जल या जलेबी: बोले गंभीर- मेरे जलेबी खाने से प्रदूषण बढ़ा है, तो मैं हमेशा के लिए खाना छोड़ दूँगा

"मुझे पता है कि प्रदूषण पर बैठक बहुत अहम थी। लेकिन मैं अनुबंध से बंधा था। मैंने यह कॉन्ट्रैक्ट जनवरी में साइन किया था, जबकि राजनीति से अप्रैल में जुड़ा। उस अनुबंध के तहत ही मुझे कमेंट्री के लिए जाना पड़ा।"

क्रिकेटर से नेता बने भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने आज दिल्ली मुख्यमंत्री केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने बीते दिनों खुद को ट्रोल किए जाने वाली बात को आधार बनाकर कहा, “अगर मेरे जलेबी खाने से दिल्ली का प्रदूषण बढ़ रहा है तो मैं हमेशा के लिए जलेबी छोड़ सकता हूँ। 10 मिनट में मुझे ट्रोल करना शुरू कर दिया गया, अगर इतनी मेहनत दिल्ली के प्रदूषण को कम करने में की होती तो हम साँस ले पाते।”

गौतम गंभीर ने इस दौरान केजरीवाल से ये भी सवाल पूछा कि उन्होंने पिछले पाँच सालों में क्या किया? उन्होंने आप सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, “आपने पाँच वर्षों में केवल विज्ञापन दिया है। हमने विज्ञापन नहीं दिया, बल्कि काम किया है। आपके और हमारे बीच में यही फर्क है।”

गंभीर ने दिल्ली वासियों को मिल रहे गंदे पानी का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा, “सीएम केजरीवाल ने दिल्ली को मुफ्त पानी दिया, लेकिन वो भी जहरीला। उन्होंने किया क्या है? जबकि वे जलबोर्ड के अध्यक्ष हैं।” बता दें इस मुद्दे पर गौतम गंभीर ने ट्वीट भी किया है। जहाँ उन्होंने इंदौर मामले और प्रदूषित जल के मामले को, ‘जल या जलेबी’ लिखकर उठाया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके अलावा बता दें, गौतम गंभीर ने मीडिया से बात करते हुए प्रदूषण से जुड़ी अहम बैठक में न पहुँचने का भी कारण बताया। जिसके कारण वे पिछले दिनों खूब ट्रोल हुए थे। उन्होंने कहा कि वे प्रदूषण मुद्दे पर आयोजित बैठक में न शामिल होकर इंदौर टेस्ट में कमेंट्री करने इसलिए पहुँचे थे, क्योंकि वे एक अनुबंध से बंधे थे।

उन्होने कहा,“मुझे पता है कि प्रदूषण पर बैठक बहुत अहम थी। लेकिन मैं अनुबंध से बंधा था। मैंने यह कॉन्ट्रैक्ट जनवरी में साइन किया था, जबकि राजनीति से अप्रैल में जुड़ा। उस अनुबंध के तहत ही मुझे कमेंट्री के लिए जाना पड़ा। 11 नवंबर को जिस दिन बैठक होनी थी मुझे इसके बारे में मेल मिला था। मैंने तभी उन्हें इस बारे में जानकारी दे दी थी कि मैं क्यों इस बैठक में शामिल नहीं हो पा रहा हूँ।”

दरअसल, बीते दिनों दिल्ली में बढ़े प्रदूषण को लेकर संसदीय समिति की बैठक होनी थी। बैठक में भाग लेने समिति के 29 सदस्यों में से केवल 4 सांसद ही पहुँचे थे। सांसदों की संख्या कम होने के कारण बैठक रद्द करनी पड़ी, लेकिन इसके बाद गंभीर की इंदौर में पोहा-जलेबी खाते हुए तस्वीर वायरल हो गई। जिसके बाद आप ने गौतम गंभीर को इस तस्वीर को लेकर घेरना शुरू कर दिया।

गंभीर की वीवीएस लक्ष्मण के साथ तस्वीर शेयर कर आम आदमी पार्टी ने लिखा था कि दिल्ली वायु प्रदूषण से परेशान है और गौतम गंभीर इंदौर में मस्ती कर रहे हैं। सांसदों को दिल्ली आना चाहिए था, लेकिन किसी के नहीं आने पर बैठक रद्द करनी पड़ी। बता दें आम आदमी पार्टी की ओर से ये ट्वीट देखकर भाजपा सांसद ने भी जवाब दिया था कि अगर उन्हें गाली देने से दिल्ली का प्रदूषण कम होगा तो वे उन्हें जी भर के गालियाँ दे सकते हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

रामचंद्र गुहा और रवीश कुमार
"अगर कॉन्ग्रेस में शीर्ष नेताओं को कोई अन्य राजनेता उनकी कुर्सी के लिए खतरा लगता है, तो वे उसे दबा देते हैं। कॉन्ग्रेस में बहुत से अच्छे नेता हैं, जिन्हें मैं बहुत अच्छे से जानता हूँ। लेकिन अगर मैंने उनका नाम सार्वजनिक तौर पर लिया तो पार्टी में उन्हें दबा दिया जाएगा।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,129फैंसलाइक करें
35,293फॉलोवर्सफॉलो करें
161,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: