Tuesday, August 16, 2022
Homeराजनीतिराजस्थान को ले डूबा 'रेवड़ी कल्चर', हर नागरिक पर ₹71000 का कर्ज: RBI की...

राजस्थान को ले डूबा ‘रेवड़ी कल्चर’, हर नागरिक पर ₹71000 का कर्ज: RBI की रिपोर्ट से खुलासा – GDP का 40% है घाटा

सबसे खस्ता हालत राजस्थान सरकार की है। हाल ही में 50 यूनिट तक की फ्री बिजली देने का ऐलान किया है, जिससे ये प्रस्तावित था कि गहलोत सरकार के इस कदम के बाद खजाने पर अतिरिक्त 6000 करोड़ रुपए वित्तीय बोझ आना तय है।

मुफ्त कल्चर का कितना बुरा असर होता है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हाल ही में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एक रिपोर्ट जारी की है। इसमें ये बताया गया है कि राजस्थान (Rajasthan) में सब्सिडी कल्चर बहुत की खतरनाक है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मुफ्त कल्चर के कारण कई राज्यों की हालत पूरी तरह से खराब हो चुकी है।

आरबीआई की रिपोर्ट में जिन राज्यों की हालत को खस्ता बताया गया है, उनमें पंजाब, राजस्थान, केरल, झारखंड, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक समेत 10 राज्यों ने मुफ्त की रेवड़ियाँ जमकर बाँटी और अब हालात बिगड़ गए हैं। केंद्रीय बैंक ने कहा है कि इन सभी राज्यों की आय और खर्च की व्यवस्था भी सही नहीं है। बैंक ने राज्यों को सलाह दी है कि अगर राज्य वित्तीय घाटा करना है तो सबसे पहले सब्सिडी को कम करना होगा। हाल ही में पीएम मोदी ने फ्री वाले लालच को ‘रेवड़ी कल्चर’ बताते हुए इसके विरोध की अपील की थी।

सबसे बुरी स्थिति है राजस्थान की

आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे खस्ता हालत राजस्थान सरकार की है। हाल ही में 50 यूनिट तक की फ्री बिजली देने का ऐलान किया है, जिससे ये प्रस्तावित था कि गहलोत सरकार के इस कदम के बाद खजाने पर अतिरिक्त 6000 करोड़ रुपए वित्तीय बोझ आना तय है। जबकि सहकारी बैंकों से किसानों की कर्जमाफी करने पर 7000 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च और राज्य 1.33 करोड़ महिलाओं को फ्री मोबाइल बांटने का ऐलान किया था, जिसका बजट 12,000 करोड़ रुपए रखा गया था।

जानकारी के मुताबिक, मुफ्त कल्चर के कारण इस बार राजस्थान का कुल चालू घाटा राज्य की जीडीपी का 40 फीसदी हो जाएगा। केवल महामारी के दौर में ही राज्य का घाटा 16 % तक बढ़ गया था। जबकि राज्य की विकास दर केवल 1 प्रतिशत पर ही टिकी हुई है। आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, गहलोत सरकार ने अपने कार्यकाल में सरकारी खर्चे के लिए एक लाख 91 हजार करोड़ रुपए का कर्ज लिया है। अब तक की सरकारों द्वारा लिए गए लोन का अकेले 30 फीसदी तो अशोक गहलोत की सरकार ने लिया है।

खास बात ये है कि अब तक प्रदेश पर कुल 4 लाख 71 हजार करोड़ रुपए का कर्ज हो चुका है। यानि कि राजस्थान के प्रत्येक नागरिक पर 71000 करोड़ रुपए का कर्ज हुआ है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के शिवमोगा में लगे वीर सावरकर के पोस्टर तो काटा बवाल, प्रेम सिंह को चाकू घोंपा: धारा 144 लागू, अब्दुल, नदीम और जबीउल्लाह...

कर्नाटक में वीर सावरकर के पोस्टर पर हुए बवाल के बाद एक व्यक्ति को चाकू मारने की खबर आई है। पुलिस ने अब्दुल, नदीम, जबीउल्लाह को गिरफ्तार किया है।

‘पता नहीं 9 सितंबर को क्या होगा’: ‘लाल सिंह चड्ढा’ का हाल देख कर सहमे करण जौहर, ‘ब्रह्मास्त्र’ के डायरेक्टर को अभी से दे...

क्या करण जौहर को रिलीज से पहले ही 'ब्रह्मास्त्र' के फ्लॉप होने का डर सता रहा है? निर्देशक अयान मुखर्जी के नाम उनके सन्देश से तो यही झलकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
214,182FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe