Friday, September 17, 2021
HomeराजनीतिCM केजरीवाल ने दीवाली से पहले पटाखों के इस्तेमाल व बिक्री पर लगाया बैन:...

CM केजरीवाल ने दीवाली से पहले पटाखों के इस्तेमाल व बिक्री पर लगाया बैन: उल्लंघन पर ₹1 लाख तक का जुर्माना

"दिल्ली में प्रदूषण की समस्या को लेकर केजरीवाल जी अगर आप कुछ ठोस कदम उठाते तो आज ये पटाखे बैन करने की नौबत नहीं आती। ग्रीन पटाखों को बैन कर 1 लाख रुपए का जुर्माना लगाकर मुख्यमंत्री जी आपने गलत किया है और धार्मिक भावनाओं को आहत करने का काम किया है।"

दिल्ली में दीवाली से पहले केजरीवाल सरकार ने पटाखों को लेकर दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। दिल्ली सरकार में पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने शुक्रवार (नवंबर 6, 2020) को इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि पटाखे जलाने और पटाखे बेचने वालों पर ₹1 लाख तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री का यह बयान दिल्ली सीएम की उस घोषणा के एक दिन बाद आया है जिसमें सीएम केजरीवाल ने ग्रीन क्रैकर समेत किसी भी प्रकार के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया था। 

इसी घोषणा के बाद गोपाल राय ने कहा कि पटाखे बेचने या फोड़ने वाले लोगों पर वायु प्रदूषण (नियंत्रण) अधिनियम (1981) के तहत 1 लाख रुपए तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। गोपाल राय ने बताया कि आरोपित के खिलाफ एयर एक्ट के तहत केस बनाया जाएगा, जिसमें 1 लाख रुपए तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। 

आगे उन्होंने सोमवार (नवंबर 9, 2020) को होने वाली एक बैठक के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वह पर्यावरण विभाग, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) और दिल्ली पुलिस के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा करेंगे ताकि प्रतिबंध को लागू करने के लिए एक विस्तृत कार्य योजना तैयार की जा सके।

उनका कहना है कि वैसे तो दिल्ली में प्रदूषण के स्रोत साल भर लगातार बने रहते हैं लेकिन दीवाली में पटाखे फोड़ने और पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने से दिल्ली का प्रदूषण बढ़ जाता है। आगे उन्होंने कोरोना के बढ़ते मामलों का भी हवाला दिया और कहा कि लोगों की जान बचाने के लिए यह कदम जरूरी है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने गुरुवार को पटाखों पर प्रतिबंध को लेकर घोषणा की थी कि दिल्ली में 7 नवंबर से 30 नवंबर तक पटाखे आदि बैन रहेंगे। इसके बाद कई लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दी। पटाखा कारोबारियों ने भी इस पर अपना गुस्सा जाहिर किया।

एएनआई समाचार एजेंसी के अनुसार, दिल्ली के एक पटाखा विक्रेता ने इस प्रतिबंध पर कहा, “दिल्ली सरकार को पटाखों पर बैन लगाना ही था तो पहले बता देती और हमें लाइसेंस जारी न करती। हम कोई और काम कर लेते। हमने जो माल उठा रखा है जो बुकिंग कर रखी है वो तो वेस्ट हो गई। हमें कम से कम 15 लाख का नुकसान हो रहा है।”

वहीं भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने भी केजरीवाल सरकार के इस फैसले पर बयान दिया है। उन्होंने कहा, “दिल्ली में प्रदूषण की समस्या को लेकर केजरीवाल जी अगर आप कुछ ठोस कदम उठाते तो आज ये पटाखे बैन करने की नौबत नहीं आती। ग्रीन पटाखों को बैन कर 1 लाख रुपए का जुर्माना लगाकर मुख्यमंत्री जी आपने गलत किया है और धार्मिक भावनाओं को आहत करने का काम किया है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,922FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe