Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिफैजान को पीटने, धमकाने पर AAP विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ चार्जशीट दायर

फैजान को पीटने, धमकाने पर AAP विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ चार्जशीट दायर

जाँच के दौरान पुलिस को सबूत के तौर पर शादी में फैजान के साथ मारपीट के चश्मदीद गवाह और कुछ वीडियो फुटेज मिले हैं। फैजान के अनुसार अमानतुल्लाह खान और उनके सहयोगियों ने विवाह भवन से बाहर निकलने के रास्ते को बंंद कर मारपीट की थी।

दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार  (सितंबर 13, 2019) को आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ मारपीट के एक मामले में चार्जशीट दायर की है। मामला 2018 का है। एसएम फैजान ने 10 अक्टूबर 2018 को दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

बता दें कि फैजान ने इससे पहले भी खान के खिलाफ दिल्ली के जामिया पुलिस स्टेशन में एक एफआईआर दर्ज करवा रखी थी। इसके मुताबिक खान ने फैजान की गाड़ी को टक्कर मार दी थी और जब उसने इसका विरोध किया तो बंदूक दिखाकर उसके साथ मारपीट की और धमकी दी। इसके बाद से ही अमानतुल्लाह केस वापस लेने के लिए उसे लगातार धमका रहे थे।

अमानतुल्लाह ने फैजान के साथ दूसरी बार तब मारपीट की थी, जब वह काका नगर में अपने एक दोस्त की बहन की शादी में गया था। AAP विधायक ने फैजान को पिछला मुकदमा वापस लेने के लिए धमकाया। जाँच के दौरान पुलिस को सबूत के तौर पर शादी में फैजान के साथ हुई मारपीट के चश्मदीद गवाह और कुछ वीडियो फुटेज मिले हैं। फैजान ने बताया कि शादी समारोह के दौरान अमानतुल्लाह खान और उनके सहयोगियों ने विवाह भवन से बाहर जाने के रास्ते को बंंद कर दिया और फिर पिछली घटना को लेकर एफआईआर दर्ज कराने के लिए उसके साथ मारपीट की थी। 

AAP विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। पिछले साल दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ सीएम के आवास पर हुई मारपीट में भी कथित तौर पर शामिल थे।

इसके अलावा, भ्रष्टाचार, दिल्ली वक्फ बोर्ड में अनियमितता, धमकी और यौन उत्पीड़न के मामले में AAP विधायक के खिलाफ आरोपों की एक लंबी सूची है। पिछले साल, वह सिग्नेचर ब्रिज के एक कार्यक्रम में दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ धक्का-मुक्की करते हुए भी पकड़े गए थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe