Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीति'मायावती हो गई हैं मनुवादी, फैला रही हैं ब्राह्मणवाद': भीम आर्मी नेता चंद्रशेखर

‘मायावती हो गई हैं मनुवादी, फैला रही हैं ब्राह्मणवाद’: भीम आर्मी नेता चंद्रशेखर

चंद्रशेखर ने कहा कि बहुजन विरोधी मनुवादी सवर्णों को टिकट दिया जा रहा है और दूसरी तरफ मिशनरी कार्यकर्ताओं को एजेंट बनाया जा रहा है।

भीम आर्मी चीफ़ चंद्रशेखर ने बसपा सुप्रीमो मायावती से पूछा है कि जिन सवर्णों को टिकट दिया गया है उनका बहुजन के उत्थान में क्या योगदान रहा है? इसके अलावा मायावती को घेरते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि बहुजन विरोधी मनुवादी सवर्णों को टिकट दिया जा रहा है और दूसरी तरफ मिशनरी कार्यकर्ताओं को एजेंट बताया जा रहा है।

ट्विटर के माध्यम से चंद्रशेखर ने मायावती को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मायावती को सतीश चंद्र मिश्रा गुमराह कर रहे हैं, उन्होंने एक-एक करके कांशीराम की टीम के सहयोगियों को बाहर करवा दिया है। विरोधों के बावजूद ब्राह्मणवादी और संविधान विरोधी लोगों को टिकट देकर संसद भेजने कोशिश की जा रही है।

चंद्रशेखर ने ट्विटर पर वसीम अकरम त्यागी के उस ट्वीट को भी रीट्वीट किया जिसमें त्यागी ने मायावती पर मनुवादी होने का आरोप लगाया। अपने ट्वीट में त्यागी ने लिखा था कि गुजरात दंगों के बाद गुजरात जाकर मोदी का प्रचार करने वाली बहन जी सहारनपुर में दलितों के अत्याचार के ख़िलाफ़ जेल काटने वाले भीम आर्मी चीफ़ को भाजपा का एजेंट बता रही हैं, इससे शर्मनाक और क्या हो सकता है? बहन जी मनुवादियो से घिरी रहती हैं इसलिए ख़ुद मनुवादी बन बैठीं हैं।

मायावती ने चंद्रशेखर द्वारा वाराणसी से चुनाव लड़ने को लेकर भाजपा की साज़िश बताया और ट्वीट किया था कि भाजपा दलित वोट काटने की मंशा से चंद्रशेखर को वाराणसी से चुनाव लड़वा रही है। इसे मायावती ने भाजपा का षडयंत्र करार दिया था और कहा था कि भीम आर्मी का निर्माण भी भाजपा की चाल है जिससे दलित विरोधी मानसिकता की राजनीति की जा सके।

अपने एक अन्य ट्वीट में मायावती ने लिखा था कि चंद्रशेखर को बसपा में भेजने के पीछे भाजपा द्वारा जासूसी करने की मंशा थी, जो विफल हो गई है।


 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe