Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजजोमैटो विवाद पर फाउंडर का आया बयान, डिलिवरी बॉय ने कहा- मुझे चप्पल से...

जोमैटो विवाद पर फाउंडर का आया बयान, डिलिवरी बॉय ने कहा- मुझे चप्पल से मारा, खुद की अँगूठी से हुई घायल

“उसने अचानक मुझ पर चप्पल फेंकी और मुझे मारने लगी। अपने बचाव में जब मैंने अपनी हाथ आगे किया तो गलती से उसकी नाक पर लग गया। जब वह मुझे धक्का देने की कोशिश कर रही थी तभी उसकी अँगूठी से उसके नाक पर लग गया और खून बहने लगा। उसके नाक को देखकर कोई भी समझ सकता है कि पंच से इतना चोट नहीं लगेगा और मैंने अँगूठी नहीं पहनी है।”

बेंगलुरु में हितेशा चंद्रानी के ऊपर हमला करने के बाद 11 मार्च को फूड डिलीवरी ऐप जोमैटो के डिलीवरी एजेंट को गिरफ्तार कर लिया गया। पीड़िता द्वारा ट्विटर पर घटना को साझा करने के बाद बेंगलुरू पुलिस ने कार्रवाई की। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके साथ जोमैटो डिलीवरी एजेंट ने मारपीट की थी, जो मंगलवार (मार्च 9, 2021) को उसके घर में आया था। इस मारपीट में उसकी नाक की हड्डी में फ्रैक्चर भी आया है। वहीं डिलीवरी एजेंट ने भी पीड़िता पर आरोप लगाया है।

अब, Zomato के संस्थापक दीपिंदर गोयल ने इस बाबत बयान जारी किया है। गोयल ने कुछ दिनों पहले बेंगलुरु में हुई घटना के संदर्भ में ट्विटर पर लिखा। दीपेंद्र गोयल ने अपने बयान में लिखा, “हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता सच को जानना है। इस संबंध में हम हितेशा और कामराज (हमारा डिलीवरी एजेंट) दोनों की मदद ले रहे हैं। जाँच जारी है। इस मामले में हम पुलिस की भी मदद ले रहे हैं।”

जोमैटो ने कहा कि वह लगातार हितेशा के संपर्क में है और उसके मेडिकल का भी खर्च वहन कर रहे हैं। इसके साथ ही वो उनकी कानूनी कार्यवाही में भी मदद कर रहे हैं। बयान में कहा गया है कि वे कानूनी कार्यवाही में भी उसकी मदद कर रहे हैं। बयान में आगे कहा गया है, “हम कामराज के साथ भी लगातार संपर्क में हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए कि कहानी के दोनों पक्ष प्रकाश में आए और निष्पक्षता से इस प्रक्रिया का पालन किया जाए।” दीपक गोयल ने बताया कि कामराज कंपनी में 26 महीनों से है। वो अभी तक 5,000 से ज्यादा डिलीवरी कर चुका है। उसे 5 में से 4.75 रेंटिंग मिले हैं, जो उच्चतम है।

वहीं कामराज ने द न्यूज मिनट से बात करते हुए अपना पक्ष रखा। उसने कहा कि हितेशा उसे चप्पल से मार रही थी, वो तो बस अपना बचाव कर रहा था। कामराज ने कहा कि कस्टमर ने उसके साथ मौखिक रूप से दुर्व्यवहार किया।

कामराज ने कहा कि जब वह हितेशा के अपार्टमेंट के दरवाजे पर पहुँचा तो उसने उसे खाना सौंप दिया और भुगतान के लिए इंतजार कर रहा था क्योंकि उसने कैश ऑन पेमेंट का विकल्प चुना था। कामराज ने कहा कि यातायात और खराब सड़कों के कारण डिलीवरी में देरी होने पर उन्होंने तुरंत माफी माँगी।

कामराज ने कहा, “हालाँकि, वह शुरू से ही बहुत असभ्य थी। उसने मुझसे पूछा, ‘तुम देर से क्यों आए?’ मैंने माफी माँगी, क्योंकि वहाँ चल रहे सिविक कार्यों के कारण सड़क ब्लॉक थे, और ट्रैफिक जाम भी था। लेकिन वह जोर देकर कहती रही कि ऑर्डर को 45-50 मिनट के भीतर पहुँचाना होगा। मैं इस काम पर दो साल से अधिक समय से काम कर रहा हूँ, और यह पहली बार है जब मुझे इस तरह के कटु अनुभव से गुजरना पड़ा है।”

कामराज के अनुसार, हितेशा ने भोजन लिया लेकिन ऑर्डर के लिए भुगतान करने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि वह Zomato चैट सपोर्ट के साथ बात कर रही थी। उसे डर था कि उसे पैसे नहीं मिलेंगे, वह उससे अनुरोध करने लगा। कामराज ने आगे बताया, “इस दौरान उसने मुझे ‘नौकर’ कहा और फिर चिल्लाने लगी कि तुम क्या कर सकते हो?’ इस बीच जोमैटो ने मुझे बताया कि ऑर्डर को कैंसिल कर दिया गया है। इस पर मैंने उसे खाना वापस करने के लिए कहा, लेकिन उसने सहयोग नहीं किया।”

इसके बाद उसने बिना खाना लिए ही वहाँ से वापस जाने का फैसला किया। उसने जैसे ही अपार्टमेंट छोड़ा हितेशा ने अपशब्द कहना शुरू कर दिया। कामराज ने कहा, “उसने अचानक मुझ पर चप्पल फेंकी और मुझे मारने लगी। अपने बचाव में जब मैंने अपनी हाथ आगे किया तो गलती से उसकी नाक पर लग गया। जब वह मुझे धक्का देने की कोशिश कर रही थी तभी उसकी अँगूठी से उसके नाक पर लग गया और खून बहने लगा। उसके नाक को देखकर कोई भी समझ सकता है कि पंच से इतना चोट नहीं लगेगा और मैंने अँगूठी नहीं पहनी है।”

गौरतलब है कि हितेशा ने पूरी घटना की जानकारी देते हुए बताया था कि उसने जोमैटो से फूड दोपहर 3.30 पर ऑर्डर किया था, लेकिन जब वो शाम 4.40 तक भी नहीं आया तो उसने कस्टमर केयर पर फोन कर ऑर्डर कैंसिल करनी की बात कही। इसके बाद उन्होंने डिलीवर बॉय से ऑर्डर लेने से मना कर दिया तो दोनों में आपसी विवाद हो गया, इसके बाद डिलीवरी बॉय ने लड़की की नाक पर मुक्का मार दिया, जिसके बाद खून आने पर वो वहाँ से भाग गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मीडिया पर फूटा शिल्पा शेट्टी का गुस्सा, फेसबुक-गूगल समेत 29 पर मानहानि केस: शर्लिन चोपड़ा को अग्रिम जमानत नहीं, माँ ने भी की शिकायत

शिल्पा शेट्टी ने छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए 29 पत्रकारों और मीडिया संस्थानों के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का केस किया है। सुनवाई शुक्रवार को।

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के जलसे में भारत के वामपंथियों की ता थैया, पीछे-पीछे कॉन्ग्रेसी भी कह सकते हैं- हम भी आ गए भैया!

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के साथ समझौता करने वाली कॉन्ग्रेस, वामपंथियों की कला सीख चीनी दूतावास के समारोहों में खुलेआम दिखाई दे तो चौंकिएगा मत।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,882FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe