Friday, January 21, 2022
Homeराजनीति'स्त्री की मर्यादा कैसे रखी जाती है, रामायण में वर्णन हैं, स्त्री की मर्यादा...

‘स्त्री की मर्यादा कैसे रखी जाती है, रामायण में वर्णन हैं, स्त्री की मर्यादा के लिए युद्ध उचित है तो होना चाहिए’

रामायण में केवल धर्म और संस्कृति ही नहीं, राजनीति, युद्ध, विज्ञान और प्रशासन भी है। शायद ही कोई ऐसी भाषा होगी, जिसमें रामायण का अनुवाद न किया गया हो।

केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली में 5वें अंतरराष्ट्रीय रामायण महोत्सव में शिरकत करते हुए महाकाव्य रामायण को भारतीय संस्कृति का राजदूत बताया। इस दौरान उन्‍होंने कहा, “रामायण पर घंटो बोला जा सकता है। लेकिन, मैं ये कह सकता हूँ कि हजारों वर्षों के अविरत भारत के सांस्कृतिक धारा प्रवाह की अभिव्यक्ति किसी महाकाव्य के अंदर हुई है, तो वो रामायण है।

‘बहुत सालों से नहीं देखा रामायण मंचन, स्त्री की मर्यादा के लिए युद्ध उचित’

अमित शाह ने कहा, “हमने बहुत साल से रामायण मंचन कार्यक्रम नहीं देखा इसलिए यहाँ ये मंचन देखने आए हैं। रामायण को सभी ने मंच पर मंचित करने का प्रयास किया है। देश की सीमाओं को लाँघते हुए, रामायण पूर्ण महाकाव्य है। इस पूरे महाकाव्य रामायण में महर्षि वाल्मीकि ने राम के सारे जीवन चरित्र का वर्णन किया है। प्रभु श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम थे जिससे उनका पूरा जीवन चरित्र उजागर होता है। रामायण में कई ऐसे काव्य हैं जो ज्ञान-विज्ञान, सुशासन सबका वर्णन करते हैं। स्त्री की मर्यादा कैसे रखी जाती है उसका रामायण में वर्णन है- स्त्री की मर्यादा के लिए युद्ध उचित है तो होना चाहिए।”

उन्होंने साथ में जोड़ा कि शायद ही कोई ऐसी भाषा होगी, जिसमें रामायण का अनुवाद न किया गया हो।

इसके अलावा उन्होंने बताया कि रामायण में केवल धर्म और संस्कृति ही नहीं, राजनीति, युद्ध, विज्ञान और प्रशासन भी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिजाब के लिए लड़कियों का प्रदर्शन राजनीति, शिक्षा का केंद्र मजहबी जगह नहीं’: बुर्के को मौलिक अधिकार बताने पर भड़के कर्नाटक के शिक्षा मंत्री

कर्नाटक के उडुपी के कॉलेज में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राओं को इस्लामिक संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया अपना समर्थन दे रहा है।

‘मेरी पत्नी को मौलानाओं ने मारपीट कर घर से निकाल दिया, जिहादी उसकी हत्या भी कर सकते हैं’: जितेंद्र त्यागी (वसीम रिजवी) ने जेल...

जितेंद्र त्यागी उर्फ वसीम रिजवी ने आरोप लगाया है कि उनके परिवार को तंग किया जा रहा है और कुछ जिहादी उनकी पत्नी की हत्या करना चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,584FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe