Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीति'जिस अलीपुर जेल को नीले-सफेद रंग से पुतवाया, वही TMC नेताओं का होगा ऑफिस'

‘जिस अलीपुर जेल को नीले-सफेद रंग से पुतवाया, वही TMC नेताओं का होगा ऑफिस’

“दीदी ने इकलौता अच्छा काम यही किया है, जो अलीपुर केंद्रीय जेल को नीले और सफ़ेद रंग से पुतवा दिया है क्योंकि कुछ समय बाद उनके सभी कार्यकर्ताओं को वहीं रहना है। 2021 के बाद वह तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं का कार्यालय बन जाएगा।”

पश्चिम बंगाल में इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों के पहले प्रदेश में सियासी पारा काफी गर्म है। राजनीतिक दलों के नेताओं का एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप जारी है। इसी क्रम में भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने तृणमूल कॉन्ग्रेस पर हमला बोला है। उन्होंने भाषण देते हुए कहा कि 2021 के बाद अलीपुर केंद्रीय जेल (Alipore Central Jail) टीएमसी कार्यकर्ताओं का कार्यालय होगा। टीएमसी के सभी नेता वहीं रहेंगे। 

शनिवार (2 जनवरी 2021) को पुरबा मेदनीपुर में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए भाजपा नेता ने बंगाल सरकार की जम कर आलोचना की। उन्होंने टीएमसी छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए नेताओं से परिवार की तरह साथ काम करने का निवेदन किया। आने वाले समय में प्रदेश के सत्ताधारी के सामने पैदा होने वाली चुनौतियों के लिए आगाह भी किया। 

बाबुल सुप्रियो ने भाषण के दौरान कहा, “तृणमूल कॉन्ग्रेस एक बुरी कंपनी है। एक तूफ़ान आ रहा है, जो टीएमसी को पूरी तरह तबाह कर देगा। टीएमसी का साथ छोड़ कर हमारे साथ आए तमाम नेताओं से मेरा अनुरोध है कि वह एक परिवार की तरह मिल कर मेहनत करें। सिर्फ उससे ही हमारी पार्टी को प्रदेश में मजबूती मिल सकती है।” 

इसके बाद ममता बनर्जी की प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए भाजपा सांसद ने कहा, “दीदी ने इकलौता अच्छा काम यही किया है, जो अलीपुर केंद्रीय जेल को नीले और सफ़ेद रंग से पुतवा दिया है क्योंकि कुछ समय बाद उनके सभी कार्यकर्ताओं को वहीं रहना है। 2021 के बाद वह तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं का कार्यालय बन जाएगा।”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जनवरी के अंतिम हफ्ते में (29-30 जनवरी) पश्चिम बंगाल का दौरा कर सकते हैं। यह दौरा प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों को मद्देनज़र रखते हुए तय किया गया है। 9 जनवरी को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बीरभूम जिले का दौरा करेंगे। इस दौरान वह प्रदेश के भीतर संगठन के शीर्ष नेतृत्व से मुलाक़ात करेंगे और रोड शो में भी शामिल होंगे।           

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe