Tuesday, September 28, 2021
Homeराजनीति'बाबर शिल्पकार लेकर नहीं आया था भारत... मुस्लिम शिल्पकार भी भगवान विश्वकर्मा के...

‘बाबर शिल्पकार लेकर नहीं आया था भारत… मुस्लिम शिल्पकार भी भगवान विश्वकर्मा के वंशज’: बीजेपी सांसद रामचंद्र जांगड़ा

"ईरान, ईराक और यूएई में घास तक पैदा नहीं होती है, वहाँ शिल्पकला कैसे पैदा हो सकती है।"

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में भाजपा के राज्यसभा सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने कहा कि हर शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा का वंशज है। यहाँ तक कि मुस्लिम शिल्पकार भी भगवान विश्वकर्मा के ही वंशज हैं। उन्होंने कहा कि बाबर अपने साथ शिल्पकार लेकर नहीं आया था। ईरान, ईराक और यूएई में तो केवल रेत ही है तो वहाँ कला मौजूद भी नहीं हो सकती।

हरियाणा पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष रहे जांगड़ा मुजफ्फरनगर जिले के रामपुरी स्थित विश्वकर्मा मंदिर में आय़ोजित एक सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। राज्यसभा सांसद ने कहा, “ईरान, ईराक और यूएई में घास तक पैदा नहीं होती है, वहाँ शिल्पकला कैसे पैदा हो सकती है। पहाड़ वहाँ हैं ही नहीं कि पत्थर के शिल्पकार पैदा हो। वहाँ लोहा, तांबा, चाँदी जैसे खनिज भी नहीं हैं। वहाँ तो गहराई में जाओ तो तेल निकलता है और उससे तो कोई शिल्प नहीं बनता। इसलिए सारे मुस्लिम शिल्पकार भी भगवान विश्वकर्मा की संतान हैं।”

बीजेपी नेता ने कहा, “जहाँ श्रम, मेहनत को सम्मान नहीं मिलता और पुरुषार्थ को सम्मान नहीं मिलता तो आदमी उस घर को छोड़ देता है। ऐसे केवल इस्लामी शिल्पकारों ने ही नहीं बल्कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने भी किया था, क्योंकि जो सम्मान उन्हें समाज से मिलना चाहिए था वो उन्हें नहीं मिला।”

कार्यक्रम के दौरान बीजेपी सांसद ने विश्वकर्मा समाज से एकजुट होकर अपनी राजनीतिक ताकत बढ़ाने की अपील की और कहा कि श्रमिकों के सम्मान से ही आत्मनिर्भर भारत बनेगा। उन्होंने राष्ट्र के निर्माण में विश्वकर्मा समुदाय की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया औऱ कहा कि शिल्पकला और तकनीकी कौशल भगवान विश्वकर्मा की देन है।

भाषण के दौरान भाजपा सांसद ने भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस के मौके पर दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाले विश्वकर्मा महासम्मेलन में पहुँचने की अपील भी की। उन्होंने बताया कि उस दौरान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी शिल्पियों से सीधा संवाद करेंगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,829FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe