कॉन्ग्रेसी सुरजेवाला ने रसोई गैस की कीमत पर फैलाया झूठ, ₹247 की कमी को बताया ₹302 का इजाफा

बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमतों में करीब 76 रुपए का इजाफा हुआ है। इसको लेकर सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि मई 2014 के मुकाबले कीमत में ₹302.50 का इजाफा हो चुका है। लेकिन, उनका यह दावा सरासर झूठ है। उन्होंने आरोप गढ़ने के लिए दो अलग-अलग कीमतों की तुलना की है।

मोदी सरकार को घेरने के लिए आँकड़ों को गलत तरीके से पेश कर झूठ फैलाने के हुनर का रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक बार फिर प्रदर्शन किया है। हालिया हरियाणा विधानसभा चुनाव में धूल चाटने वाले सुरजेवाला कॉन्ग्रेस के कम्युनिकेशन सेल के मुखिया हैं। उन्होंने घरेलू गैस यानी एलपीजी की कीमतों में इजाफे को लेकर सरकार की आलोचना करते हुए हेराफेरी की कोशिश की है। बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत में 76. 50 रुपए की वृद्धि की गई है। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन की इंडेन ब्रांड एलपीजी सिलेंडर (14.2 किलोग्राम) की कीमत ₹605 से बढ़कर ₹681.50 रुपए हो गई है।

इस इजाफे को लेकर राहुल गॉंधी के करीबी सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि आज 14.2 किलोग्राम वाले LPG सिलेंडर की क़ीमत ₹716.50 है, जबकि 16 मई 2014 को इसकी क़ीमत ₹414.00 थी। यानी, तब से अब तक कीमतों में ₹302.50 का इजाफा हो चुका है। लेकिन, सुरजेवाला का यह दावा सरासर झूठ है। उन्होंने आरोप गढ़ने के लिए दो अलग-अलग कीमतों की तुलना की है।

मूल्य में यह अंतर बताने के लिए सुरजेवाला ने बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की मौजूदा कीमत की तुलना सब्सिडी वाले सिलेंडर के 2014 की कीमत से की है। लेकिन, यदि बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की आज की कीमत की तुलना 2014 से की जाए तो पता चलता है कि कीमतों में कमी आई है। IOCL की वेबसाइट पर सूचीबद्ध क़ीमतों के अनुसार, दिल्ली में 1 मई 2014 को ग़ैर-सब्सिडी वाले LPG की क़ीमत ₹928.50 थी और उसी साल जनवरी में इसकी क़ीमत ₹1241.00 थी। मौजूदा कीमत (₹681.50) से तुलना करें तो पता चलता है कि 2014 से यह ₹247.00 सस्ती है न कि ₹302.50 महॅंगी, जैसा सुरजेवाला ने दावा किया है।

LPG prices in 2014

2014 में LPG की क़ीमत
- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ग़ौर करने वाली बात यह है कि यूपीए सरकार के दौरान सालाना सब्सिडी वाले 9 सिलेंडर मिलते थे जिसे मोदी सरकार ने बढ़ाकर 12 कर दिया है। डीबीटीएल योजना के तहत, LPG खरीदने के लिए पूरे पैसे का भुगतान करना होता है और सब्सिडी की राशि सीधे उपभोक्ताओं के बैंक खाते में आ जाती है।

अन्य सभी पेट्रोलियम उत्पादों की तरह LPG की क़ीमतें भी बाज़ार पर निर्भर है। वैश्विक आधार पर तेल की क़ीमतें ऊपर-नीचे होती हैं। पेट्रोल और डीजल के विपरीत, LPG पर केवल 5% GST लागू होता है। इसलिए, ग़ैर-रियायती मूल्य पर सरकार का थोड़ा नियंत्रण है। लेकिन सरकार सब्सिडी राशि बदलती रहती है ताकि उपभोक्ताओं को रसोई गैस के लिए बहुत अधिक भुगतान न करना पड़े।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

"हिन्दू धर्मशास्त्र कौन पढ़ाएगा? उस धर्म का व्यक्ति जो बुतपरस्ती कहकर मूर्ति और मन्दिर के प्रति उपहासात्मक दृष्टि रखता हो और वो ये सिखाएगा कि पूजन का विधान क्या होगा? क्या जिस धर्म के हर गणना का आधार चन्द्रमा हो वो सूर्य सिद्धान्त पढ़ाएगा?"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

115,259फैंसलाइक करें
23,607फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: