Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीतिजो अपनी बेटी तक को नहीं छोड़ता हो उसी का नाम है लालू प्रसाद:...

जो अपनी बेटी तक को नहीं छोड़ता हो उसी का नाम है लालू प्रसाद: बिहार के डिप्टी CM ने बताया RJD चीफ का ‘परिचय’, कहा- किडनी लिया, टिकट दिया

सम्राट चौधरी ने यह बात लोकसभा चुनावो के सम्बन्ध में कही। उनका इशारा लालू यादव और उनकी बेटी रोहिणी आचार्य की तरफ था। रोहिणी आचार्य ने लालू प्रसाद यादव को किडनी दान की थी। लालू प्रसाद यादव का किडनी ट्रांसप्लांट ऑपरेशन सिंगापुर में दिसम्बर 2022 में हुआ था।

बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने राजद नेता लालू प्रसाद यादव पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने लालू प्रसाद यादव पर पैसे लेकर टिकट बेचने का आरोप लगाया है। उन्होंने लालू प्रसाद यादव पर अपनी बेटी तक को ना छोड़ने का आरोप लगाया है।

सम्राट चौधरी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “ऐसे नेता हैं, जो टिकट बेचने में माहिर खिलाड़ी हैं। लालू जी ने अपनी बेटी तक को नहीं छोड़ा, पहली किडनी ली फिर टिकट दिया। यही है लालू यादव जी का परिचय। जो व्यक्ति अपनी बेटी तक को नहीं छोड़ता हो, उसका नाम है लालू यादव।”

सम्राट चौधरी ने यह बात लोकसभा चुनावो के सम्बन्ध में कही। उनका इशारा लालू यादव और उनकी बेटी रोहिणी आचार्य की तरफ था। रोहिणी आचार्य ने अपने पिता लालू प्रसाद यादव को किडनी दान की थी। लालू प्रसाद यादव का किडनी ट्रांसप्लांट ऑपरेशन सिंगापुर में दिसम्बर 2022 में हुआ था।

रोहिणी आचार्य के बिहार के सारण लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के कयास लगाए जा रहे हैं। हालाँकि, अभी उनकी उम्मीदवारी स्पष्ट नहीं है पर वह बीते कुछ समय से सोशल मीडिया पर सक्रिय दिख रही हैं। रोहिणी पटना में हुई महागठबंधन की एक रैली में भी दिखी थीं। इस रैली में राहुल गाँधी भी थे।

यदि रोहिणी चुनाव लड़ती हैं तो वह लालू के परिवार से सक्रिय राजनीती में उतरने वाली छठी शख्स होंगी। लालू प्रसाद यादव के अतिरिक्त रोहिणी की माँ राबड़ी देवी, भाई तेजप्रताप और तेजस्वी तथा बड़ी बहन मीसा भारती सांसद-विधायक रहे चुके हैं।

सारण सीट से रोहिणी के लड़ने की चर्चा इसलिए भी है क्योंकि इस सीट पर लालू प्रसाद यादव भी सांसद रह चुके हैं। सारण लोकसभा सीट पहले छपरा लोकसभा थी। यह 2009 में परिसीमन के बाद सारण लोकसभा बनाई गई थी। छपरा से लालू प्रसाद यादव 3 बार सांसद रहे हैं। सारण लोकसभा से 2009 में लालू प्रसाद यादव भी सांसद बने थे।

हालाँकि, यह सीट 2014 के बाद से भाजपा के पास है। भाजपा के राजीव प्रताप रूडी इस सीट से लगातार दो बार से सांसद हैं। पिछले दो चुनावों में भाजपा का यहाँ वोट प्रतिशत भी बढ़ा है। ऐसे में यदि रोहिणी आचार्य को टिकट मिलता है तो उनके लिए यहाँ से रास्ता आसान नहीं होगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -