Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिबड़ी खबर: UP में कॉन्ग्रेस ने किया सभी जिला कमिटियों को भंग, नेताओं के...

बड़ी खबर: UP में कॉन्ग्रेस ने किया सभी जिला कमिटियों को भंग, नेताओं के ख़िलाफ़ एक्शन की तैयारी

उत्तर प्रदेश में हार के बाद कॉन्ग्रेस संगठन के बेहतर प्रदर्शन के लिए लगातार आत्ममंथन जारी है। कई अहम बैठकें ख़ुद पार्टी महासचिव प्रियंका गाँधी ने भी की। पार्टी में प्रियंका को बड़ा रोल देने की माँग की जा रही है।

कॉन्ग्रेस पार्टी ने त्वरित रूप से यूपी में सभी जिला कमिटियों को भंग कर दिया है। एक अहम बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया। उत्तर प्रदेश की जिन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, वहाँ प्रत्येक सीट पर 2 सदस्यीय समिति बनाई गई है, जो चुनावी तैयारियों को देखेगी। इसके आल्वा तीन सदस्यीय समिति भी बनाई गई है, जो चुनाव के दौरान कॉन्ग्रेस नेताओं के ख़िलाफ़ आई अनुशासनहीनता की शिकायतों पर काम करेगी और उचित कार्रवाई की सिफ़ारिश करेगी।

उत्तर प्रदेश संगठन को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने लिया बड़ा निर्णय

अजय कुमार लल्लू को उत्तर प्रदेश (पश्चिमी) के संगठन में बदलाव करने के लिए पार्टी द्वारा अधिकृत किया गया है। लल्लू कुशीनगर के अंतर्गत आने वाले तमकुही राज विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं और लगातार दूसरी बार जीत कर विधायक बने हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए किसी और को अधिकृत किया जाएगा, इसका निर्णय अभी नहीं लिया गया है।

उत्तर प्रदेश में हार के बाद कॉन्ग्रेस संगठन के बेहतर प्रदर्शन के लिए लगातार आत्ममंथन जारी है। कई अहम बैठकें ख़ुद पार्टी महासचिव प्रियंका गाँधी ने भी की। पार्टी में प्रियंका को बड़ा रोल देने की माँग की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe