Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजमहागठबंधन का कोई भविष्य नहीं: नीतीश कुमार

महागठबंधन का कोई भविष्य नहीं: नीतीश कुमार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया है कि 2019 लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत तय है। इसके साथ ही सीएम नीतीश ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी दोबारा देश के प्रधानमंत्री बनेंगे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज पटना में लोकसंवाद की बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए महागठबंधन के प्रश्न पर कहा, “उनका कोई भविष्य नहीं है। हमारे सामने उनकी कोई चुनौती नहीं है।” मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दावा किया है कि 2019 लोकसभा चुनाव में एनडीए की जीत तय है। इसके साथ ही सीएम नीतीश ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी दोबारा देश के प्रधानमंत्री बनेंगे, हालांकि यह उनका व्यक्तिगत मत है और जनता ही मालिक है, अंतिम फैसला उसे ही करना है।

अपने वक्तव्य में सीएम ने कहा, “बिहार में सद्भावना का माहौल है, किसी भी राज्य से यहाँ ज्यादा शांति और अमन-चैन है। हमने 13 वर्षों में कभी कोई दंगा नहीं होने दिया। यहाँ गलती करनेवालों पर कार्रवाई की जाती है। किसी को बख़्शा नहीं जाता।”

मीडिया को संबोधित करते हुए तीन तलाक और राममंदिर मुद्दे पर भी नितीश कुमार ने अपनी बात जनता के सामने रखी। उन्होने कहा, “इन मामलों में शुरू से ही हमारा एजेंडा क्लियर रहा है। ये मुद्दे धर्मविशेष से जुड़े हैं और इसीलिए इन मुद्दों पर आपसी सहमति और कोर्ट के फ़ैसले का इंतज़ार करना चाहिए। जहाँ तक तीन तलाक़ का मुद्दा है, ये किसी खास धर्म को मानने वाले लोगों की समस्या से जुड़ा है और इस पर बिना लोगों की सहमति के किसी तरह का कानून बनाना सही नहीं।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ब्रह्मांड के केंद्र’ में भारत माता की समृद्धि के लिए RSS प्रमुख मोहन भागवत ने की प्रार्थना, मेघालय के इसी जगह पर है ‘स्वर्णिम...

सेंग खासी एक सामाजिक-सांस्कृतिक और धार्मिक संगठन है जिसका गठन 23 नवंबर, 1899 को 16 युवकों ने खासी संस्कृति व परंपरा के संरक्षण हेतु किया था।

अब पलटा लेस्टर हिंसा के लिए हिन्दुओं को जिम्मेदार ठहराने वाला BBC, फिर भी जारी रखी मुस्लिम भीड़ को बचाने की कोशिश: नहीं ला...

बीबीसी ने अपनी पिछली रिपोर्टों के लिए कोई माफी नहीं माँगी है, जिसमें उसने हिंदुओं पर झूठा आरोप लगाया था कि हिंसा के लिए वे जिम्मेदार हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,688FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe