‘आजम खान की ये औकात कि हमारी चड्डी नापेगा, वो पापी है, उनका संहार होगा’

"दुष्ट लोगों की नजर में महिलाओं की कोई ईज्जत नहीं है। मुलायम सिंह यादव ने कहा भी था कि अच्छी आकर्षक महिला को देखकर युवाओं का मन मचल जाता है।"

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा की तरफ इशारा करते हुए खाकी अंडरवियर वाला बयान दिया था। इश पर क्या मीडिया, क्या सोशल मीडिया… हर तरफ उनकी थू-थू हो गई। चौतरफा निंदा से बचने के लिए सपा ‘प्रमुख’ अखिलेश की तरफ से ये कहा गया कि आजम खान ने ये बयान जया प्रदा के लिए नहीं, बल्कि अमर सिंह के लिए दिया था।

अब इस मामले पर अमर सिंह ने आजम खान पर पलटवार किया है। उन्होंने आजम खान पर भड़कते हुए कहा कि आजम खान की इतनी औकात हो गई है कि वो हमारी चड्डी के बारे में बात करेगा। उन्होंने कहा कि आजम खान न तो उनके गुरू हैं और न ही उनकी ऊँगली पकड़कर वो (अमर सिंह) रामपुर गए थे। इसके साथ ही अमर सिंह ने कहा कि रामपुर में 10 साल तक जया प्रदा सांसद थी ना कि वो। अमर सिंह इतने पर ही नहीं रूके, उन्होंने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि दुष्ट लोगों की नजर में महिलाओं की कोई ईज्जत नहीं है। इस दौरान उन्होंने पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव के उस बयान का भी जिक्र किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि अच्छी आकर्षक महिला को देखकर युवाओं का मन मचल जाता है।

अमर सिंह ने कहा कि आजम पापी है, उनका संहार होगा। उन्होंने आगे कहा कि जया प्रदा उनकी छाया की तरह हैं, इसलिए आजम खान को खुजली हो रही है। वहीं, जया के प्रचार के लिए रामपुर जाने के सवाल पर अमर सिंह ने कहा कि पार्टी का हर कार्यकर्ता अमर सिंह है और वो जया प्रदा के लिए काम कर रहा है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

गौरतलब है कि आजम खान ने रामपुर में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उन लोगों ने 17 सालों में उनको (जया प्रदा) को नहीं पहचाना, जबकि उन्होंने केवल 17 दिन में उनकी वास्तविकता को पहचान लिया। उन्होंने कहा, “उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लग गए। मैं तो 17 दिन में ही पहचान गया कि इनके नीचे का जो अंडरवियर है, वो भी खाकी रंग का है।”

आजम खान के इस विवादित बयान पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया और कड़ा कदम उठाते हुए आजम खान पर तीन दिन के लिए चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी। इसके साथ ही आजम खान के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

रामचंद्र गुहा और रवीश कुमार
"अगर कॉन्ग्रेस में शीर्ष नेताओं को कोई अन्य राजनेता उनकी कुर्सी के लिए खतरा लगता है, तो वे उसे दबा देते हैं। कॉन्ग्रेस में बहुत से अच्छे नेता हैं, जिन्हें मैं बहुत अच्छे से जानता हूँ। लेकिन अगर मैंने उनका नाम सार्वजनिक तौर पर लिया तो पार्टी में उन्हें दबा दिया जाएगा।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,129फैंसलाइक करें
35,293फॉलोवर्सफॉलो करें
161,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: