Sunday, April 14, 2024
Homeराजनीतिदिल्ली हिंसा पर एक्शन में शाह: बैठक से निकलकर बोले केजरीवाल- जरूरत पड़ी तो...

दिल्ली हिंसा पर एक्शन में शाह: बैठक से निकलकर बोले केजरीवाल- जरूरत पड़ी तो सेना बुलाएँगे

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में रविवार को हिंसा भड़की थी। सोमवार को कई जगहों पर आगजनी और पत्थरबाजी हुई। गोलियॉं भी चली। मंगलवार की सुबह भी मौजपुर और ब्रह्मपुरी में पत्थरबाजी और आगजनी हुई। हिंसा में अब तक 7 लोगों की जान जा चुकी है।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा जारी है। हिंसा में मरने वालों की संख्या सात हो गई है, जिसमें एक पुलिसकर्मी भी शामिल है। हालात को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हाई लेवल मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल, सीएम अरविंद केजरीवाल, दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक, कॉन्ग्रेस नेता सुभाष चोपड़ा, बीजेपी नेता और सांसद मनोज तिवारी और बीजेपी विधायक दल के नेता रामबीर सिंह बिधुड़ी के साथ ही अन्य अधिकारी शामिल हुए।

बैठक समाप्त होने के बाद गृह मंत्रालय की तरफ से बताया गया कि बैठक में नफरत फैलाने वाले मुद्दों, पुलिस-विधायकों के बीच समन्वय, पर्याप्त बल की तैनाती और अफवाहों को नियंत्रित करने पर मुख्य रूप से चर्चा की गई। वहीं केजरीवाल ने शांति बहाल करने के प्रयासों से सहमति जताते हुए कहा कि हर कोई चाहता है कि हिंसा रोकी जाए। बैठक में शांति बहाल करने के उपायों पर चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि इस बैठक में पार्टी पॉलिटिक्स से उठकर बातचीत हुई। गृहमंत्री ने आश्वासन दिया है कि पुलिस की कमी नहीं होने दी जाएगी। शांति व्यवस्था कायम करने की हर कोशिश की जाएगी।

जब केजरीवाल से हालात पर काबू पाने के लिए सेना बुलाने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “अगर इसकी जरूरत पड़ी तो ऐसा होगा। लेकिन अभी पुलिस कार्रवाई कर रही है। बैठक के दौरान हमें गृह मंत्री की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि आवश्यकतानुसार पर्याप्त संख्या में पुलिस कर्मी तैनात किए जाएँगे।”

गौरतलब है नागरिकता संशोधन कानून को लेकर रविवार को हिंसा भड़की थी। सोमवार को कई जगहों पर आगजनी और पत्थरबाजी हुई। गोलियॉं भी चलाई गई। मंगलवार की सुबह भी मौजपुर और ब्रह्मपुरी में पत्थरबाजी और आगजनी हुई।

केंद्रीय गृह मंत्री ने इससे पहले सोमवार (फरवरी 24, 2020) शाम आपात बैठक की थी। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव एके भल्ला सहित दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को सख्त हिदायत दी गई थी कि किसी भी तरह से जल्दी से जल्दी हालात पर काबू पाएँ। पुलिस और अर्धसैनिक बलों को सतर्क रहने को कहा गया था। साथ ही कहा गया था कि अगर जरूरत महसूस हुई तो केंद्र सरकार अन्य कड़े कदम उठाने से भी नहीं चूकेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

TMC सांसद के पति राजदीप सरदेसाई का बेंगलुरु में ‘मोदी-मोदी’ और ‘जय श्री राम’ के नारों से स्वागत: चेहरे का रंग उड़ा, झूठी मुस्कान...

राजदीप को कुछ मसालेदार चाहिए था, ऐसे में वो आम लोगों के बीच पहुँच गए। लेकिन आम लोगों को राजदीप की मौजूदगी शायद अखर सी गई।

जिसने की सरबजीत सिंह की हत्या, उसे ‘अज्ञातों’ ने निपटा दिया: लाहौर में सरफ़राज़ को गोलियों से छलनी किया, गवाहों के मुकरने के कारण...

पाकिस्तान की जेल में भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह की हत्या करने वाले सरफराज को अज्ञात हमलावरों ने लाहौर में गोलियों से भून दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe