशिश करनी होगी और उन्होंने कोशिश की। जब हमने पाया कि यह कोशिश काम नहीं कर रहा तो आरबीआई ने हस्तक्षेप किया। आपको RBI से बहुत ही जल्द कार्रवाई करने की योजना दिखाई देगी ताकि Yes Bank को पुनर्जीवित किया जा सके।

हालाँकि, भारतीय स्टेट बैंक के बोर्ड ने संकटग्रस्त यस बैंक में निवेश के लिए सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी है। यानी अगर सबकुछ ठीक रहा तो आर्थिक संकट में फँसे यस बैंक में देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI की हिस्‍सेदारी होगी। गुरुवार को ऐसी खबर आने के बाद यस बैंक के शेयर करीब 26 फीसदी की उछाल के साथ 37 रुपए पर पहुँच गए थे।

गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने यस बैंक पर सख्ती बरतते हुए इससे निकासी की सीमा 50 हजार रुपए निकासी की सीमा तय की है। आरबीआई का ये आदेश अगले एक महीने के लिए है। एनएसई ने यस बैंक के फ्यूचर और ऑप्शन सौदों पर रोक लगा दी है। इसकी वजह से देश भर के यस बैंक ग्राहकों में डर कायम हो गया है और गुरुवार रात कई शहरों में यस बैंक के एटीएम में ग्राहकों की कतारें देखी गईं।


Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साइबर फ्रॉड को रोकेग चक्षु (Chakshu), केंद्र सरकार ने लॉन्च की नई सेवा: धमकाने, फ्रॉड करने वालों के नंबर होंगे ब्लॉक, अनचाहे कॉल-मैसेज से...

साइबर फ्रॉड पर लगाम लगाने के लिए भारत सरकार ने लॉन्च की चक्षु योजना। अब साइबर अपराधियों की डिटेल भेजी जाएगी गृह मंत्रालय को।

‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के लिए 3 गिरफ्तार – मोहम्मद, मुनव्वर, इल्ताज: मजहबी नारे को नकार रहे फर्जी फैक्ट-चेकर जुबैर और कॉन्ग्रेस का ‘मुँह काला’

कर्नाटक में कॉन्ग्रेस के नासिर हुसैन की जीत के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने के आरोप में इलताज, मुनव्वर और मोहम्मद नशीपुडी गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe