कॉन्ग्रेस नेता गिरफ्तार: Whatsapp पर पार्टी की महिला नेताओं को भेजा पोर्न वीडियो

पवन दुबे ने ग्रुप में एक युवती का अश्लील वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा ''अनुच्छेद 370 हटने के बाद आया पहला रुझान''। महिला नेताओं ने पार्टी पदाधिकारियों के समक्ष आपत्ति जताई लेकिन दुबे ने न तो वीडियो हटाया और न ही माफी माँगी।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में सोशल मीडिया पर अश्लील वीडियो शेयर करने के आरोप में पुलिस ने स्थानीय कॉन्ग्रेस नेता पवन दुबे को गिरफ्तार कर लिया है। बिलासपुर जिले के पेंड्रा गौरेला क्षेत्र की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ASP) प्रतिभा तिवारी ने शुक्रवार (अगस्त 9, 2019) को बताया कि जिले के पेन्ड्रा-गौरेला में कॉन्ग्रेस के जिला संयुक्त सचिव ने सोशल मीडिया व्हाट्सएप के एक ग्रुप में आपत्तिजनक और अश्लील वीडियो शेयर किया था। जिसके बाद कॉन्ग्रेस की महिला नेताओं की शिकायत पर आरोपित पवन दुबे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पेंड्रा, गौरेला और मरवाही के ब्लॉक कॉन्ग्रेस के पदाधिकारियों ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया है। इसमें महिला नेताओं के साथ ही प्रदेश कॉन्ग्रेस के बड़े नेता भी जुड़े हुए हैं। किसी भी सूचना व कार्यक्रम की जानकारी इसी ग्रुप के जरिए पदाधिकारियों को दी जाती है। पवन दुबे ने इसी ग्रुप में मंगलवार (अगस्त 6, 2019) को एक पोर्न वीडियो शेयर कर दिया। दुबे ने ग्रुप में एक युवती का अश्लील वीडियो पोस्ट किया था और ”अनुच्छेद 370 हटने के बाद आया पहला रुझान” लिखा था। इस वीडियो को देखकर महिला नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पार्टी पदाधिकारियों के समक्ष आपत्ति जताई और आरोपित पवन दुबे को वीडियो हटाकर व्हाट्सएप ग्रुप में माफी माँगने के लिए कहा। लेकिन, न तो उसने वीडियो हटाया और न ही माफी माँगी।

दुबे द्वारा वीडियो नहीं हटाने और माफी नहीं माँगने पर ब्लॉक कॉन्ग्रेस की अध्यक्ष समेत अनेक महिला नेताओं ने बुधवार (अगस्त 7, 2019) को मामले की शिकायत गौरेला थाने में दर्ज करा दी। गौरेला पुलिस ने आरोपित पवन दुबे के खिलाफ धारा 292 और आइटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुरुवार (अगस्त 8, 2019) को आरोपित पवन दुबे को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया, जहाँ शुक्रवार (अगस्त 9, 2019) को उसे न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शरजील इमाम
शरजील इमाम वामपंथियों के प्रोपेगंडा पोर्टल 'द वायर' में कॉलम भी लिखता है। प्रोपेगंडा पोर्टल न्यूजलॉन्ड्री के शरजील उस्मानी ने इमाम का समर्थन किया है। जेएनयू छात्र संघ की काउंसलर आफरीन फातिमा ने भी इमाम का समर्थन करते हुए लिखा कि सरकार उससे डर गई है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,507फैंसलाइक करें
36,393फॉलोवर्सफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: