Saturday, July 31, 2021
HomeराजनीतिCM योगी ने बदायूँ गैंगरेप घटना पर ADG से माँगी रिपोर्ट: आरोपितों पर लगेगा...

CM योगी ने बदायूँ गैंगरेप घटना पर ADG से माँगी रिपोर्ट: आरोपितों पर लगेगा NSA और STF करेगी जाँच

"मुख्यमंत्री जी ने बदायूँ की घटना का संज्ञान लिया है, इस संबंध में ADG से रिपोर्ट माँगी है। निर्देश दिए गए हैं कि अगर एसटीएफ को भी लगाना पड़े तो उन्हें लगाकर जल्द घटना की जाँच की जाए और त्वरित कार्रवाई करते हुए दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दिलाई जाए।"

उत्तर प्रदेश के बदायूँ में महिला के साथ गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में योगी सरकार एक्शन में है। बदायूँ गैंगरेप मामले के मुख्य आरोपित को पकड़ने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने STF को आदेश दिया है। साथ ही घटना का संज्ञान लेते हुए इस संबंध में ADG से रिपोर्ट माँगी है। सीएम योगी ने आरोपितों पर NSA के तहत कार्रवाई का भी आदेश दिया।

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा, “मुख्यमंत्री जी ने बदायूँ की घटना का संज्ञान लिया है, इस संबंध में ADG से रिपोर्ट माँगी है। निर्देश दिए गए हैं कि अगर एसटीएफ को भी लगाना पड़े तो उन्हें लगाकर जल्द घटना की जाँच की जाए और त्वरित कार्रवाई करते हुए दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दिलाई जाए।” इसके साथ ही सीएम योगी ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। वहीं पीड़ित परिवार की मदद का भी आदेश दिया गया है।

बदायूँ में हुए सामूहिक दुष्कर्म के बाद महिला की हत्या के मामले में एसएसपी संकल्प शर्मा ने उघैती एसएचओ राघवेंद्र प्रताप सिंह को निलंबित कर दिया है। ADG प्रशांत कुमार ने घटना की जानकारी देते हुए कहा, “पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आते ही जैसे ही प्रकरण SP के संज्ञान में आया, तत्काल त्वरित कार्रवाई की गई। इंस्पेक्टर को भी निलंबित किया गया। 2 अभियुक्तों को गिरफ़्तार किया गया है, फरार अभियुक्त पर इनाम की घोषणा की गई है।”

इसके अलावा सीएम योगी ने मुरादनगर श्मशान घाट में हुए हादसे को लेकर भी अपनी नाराजगी जाहिर की है। बुधवार (जनवरी 06, 2020) को गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पहुँचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुरादनगर में श्मशान घाट की गैलरी हादसे के मामले की जाँच एसआइटी से कराने के निर्देश दिए हैं।

राष्ट्रीय महिला आयोग ने मामले पर लिया संज्ञान

बदायूँ जिले में महिला से गैंगरेप की खबर पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी संज्ञान में लिया है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने बताया कि उनकी तरफ से एक चिट‌्ठी लिखने के साथ-साथ बुधवार को ही एक सदस्य बदायूँ जा रही हैं। वे परिवार और पुलिस से मिलेंगी। देखेंगी कि महिला से गैंगरेप के मामले में कार्रवाई ठीक से हुई है या नहीं। अगर हुई है तो कितनी?

गौरतलब है कि यूपी के बदायूँ जिले के उघैती में पूजा करने गई 50 वर्षीय आंगनबाड़ी सहायिका की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी। पोस्टमार्टम के मुताबिक महिला के साथ केवल गैंगरेप ही नहीं किया गया बल्कि उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई और उसके भीतर के अंगों (आंँतों) को भी फाड़ दिया गया।

उसकी बाईं पसली, बायाँ पैर और बायाँ फेफड़ा भी वजनदार प्रहार से क्षतिग्रस्त कर दिया गया। शव का पोस्टमार्टम करते हुए स्वयं तीन महिला डॉक्टरों का पैनल हैरान हो गया। जाँच में उन्होंने पाया कि वारदात को अंजाम देने वाले आरोपितों ने पहले महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड घुसाई और जब खून तेजी से बहने लगा तो उसे रोकने के लिए उन्होंने गुप्तांग में कपड़े व रुई घुसा दी। घटनास्थल पर महिला के सारे कपड़े खून से सने मिले थे।

इस घटना को लेकर महिला के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि वह सूचित किए जाने के बावजूद घटनास्थल पर समय से नहीं पहुँचे। और जब पहुँचे तब शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। वहीं घटना को लेकर पुलिस महकमे पर सवाल उठने लगे है। इस घटना से पुलिस महकमे की जमकर छीछालेदर हुई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe