Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज'ऐ चुप बैठो, सुनना है तो सुनो नहीं तो Get Out': कॉन्ग्रेस की रैली...

‘ऐ चुप बैठो, सुनना है तो सुनो नहीं तो Get Out’: कॉन्ग्रेस की रैली में खड़गे को नहीं मिली ‘इज्जत’? वायरल वीडियो में कार्यकर्ताओं को ही खूब सुनाया

तेलंगाना में एक चुनावी रैली में संबोधन के दौरान कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे अपना आपा खो बैठे। इस दौरान भीड़ में शामिल कुछ लोगों द्वारा शोर मचाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें सुनो या फिर भाग जाओ। उन्होंने मंच से खुद को AICC का नेता बताया। इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है।

तेलंगाना में एक चुनावी रैली में संबोधन के दौरान कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे अपना आपा खो बैठे। इस दौरान भीड़ में शामिल कुछ लोगों द्वारा शोर मचाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें सुनो या फिर भाग जाओ। उन्होंने मंच से खुद को AICC का नेता बताया। इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में खड़गे कह रहे हैं, “(चीखते हुए) ऐ चुप बैठो। अगर सुनना है तो सुनो नहीं तो गेट आउट (हाथ की चले जाने का इशारा करते हुए)। डॉन्ट टॉल्क दैट वे (इस तरह बात मत करो)। आपको मालूम नहीं होता?”

खड़गे ने आगे कहा, “ये जो यह मीटिंग चल रही है, एक ऑल इंडिया कॉन्ग्रेस कमिटी का नेता बोल रहा है। और तुम्हारे में मुँह में तुमको जो होना है कहते हैं (और तुमको जो मुँह में आता है, कहे जा रहे हो)। अगर सुनना है तो सुनो नहीं तो अपने जगह को जाओ।”

इस वीडियो को सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है और लोग कॉन्ग्रेस और मल्लिकार्जुन खड़गे पर तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं। हालाँकि, यह वीडियो कहाँ का है इसको लेकर स्पष्टता नहीं है, लेकिन कहा जा रहा है कि यह तेलंगाना विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए आयोजित की गई एक रैली का है।

भाजपा नेता सुनील देवधर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “दिल्ली में मीडिया नहीं सुनती, पार्टी में गाँधी परिवार नहीं सुनता, रैली में कार्यकर्ता नहीं सुनते! बेचारे खड़गे जी…।”

इतना ही नहीं, मल्लिकार्जुन खड़गे का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसे भाजपा नेता डॉक्टर अजय आलोक ने भी 16 नवंबर 2023 को अपने एक्स हैंडल पर शेयर किया था। इस वीडियो में खड़गे के बयान को जोड़ा गया है।

बता दें कि तेलंगाना में 30 नवंबर 2023 को मतदान होना है, जबकि 3 दिसंबर को मतगणना होगा। यहाँ सत्ताधारी BRS के साथ असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM का गठबंधन है। वहीं, भाजपा राज्य में एक बड़ी शक्ति के रूप में उभर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -