Saturday, July 31, 2021
HomeराजनीतिVideo: आज़म ख़ान ने इशारों में किया जया प्रदा पर 'अंडरवियर' से भी ज्यादा...

Video: आज़म ख़ान ने इशारों में किया जया प्रदा पर ‘अंडरवियर’ से भी ज्यादा अश्लील टिप्पणी

"मैंने *#$खाना नहीं खोल रखा है। मैंने कोई नाचघर नहीं खोल रखा है। मैं यह शब्द जानबूझ कर इस्तेमाल कर रहा हूँ क्योंकि लोगों को पता है कि ये शब्द सीधा कहाँ जाकर लग रहा है?"

सपा सांसद आज़म ख़ान ने एक बार फिर से शर्मनाक बयान दिया है। जयाप्रदा के अंतर्वस्त्रों पर कमेंट कर चुके आज़म ख़ान इस बार एक क़दम और आगे बढ़ गए और अपने भाषण में एक से बढ़ कर एक अश्लील शब्दों का प्रयोग किया। आज़म ख़ान ने एक भाषण के दौरान कहा, “मैंने *#$खाना नहीं खोल रखा है। मैंने कोई नाचघर नहीं खोल रखा है। मैं यह शब्द जानबूझ कर इस्तेमाल कर रहा हूँ क्योंकि लोगों को पता है कि ये शब्द सीधा कहाँ जाकर लग रहा है? जिस समाज में इस लफ्ज को मोहतरम मान लिया जाएगा, वह समाज क्या तरक्की करेगा, क्या सिर उठा कर चलेगा?

विवादित बयानों के शूरमा माने जाने वाले आज़म ख़ान ने संसद को भी नौटंकी बताया। उन्होंने कहा कि वे जैसे ही संसद पहुँचे, उन्हें लगा कि वे किसी नौटंकी में आ गए हैं। उन्होंने संसद में सांसदों की वेशभूषा पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वो लोग एकदम मदारी की तरह लग रहे थे। भाजपा पर निशाना साधते हुए आज़म ख़ान ने आगे कहा:

“आपने देखा कि अंजाम क्या हुआ? कितनी दौलत ख़र्च हुई थी? कितनी ताक़त लगाई गई? वो कहते थे कि आज़म ख़ान जीत गए तो जड़ से नाक निकल जाएगी। अरे, नाक नहीं जाने क्या-क्या निकल गई। सपा सांसद ने आगे कहा कि हमने खुद कहते हुए सुना है कि पूरी भारतीय जनता पार्टी हार जाती, लेकिन आजम खान नहीं जीतता हमें ख़ुशी थी। हम इतने बुरे हैं। सिर्फ इसलिए बुरे हैं कि हम बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं। शरीफों की इज्जत है। वो लोग रास्ते बताएँगे, ऐसे लोग देवी-देवता अपने आप को बनाएँगे। हमारे मरे हुए माँ-बाप 3 दिन तक टेलीविजन पर डिस्कस होंगे।”

अमर सिंह ने रामपुर के सांसद आज़म ख़ान के इस बयान की कड़ी निंदा की है। सिंह ने कहा कि आज़म ख़ान जैसे लोग महिलाओं का सम्मान करना नहीं जानते। जया प्रदा पर आज़म ख़ान द्वारा बार-बार विवादित और अश्लील टिप्प्णी किए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए अमर सिंह ने याद दिलाया कि जया बच्चन भी उन्हीं की पार्टी की नेता हैं और वे कई फ़िल्मों में काम कर चुकी हैं। आज़म ख़ान को चुनाव प्रचार के दौरान विवादित बयानों के कारण प्रतिबंधित भी किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,090FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe