Sunday, May 19, 2024
Homeराजनीतिकेजरीवाल के दावे के 7 घंटे के भीतर AAP विधायक BJP में शामिल

केजरीवाल के दावे के 7 घंटे के भीतर AAP विधायक BJP में शामिल

सोशल मीडिया पर केजरीवाल की काफ़ी फ़ज़ीहत हो गई, जिसमें लोगों ने अपने ट्वीट के ज़रिए AAP पार्टी अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल की जमकर खिंचाई की।

आम आदमी पार्टी जो आए दिन विवादों में घिरी रहती है। अभी हाल ही में यह ख़बर  सामने आई थी कि आप पार्टी अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल की पिटाई हुई थी, जिसके बाद वो अब तक शांत थे। लेकिन उन्होंने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए ट्विटर पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उन्होंने ट्वीट किया कि हंस राज हंस आरक्षित सीट से चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य हैं। उन्हें अंत में अयोग्य घोषित किया जाएगा। उन्होंने उत्तर-पश्चिम दिल्ली के मतदाताओं उन्हें वोट ना देने की अपील भी की।

आज सुबह, केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता विजय गोयल ने केजरीवाल पर कटाक्ष करने का फैसला किया और उन्होंने यह दावा किया कि AAP के 14 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं जो भाजपा में शामिल होने के इच्छुक हैं।

दरअसल, विजय गोयल दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के उन आरोपों का जवाब दे रहे थे जिसमें यह कहा गया कि बीजेपी AAP के सात विधायकों को 10 करोड़ रुपए का भुगतान करके उन्हें रिश्वत देने की कोशिश में है। गोयल ने जवाब दिया था कि यह संख्या सात नहीं बल्कि 14 है, जो भाजपा के साथ सम्पर्क बनाए हुए हैं। भाजपा में सामिल होने के इच्छुक ये सभी विधायक केजरीवाल की तानाशाही कार्यशैली से पूरी तरह से ‘नाख़ुश’ थे।

इसके बाद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि बीजेपी ने AAP विधायकों को पहले भी रिश्वत देने की कोशिश की है, लेकिन उनमें से किसी ने भी इसे हाथ नहीं लगाया। AAP वालों को ख़रीदना आसान नहीं।

केजरीवाल के इस ट्वीट से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि उन्हें अपने विधायकों पर बेशुमार गर्व था, जिसे लगभग सात घंटे बाद ही उनके विधायक अनिल वाजपेयी ने तोड़ दिया।

इस मुद्दे पर सोशल मीडिया पर केजरीवाल की काफ़ी फ़ज़ीहत हो गई, जिसमें लोगों ने अपने ट्वीट के ज़रिए AAP पार्टी अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल की जमकर खिंचाई की।

यूज़र्स ने तो यह तक अनुमान लगाया कि कहीं ये 10 विधायक वे तो नहीं, जिन्होंने केजरीवाल के साथ कथित तौर पर मारपीट की थी।

एक अन्य ट्विटर यूज़र ने लिखा कि केजरीवाल जी भाजपा के गूगन सिंह को उत्तर पश्चिम से उम्मीदवार बनाने के लिए आपने खरीदा था क्या। विधान सभा में स्पीकर रामनिवास गोयल, फतेह सिंह, भावना गौड़, नरेश बाल्यान को क्या खरीद कर आपने अपनी पार्टी से लड़वाया था? राजनीति का स्तर मत गिराओ।

इसके अलावा, विजय गोयल ने केजरीवाल पर निशाना साधा और उनसे कहा कि ‘विधायकों’ को ख़रीदने का आरोप लगाकर राजनीतिक प्रवचन देना बंद करें।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत में 1300 आइलैंड्स, नए सिंगापुर बनाने की तरफ बढ़ रहा देश… NDTV से इंटरव्यू में बोले PM मोदी – जमीन से जुड़ कर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आँकड़े गिनाते हुए जिक्र किया कि 2014 के पहले कुछ सौ स्टार्टअप्स थे, आज सवा लाख स्टार्टअप्स हैं, 100 यूनिकॉर्न्स हैं। उन्होंने PLFS के डेटा का जिक्र करते हुए कहा कि बेरोजगारी आधी हो गई है, 6-7 साल में 6 करोड़ नई नौकरियाँ सृजित हुई हैं।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने ही अध्यक्ष के चेहरे पर पोती स्याही, लिख दिया ‘TMC का एजेंट’: अधीर रंजन चौधरी को फटकार लगाने के बाद...

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस का गठबंधन ममता बनर्जी के धुर विरोधी वामदलों से है। केरल में कॉन्ग्रेस पार्टी इन्हीं वामदलों के साथ लड़ रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -