Thursday, April 25, 2024
Homeराजनीतिगरीब परिवारों को 66257 गायें, 1071 कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को, 900 रुपए प्रतिमाह...

गरीब परिवारों को 66257 गायें, 1071 कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को, 900 रुपए प्रतिमाह भी: UP की सहभागिता योजना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान 11 गरीब परिवारों को गायें दान में दी। इन सभी गरीब परिवारों में कुपोषित बच्चे थे, जिनके भरण-पोषण और खान-पान के लिए सीएम योगी ने गायें दान में दी। गोपाष्टमी के मौके पर उन्होंने...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार (नवंबर 22, 2020) को मिर्जापुर के दौरे पर थे और उन्होंने इस दौरान 11 गरीब परिवारों को गायें दान में दी। इन सभी गरीब परिवारों में कुपोषित बच्चे थे, जिनके भरण-पोषण और खान-पान के लिए सीएम योगी ने गायें दान में दी। गोपाष्टमी के मौके पर उन्होंने एक गोशाला में पूजा भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में फ़िलहाल विभिन्न गोशाला में 5 लाख गायें हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि इनमें से 65,000 से अधिक गाय पहले ही राज्य के कई गरीब परिवारों को दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि गोपाष्टमी को हमें गायों की सेवा के प्रति हमारी जिम्मेदारियों को याद करने के मौके के रूप में लेना चाहिए। एक अधिकारी ने बताया कि गरीबों को गाय देने से दो उद्देश्य पूरे होंगे – पहला, गायों के संरक्षण का काम होगा और दूसरा, कुपोषित बच्चों का खान-पान ठीक हो जाएगा। बच्चों का स्वास्थ्य ठीक होगा।

‘सहभागिता योजना’ के तहत उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार गाय की देखरेख करने वाले परिवारों को 900 रुपए प्रतिमाह की सहायता राशि देती है। अब तक इस योजना के तहत 66,257 गायें दान की जा चुकी हैं, जिनमें से 1071 गायें उन 1069 गरीब परिवारों को दी गईं, जिनमें कुपोषित बच्चे थे। मुख्यमंत्री ने मिर्जापुर में कहा कि ये अभियान समाज और राष्ट्र को के भविष्य को उज्जवल बनाने की प्रक्रिया का हिस्सा है।

उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत सभी बेसहारा गायों को सरकारी गोशालों में लाया जा रहा है और अगर कोई भी किसान उनकी देखभाल के लिए उन्हें ले रहा है तो उसे 900 रुपए प्रतिमाह की सहायता राशि भी दी जा रही है। साथ ही हर महीने इस सिस्टम की समीक्षा भी की जाएगी। उन्होंने कई योजनाओं को जनता तक पहुँचाने के लिए महिलाओं और महिला स्वयंसेवी संस्थाओं की भी सराहना की। सीएम ने कहा कि समाज में सकारात्मक बदलाव के लिए महिला सशक्तिकरण आवश्यक है।

मुख्यमंत्री ने मिर्जापुर के साथ-साथ सोनभद्र का भी दौरा किया। उन्होंने गोशाला में ही आयोजित कार्यक्रमों में स्वयंसेवी संस्थाओं की महिलाओं को चेक वितरण किया। उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी न होने पर लोग इनका लाभ नहीं ले पाते। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री राजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि हम अपनी पुरानी सभ्यता की ओर लौट रहे हैं और हमारे पूर्वज गाय को माता मान कर पूजते आए हैं और आज फिर इसी का आवश्यकता है। 

इसी तरह मध्य प्रदेश में भी गौ कैबिनेट का गठन हुआ। भाजपा ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था के विकल्प के रूप में गौ पालन के पीछे का कारण बताते हुए कहा कि ये एक ऐसा विकल्प है जो टिकाऊ है, क्योंकि पिछले 2000 वर्षों से भी अधिक समय से ऐसा होता आ रहा है। नई गाय आधारित अर्थव्यवस्था के जरिए मध्य प्रदेश की सरकार एक टिकाऊ इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करेगी, जिसके लिए गौ कैबिनेट का गठन किया गया है। साथ ही ग्रामीण सेटअप की आमदनी बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माली और नाई के बेटे जीत रहे पदक, दिहाड़ी मजदूर की बेटी कर रही ओलम्पिक की तैयारी: गोल्ड मेडल जीतने वाले UP के बच्चों...

10 साल से छोटी एक गोल्ड-मेडलिस्ट बच्ची के पिता परचून की दुकान चलाते हैं। वहीं एक अन्य जिम्नास्ट बच्ची के पिता प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं।

कॉन्ग्रेसी दानिश अली ने बुलाए AAP , सपा, कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता… सबकी आपसे में हो गई फैटम-फैट: लोग बोले- ये चलाएँगे सरकार!

इंडी गठबंधन द्वारा उतारे गए प्रत्याशी दानिश अली की जनसभा में कॉन्ग्रेस और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe