Monday, January 18, 2021
Home विचार सामाजिक मुद्दे निर्भया केस: मदर इंडिया जैसी माँ की दरकार रखता है समाज, ऐसी माँ की...

निर्भया केस: मदर इंडिया जैसी माँ की दरकार रखता है समाज, ऐसी माँ की नहीं जो बलात्कारी बेटे को खिलाना चाहती है पूड़ी-सब्जी

विचार करिए...ये सब उन लोगों की हरकतें हैं जिन्हें मालूम है कि उनके बेटे ने, उनके पति ने, उनके भाई ने कैसे एक बच्ची की आत्मा के परखच्चे उड़ाए, उसके शरीर को तहस-नहस किया..।आज विनय कुमार की माँ इच्छा जताती हैं कि उन्हें अपने बेटे को पूड़ी-सब्जी खिलाना है। उस बेटे को जिसे कल फाँसी होनी हैं, क्योंकि उसने 8 साल पहले एक लड़की के चीथड़े उड़ाने में सहयोग दिया था।

साल 2012 में निर्भया के साथ हुई बर्बरता सोचकर भी रूह काँप जाती है। रात में घर से निकलते हुए डर लगता है और कोई मदद के लिए हाथ बढ़ाए तो उस पर शक होता है। उस रात जो कुछ भी हुआ और जो कुछ भी निर्भया ने झेला, उसे जानने के बाद शायद ही कोई ऐसा शख्स हो, जो उन दरिंदों के लिए सजा-ए-मौत न माँगे। आखिर कौन चाहता है ऐसे दानवों के बीच में रहना, जो एक लड़की के यौनांग में व्हील जैक घुसा दें और जब बाद में इस क्रूरता की वजह पूछी जाए तो जवाब दें कि अगर वो उस रात विरोध नहीं करती तो वे इस हद तक नहीं जाते।

सोचिए, ऐसी मानसिकता के लोग अगर आसपास हों, तो कितनी देर लगेगी हर दूसरी लड़की को निर्भया बन जाने में और कितनी देर लगेगी हर वहशीपन को जस्टिफाई करने में…। पूरे आठ साल तक हमारी चरमराई व्यवस्था ने निर्भया को इंसाफ के लिए इंतजार कराया। ये अंतराल इतना लंबा था कि 6 में से एक दोषी ने तो खुद आत्मग्लानि में मौत को गले लगा लिया और 1 को नाबालिग होने का फायदा मिल गया। लेकिन बाकी चार के लिए निर्भया की माँ फाँसी की गुहार लगाती रहीं और रो रोकर न्यायव्यवस्था से इंसाफ माँगती रहीं।

8 साल तक इस मामले में सुनवाई चली। पूरे 8 साल। इस बीच दोषियों की ओर से याचिका पर याचिका दाखिल हुईं। कभी मानवता को शर्मसार करने वाले उनके वकील ने उन्हें बचाने के लिए नाबालिग कार्ड खेला तो कभी मानसिक बीमारी वाला। कभी इंद्रा जय सिंह जैसी बड़ी वकील ने निर्भया की माँ से चारों को माफ करने की खुद गुजारिश की। मगर, आज जब सभी युक्तियाँ खत्म हो गई और दरिंदों को फाँसी पर लटकाने की अंतिम तिथि आई, तो एक नया ड्रामा शुरू हुआ।

ये ड्रामा दोषियों के घरवालों की ओर से देखने को मिला। हालाँकि, दोषियों के सजा के दिन नजदीक आते आते ये सब बहुत पहले से शुरू हो चुका था। लेकिन पटियाला कोर्ट के बाहर आज हद पार हो गई। आज यहाँ दोषी अक्षय कुमार की पत्नी ने अपने पति की सजा को रुकवाने के लिए रो-रोकर खुद को चप्पलों से मारा और बार-बार बोलती रही कि उसे नहीं जीना है, उसे मार दो। इसके बाद निर्भया के गुनहगार विनय शर्मा की माँ ने भी अपने बेटे को आखिरी बार अपने हाथ से सब्जी,पूड़ी और कचौड़ी खिलाने की इच्छा जताई। इससे पहले एक दोषी की बहन को बैनर लिए ये सवाल पूछते देखा गया था कि अगर उसके भाई को फाँसी हो गई तो उससे शादी कौन करेगा?

विचार करिए…ये सब उन लोगों की हरकतें हैं जिन्हें मालूम है कि उनके बेटे ने, उनके पति ने, उनके भाई ने कैसे एक बच्ची की आत्मा के परखच्चे उड़ाए, उसके शरीर को तहस-नहस किया..।आज विनय कुमार की माँ इच्छा जताती हैं कि उन्हें अपने बेटे को पूड़ी-सब्जी खिलाना है। उस बेटे को जिसे कल फाँसी होनी हैं, क्योंकि उसने 8 साल पहले एक लड़की के चीथड़े उड़ाने में सहयोग दिया था। उस बहन को अपने भाई के साथ आज भी रहना है जिसे मालूम है कि उसका भाई उस लड़की का दोषी है, जिसकी माँ के आँख से आँसू भी अब सूख चुके हैं, जो बार-बार नृशंस वारदात के बदले सिर्फ़ सजा-ए-मौत माँग रही है।

याद करिए हैदराबाद में रेप पीड़िता के दोषियों में से एक की माँ के शब्द…। जिन्होंने अपने बेटे के एनकाउंटर पर न अपनी परवरिश को कोसा, न अपने बच्चे की गलती को, न उसकी मानसिकता को… उन्हें बस अपने बेटे के जाने का दुख हुआ और उन्होंने डॉ प्रीति को मीडिया के सामने गाली दे डाली। उनके लिए अपशब्द इस्लेमाल किए। क्या वो नहीं जानती होंगी कि उनके बेटे ने आखिर क्या किया था और डॉ प्रीति की क्या गलती थी? क्या औरत होने के बाद भी उन्हें नहीं समझ आया होगा कि उनके बेटे ने कितना घिनौना पाप किया है? या उनकी आँख पर ममता की पट्टी इतनी कसके बँधी रही होगी कि मानवता का हर अंश उनके भीतर से खत्म हो गया होगा।

हम हर ऐसी वारदात के बाद कैंडल मार्च करते हैं। दरिंदों को फाँसी देने की गुहार लगाते हैं। हैशटग चलाते हैं। निंदा करते हैं। न्याय प्रशासन को कोसते हैं। लेकिन एक काम जो हम करना भूल जाते हैं वो होता है ऐसी महिलाओं की सोच को सुधारना, जो कहने सुनने के लिए तो बलात्कार को बुरा मानती हैं, लेकिन जब किसी लड़की का दोषी उनके अपने घर का कोई पुरुष निकलता है तो वह हर कोशिश करके उसे बचाने में लग जाती हैं, फिर चाहे कोई उनके अस्तित्व पर ही क्यों न सवाल उठा दे। ऐसी महिलाएँ ही महिलाओं के लिए घातक होती हैं।

आज, पुनीता देवी समेत सभी दोषियों के घर की महिलाओं को ये सब करते देखना ज्यादा हैरान करने वाला नहीं है। क्योंकि ये प्रतिक्रियाँ आज के समय में बहुत सामान्य प्रतिक्रियाँ हैं। जिन्हें समाज ने गढ़ा है अपने लिए। जिन्हें उन पुरुषों ने बढ़ावा दिया है अपने लिए, क्योंकि उन्हें मालूम है कि वे आज नहीं कल ऐसी हरकत जरूर करेंगे और उस समय उनकी माँ-बहने ही उनके चरित्र के गुणगान करके उन्हें बचाएँगी, और साबित करेंगी कि दूसरे लड़की पर ढाया गया जुल्म मात्र एक गलती साबित थी, अपराध नहीं।

कहना गलत नहीं है ये सब एक लम्बी प्रक्रिया का नतीजा है, जिसे समाज ने पोसा है और अब ये महिलाओं (ग्रामीण महिलाओं) में इस तरह बस गई है कि वे जानते-समझते हुए भी खुद को इससे दूर नहीं कर सकती और अपराधी बनती जाती हैं- कभी भाई को बचाने के लिए, कभी पिता को बचाने के लिए, तो कभी बेटे को बचाने के लिए… आज का समय एक ऐसा समय है जब समाज को मदर इंडिया फिल्म में दर्शाई गई माँ की जरूरत है। जिसने अपने गाँव की बेटी की रक्षा के लिए अपने बेटे को गोली मारी थी। न कि ऐसी माँ की, जो सबकुछ जानते हुए ममता की आड़ में दरिंदों का बचाव करती हैं और अंत समय में उन्हें पूड़ी सब्जी खिलाने की बात करती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तांडव’ पर मोदी सरकार सख्त, अमेजन प्राइम से I&B मिनिस्ट्री ने माँगा जवाब: रिपोर्ट्स

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार वेब सीरिज तांडव को लेकर अमेजन प्राइम वीडियो के अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है।

‘जेल में मेरे पति को कर रहे टॉर्चर’: BARC के पूर्व सीईओ की पत्नी ने NHRC से की शिकायत

BARC के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता को अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराने के बाद उनकी पत्नी ने NHRC के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है।

हार्वर्ड वाले स्टीव जार्डिंग के NDTV से लेकर राहुल-अखिलेश तक से लिंक, लेकिन निधि राजदान को नहीं किया खबरदार!

साइबर क्राइम के एक से एक मामले आपने देखे-सुने होंगे। लेकिन निधि राजदान के साथ जो हुआ वो अलग और अनोखा है। और ऐसा स्टीव जार्डिंग के रहते हो गया।

शिवलिंग पर कंडोम: अभिनेत्री सायानी घोष को नेटिजन्स ने लताड़ा, ‘अकाउंट हैक’ थ्योरी का कर दिया पर्दाफाश

अभिनेत्री सायानी घोष ने एक तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें एक महिला पवित्र हिंदू प्रतीक शिवलिंग के ऊपर कंडोम डालते हुए दिख रही थी।

‘आइए, हम सब वानर और गिलहरी बन अयोध्या के राम मंदिर के लिए योगदान दें, मैंने कर दी शुरुआत’: अक्षय कुमार की अपील

अक्षय कुमार ने बड़ी जानकारी दी कि उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अपना योगदान दे दिया है और उम्मीद जताई कि और लोग इससे जुड़ेंगे।

निधि राजदान के ‘प्रोफेसरी’ वाले दावे से 2 महीने पहले ही हार्वर्ड ने नियुक्तियों पर लगा दी थी रोक

हार्वर्ड प्रकरण में निधि राजदान ने ब्लॉग लिखकर कई सारे सवालों के जवाब दिए हैं। इनसे कई सारे सवाल खड़े हो गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

प्राइवेट वीडियो, किसी और से शादी तक नहीं करने दी… सदमे से माँ की मौत: महाराष्ट्र के मंत्री पर गंभीर आरोप

“धनंजय मुंडे की वजह से मेरी ज़िंदगी और करियर दोनों बर्बाद हो गए। उसने मुझे किसी और से शादी तक नहीं करने दी। जब मेरी माँ को..."

शिवलिंग पर कंडोम: अभिनेत्री सायानी घोष को नेटिजन्स ने लताड़ा, ‘अकाउंट हैक’ थ्योरी का कर दिया पर्दाफाश

अभिनेत्री सायानी घोष ने एक तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें एक महिला पवित्र हिंदू प्रतीक शिवलिंग के ऊपर कंडोम डालते हुए दिख रही थी।

‘अगर तलोजा वापस गए तो मुझे मार डालेंगे, अर्नब का नाम लेने तक वे कर रहे हैं किसी को टॉर्चर के लिए भुगतान’: पूर्व...

पत्नी समरजनी कहती हैं कि पार्थो ने पुकारा, "मुझे छोड़कर मत जाओ... अगर वे मुझे तलोजा जेल वापस ले जाते हैं, तो वे मुझे मार डालेंगे। वे कहेंगे कि सब कुछ ठीक है और मुझे वापस ले जाएँगे और मार डालेंगे।”

‘भूखमरी वाले देश में राम मंदिर 10 साल बाद नहीं बन सकता?’: अक्षय पर पिल पड़े लिबरल्स

आनंद कोयारी नामक यूजर ने उन्हें अस्पतालों और स्कूलों के लिए चंदा इकट्ठा करने की सलाह दे दी और दावा किया कि कोरोना काल में एक भी मंदिर काम नहीं आया।

‘मैं सभी को मार दूँगा, अल्लाहु अकबर’: जर्मन एयरपोर्ट पर मचाई अफरातफरी

जर्मनी के फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर मास्क न पहनने की वजह से टोके जाने पर एक शख्स ने 'अल्लाहु अकबर' का नारा लगाते हुए जान से मारने की धमकी दी।

2000 करोड़ रुपए कचड़े में: 7 साल पहले बेकार समझ फेंक दी थी, खोजने वाले को मिलेगा 50%

2013 में ब्रिटिश आईटी कर्मचारी जेम्स हॉवेल्स (James Howells) ने 7500 Bitcoins वाले एक हार्ड ड्राइव को कचरे में फेंक दिया था।

‘तांडव’ पर मोदी सरकार सख्त, अमेजन प्राइम से I&B मिनिस्ट्री ने माँगा जवाब: रिपोर्ट्स

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार वेब सीरिज तांडव को लेकर अमेजन प्राइम वीडियो के अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है।

मुंबई के आजाद मैदान में लगे ‘आजादी’ के नारे, ‘किसानों’ के समर्थन के नाम पर जुटे हजारों मुस्लिम प्रदर्शनकारी

मुंबई के आजाद मैदान में हजारों मुस्लिम प्रदर्शनकारी कृषि कानूनों के विरोध के नाम पर जुटे और 'आजादी' के नारे लगाए गए।

कॉन्ग्रेस ने कबूला मुंबई पुलिस ने लीक किया अर्नब गोस्वामी का चैट: जानिए, लिबरलों की थ्योरी में कितना दम

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने स्वीकार किया है कि मुंबई पुलिस ने ही अर्नब गोस्वामी के निजी चैट को लीक किया है।

रॉबर्ट वाड्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ करना चाहती है ED, राजस्थान हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

ED ने बेनामी संपत्ति मामले में रॉबर्ट वाड्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के लिए राजस्थान उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है।

‘तांडव’ के मेकर्स को समन, हिंदू घृणा से सने कंटेंट को लेकर बीजेपी नेता राम कदम ने की थी शिकायत

बीजेपी नेता राम कदम की शिकायत के बाद वेब सीरिज तांडव के मेकर्स को समन भेजा गया है।

बांग्लादेश से भागकर दिल्ली में ठिकाना बना रहे रोहिंग्या, आनंद विहार और उत्तम नगर से धरे गए

दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार से 6 रोहिंग्या को हिरासत में लिया है। उत्तम नगर से भी दो को पकड़ा है।

‘जेल में मेरे पति को कर रहे टॉर्चर’: BARC के पूर्व सीईओ की पत्नी ने NHRC से की शिकायत

BARC के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता को अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराने के बाद उनकी पत्नी ने NHRC के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है।

डिमांड में ‘कॉमेडियन’ मुनव्वर फारूकी, यूपी पुलिस को चाहिए कस्टडी

यूपी पुलिस ने मुनव्वर फारूकी के खिलाफ पिछले साल अप्रैल में दर्ज एक मामले को लेकर प्रोडक्शन वारंट जारी किया है।

हार्वर्ड वाले स्टीव जार्डिंग के NDTV से लेकर राहुल-अखिलेश तक से लिंक, लेकिन निधि राजदान को नहीं किया खबरदार!

साइबर क्राइम के एक से एक मामले आपने देखे-सुने होंगे। लेकिन निधि राजदान के साथ जो हुआ वो अलग और अनोखा है। और ऐसा स्टीव जार्डिंग के रहते हो गया।

आतंकियों की तलाश में दिल्ली पुलिस ने लगाए पोस्टर: 26 जनवरी पर हमले की फिराक में खालिस्तानी-अलकायदा आतंकी

26 जनवरी पर हमले के अलर्ट के बीच दिल्ली पुलिस ने खालिस्तानी आतंकियों की तलाश में पोस्टर लगाए हैं।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
381,000SubscribersSubscribe