Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीतिसपा सुप्रीमो अखिलेश यादव, पत्नी डिंपल यादव और बेटी हुए कोरोना पॉजिटिव: कहा था...

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव, पत्नी डिंपल यादव और बेटी हुए कोरोना पॉजिटिव: कहा था – ‘BJP की वैक्सीन नहीं लगवाउँगा’

याद दिलाते चलें कि कोरोना वैक्सीन को अखिलेश यादव ने सितम्बर 2021 में 'भाजपा का टीका' बताया था और कहा था कि वो वैक्सीन नहीं लगवाएँगे।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, उनकी पत्नी डिंपल यादव और बेटी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बुखार आने पर हुए था टेस्ट। तीनों ने फ़िलहाल खुद को घर में ही आइसोलेट कर लिया है। असल में उनकी बेटी को बुखार आया था, जिसके बाद मंगलवार (दिसंबर 21, 2021) को कोरोना टेस्ट कराया गया और तीनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लगातार रैलियों और चुनाव प्रचार बैठकों में व्यस्त थे।

याद दिलाते चलें कि कोरोना वैक्सीन को अखिलेश यादव ने सितम्बर 2021 में ‘भाजपा का टीका’ बताया था और कहा था कि वो वैक्सीन नहीं लगवाएँगे। उन्होंने कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को लेकर भी निशाना साधा था। हालाँकि, उससे पहले जुलाई 2021 में उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से वैक्सीन लगवाने की अपील करते हुए कहा था कि जनता को वैक्सीन लगवाने के बाद अंतिम वैक्सीन बचेगी तब सरकार उन्हें भी लगवा दे।

याद दिला दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भी अखिलेश यादव की रिपोर्ट कोविड-19 पॉजिटिव आ गई थी, लेकिन कुछ दिनों बाद उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी और उन्हें उस दौरान एहतियात बरतने पड़े थे। डिम्पल यादव ने बताया कि उन्होंने खुद को सबसे अलग कर लिया है और घर पर ही उनका उपचार चल रहा है। उन्होंने पिछले दिनों अपने सम्पर्क में आए लोगों से भी कोरोना टेस्ट करवाने की अपील की। ओमीक्रॉन का खतरा फ़िलहाल पूरी दुनिया पर मँडरा रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -