Wednesday, November 30, 2022
Homeराजनीतिअफगानिस्तान के काबुल नदी के पानी से CM योगी ने किया जलाभिषेक, अयोध्या में...

अफगानिस्तान के काबुल नदी के पानी से CM योगी ने किया जलाभिषेक, अयोध्या में 7.51 लाख दीपकों से फिर टूटेगा रिकॉर्ड

अयोध्या में दीपदान के लिए 12000 वॉलेंटियर अपनी सेवाएँ देंगे। इन सभी ने इसे सेवा बताते हुए स्वैछिक योगदान के रूप में इसे करने का फैसला किया है। पूरे अयोध्या के मठ-मंदिरों को सजाया जा रहा है।

एक बार फिर से अयोध्या दीपावली के पर्व पर जगमगाने के लिए तैयार है। योगी आदित्यनाथ की सरकार में हर साल अपने पिछली वर्ष जले दीपों का रिकॉर्ड अयोध्या में टूटता रहा है। इस बार भी धर्मनगरी अयोध्या 7 लाख 51 हजार दीपकों से जगमग होगी। यह दीपक सरयू नदी के 32 घाटों पर जलाए जाएँगे। पिछले वर्ष यह संख्या साढ़े पाँच लाख थी।

उत्तर प्रदेश सरकार के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग मंत्री सुरेश खन्ना ने इस आशय के साथ एक ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में उन्होंने अयोध्या के विभिन्न हिस्सों की तस्वीरों को लगाया है। इसी के साथ उन्होंने लिखा है, “दीपोत्सव के लिए तैयार है अयोध्या।”

इन सभी तैयारियों का जायज़ा लेने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज 31 अक्टूबर 2021 (रविवार) को अयोध्या में हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि परिसर में चल रहे राम मंदिर निर्माण स्थल पहुँचे। उन्होंने अफगानिस्तान की एक लड़की द्वारा भेजे गए काबुल नदी के पानी से श्रीराम जन्मभूमि का जलाभिषेक किया। उन्होंने इसे अफगानिस्तान की लड़की की भावना करार दिया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जल भेजने वाली लड़की ने इस जल से रामलला का अभिषेक करने का आग्रह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से किया था।

अपने अयोध्या दौरे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामायण कॉन्क्लेव को भी सम्बोधित किया। उन्होंने लिखा है, “कोटि-कोटि जन की आस्था के प्रतीक मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम की पावन जन्मभूमि श्री अयोध्या जी में ‘रामायण कॉन्क्लेव’ के समापन समारोह में…”

अयोध्या में 3 नवम्बर 2021 (बुधवार) के दीपदान के लिए 12 हजार वॉलेंटियर अपनी सेवाएँ देंगे। ये सभी अलग-अलग पोशाकों में होंगे। इन सभी ने इसे सेवा बताते हुए स्वैछिक योगदान के रूप में इसे करने का फैसला किया है। पूरे अयोध्या के मठ-मंदिरों को सजाया जा रहा है। अयोध्या में 30 भव्य गेट बनाए जा रहे हैं। राम की पैड़ी पर लेजर शो के साथ इलेक्ट्रॉनिक आतिशबाजी भी होगी।

एक रिपोर्ट के अनुसार 9 लाख दीपों के लिए लगभग सवा करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं। इस दीपदान में 36 हजार लीटर सरसों का तेल लगेगा। दीपक बनाने वाले सभी कुम्हार अयोध्या और आस-पास के ही हैं। साथ ही दीपक की बाती बनाने के लिए भी स्थानीय वेंडरों को काम दिया गया है। लगभग 5 हजार सफाईकर्मी भी इस त्यौहार में साफ़-सफाई का पूरा ध्यान रखेंगे।

इस बार दीपावली के पर्व पर अयोध्या में मेला बाजार मुख्य आकर्षण का केंद्र होगा। यहाँ पर स्वदेशी उत्पादों को बनाने वाले अपने सामान को बेचते दिखाई देंगे। खुद मुख्यमंत्री योगी के इस मेले में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

उत्तर प्रदेश टूरिज्म ने भी इस पर्व पर हुई विशेष तैयारियों की जानकारी दी है। इसके लिए कई तस्वीरों के साथ एक ट्वीट भी किया गया है। ट्वीट में लिखा गया है, “#Deepotsav2021 के लिए #Ayodhya नगरी सजेगी। शोभा यात्राएँ, झाँकियाँ व लोक कलाओं की प्रस्तुतियाँ #अद्भुत_दीपोत्सव की साक्षी बनेंगी। #RamKiPaidi पर अनगिनत दीप जलेंगे। अब आप भी यहाँ आकर #EkDiyaRamKeNaam का जलाइए और हमारे साथ मिलकर’।#DiwaliLakhonDeeponWali मनाइए।”

शनिवार (27 अक्टूबर 2021) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गायों के गोबर से भरा वाहन अयोध्या भेजा था। इन दीपकों की 1 लाख संख्या 11 हजार है, जिसे 11 हजार गायों के गोबर से तैयार किया गया है।

इन्हें अपने आवास से अयोध्या भेजते हुए मुख्यमंत्री ने पर्यावरण की रक्षा करते हुए त्यौहार को मनाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि इस बार भगवान राम का बनता भव्य मंदिर और पवित्र गाय के गोबर से प्रदेश में दीपोत्सव मनाना एक सुखद संयोग है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोता हुआ आम का पेड़, आरती के समय मंदिर में देवता को प्रणाम करने वाला ताड़ का वृक्ष… वेदों से प्रेरित था जगदीश चंद्र...

छुईमुई का पौधा हमारे छूते ही प्रतिक्रिया देता है। जगदीश चंद्र बोस ने दिखाया कि अन्य पेड़-पौधों में भी ऐसा होता है, लेकिन नंगी आँखों से नहीं दिखता।

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,143FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe