Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीति'ईद का दिन, लेकिन कहीं सड़क पर नमाज नहीं हुआ': CM योगी का साफ़...

‘ईद का दिन, लेकिन कहीं सड़क पर नमाज नहीं हुआ’: CM योगी का साफ़ सन्देश – यहाँ कानून सबके लिए बराबर

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, "वर्ष 2017 में जब मैंने राज्य की कमान संभाली थी तो उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, उच्चतर शिक्षा चयन आयोग और माध्यमिक शिक्षा चयन आयोग से जुड़ी परीक्षाओं में शिकायतों की ढेर लगी हुई थी।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि ईद मनाई जा रही है, नमाज पढ़े जा रहे हैं लेकिन कहीं भी सड़क जाम नहीं किया गया। ईद की नमाज सड़कों पर नहीं मस्जिद में पढ़ी जा रही है क्योंकि सबको मालूम है कि यहाँ कानून का राज है। अब प्रदेश में दंगे नहीं होते। यूपी की कानून व्यवस्था दूसरे राज्यों के लिए उदाहरण बन गई है।

सीएम योगी राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्षों के दो दिवसीय सम्मेलन का उद्घाटन करने पहुँचे थे। सम्मेलन लखनऊ के सिग्नेचर बिल्डिंग में आयोजित किया गया है। इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि पहले राज्य में राजनीतिक संक्रमण था। जिसकी वजह से राज्य को माफियाओं ने जकड़ रखा था। पहले राज्य लोक सेवा व चयन आयोग की भर्ती नहीं हो पाती थी। भाई भतीजा वाद व जाति वाद हावी था।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, “वर्ष 2017 में जब मैंने राज्य की कमान संभाली थी तो उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, उच्चतर शिक्षा चयन आयोग और माध्यमिक शिक्षा चयन आयोग से जुड़ी परीक्षाओं में शिकायतों की ढेर लगी हुई थी। भर्ती की कई प्रक्रियाओं में न्यायालय का स्टे लगा हुआ था। मैंने अधिकारियों से भर्ती प्रक्रिया में जरूरी सुधार और पारदर्शीता लाने के लिए कहा। अब राज्य में पारदर्शी तरीके से भर्ती होती है।”

मुख्यमंत्री योगी ने अपने संबोधन के दौरान राज्य के कानून व्यवस्था पर भी बात की। उन्होंने कहा पहले उपद्रव होते थे अब उत्सव होते हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा, “आज ईद है, ईद की नमाज पढ़ी जा रही है लेकिन कहीं भी सड़क पर नमाज नहीं हो रही। कोई आवागमन बंद नहीं है क्योंकि सभी को मालूम है कि यहाँ कानून का राज है और ये सब के लिए समान है।” सीएम योगी ने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार का ही नतीजा है कि दुनिया भर के निवेशक यूपी में निवेश के लिए आकर्षित हो रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -