Wednesday, September 22, 2021
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस नेताओं ने 'ट्विटर बर्ड' को फ्राई कर Twitter मुख्यालय भेजा: राहुल गाँधी का...

कॉन्ग्रेस नेताओं ने ‘ट्विटर बर्ड’ को फ्राई कर Twitter मुख्यालय भेजा: राहुल गाँधी का हैंडल लॉक किए जाने से जले-भुने

उक्त वीडियो में पूर्व कॉन्ग्रेस सांसद हर्षा कुमार के बेटे कहते हैं, "ट्विटर, तुमने बड़ी गलती की है। तुमने न सिर्फ राहुल गाँधी का हैंडल लॉक किया, बल्कि हमारे ट्वीट्स को भी प्रमोट नहीं किया। इसीलिए, इस 'ट्विटर बर्ड' को पका कर मैं ट्विटर के गुरुग्राम स्थित मुख्यालय में भेज रहा हूँ।"

हाल ही में ट्विटर ने कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी के हैंडल को लॉक कर दिया था। उन्होंने दिल्ली कैंट की 9 वर्षीय डाली रेप पीड़िता के माता-पिता की तस्वीर ऑनलाइन शेयर कर दी थी, जिस कारण उन पर ये कार्रवाई की गई। इसके बाद से ही कॉन्ग्रेस के नेता/कार्यकर्ता लगातार ट्विटर का विरोध कर रहे हैं। इसी क्रम में आंध्र प्रदेश के कॉन्ग्रेस नेताओं ने ‘ट्विटर बर्ड’ को पकाते हुए वीडियो जारी किया है।

वीडियो में कॉन्ग्रेस नेताओं ने दावा किया कि वो ट्विटर द्वारा राहुल गाँधी का हैंडल लॉक किए जाने के विरोध में ‘ट्विटर बर्ड’ को तेल में पका कर खा रहे हैं। उन्होंने न सिर्फ ‘ट्विटर बर्ड’ को फ्राई किया, बल्कि इसे ट्विटर के मुख्यालय में कुरियर भी कर दिया। इस वीडियो में कॉन्ग्रेस के पूर्व सांसद हर्षा कुमार के बेटे को भी देखा जा सकता है। जीवी हर्षा कुमार अमलापुरम लोकसभा क्षेत्र से 2004-14 में सांसद रहे हैं।

उक्त वीडियो में पूर्व कॉन्ग्रेस सांसद हर्षा कुमार के बेटे कहते हैं, “ट्विटर, तुमने बड़ी गलती की है। तुमने न सिर्फ राहुल गाँधी का हैंडल लॉक किया, बल्कि हमारे ट्वीट्स को भी प्रमोट नहीं किया। इसीलिए, इस ‘ट्विटर बर्ड’ को पका कर मैं ट्विटर के गुरुग्राम स्थित मुख्यालय में भेज रहा हूँ। ये डिश तैयार हो रहा है।” इसके बाद कॉन्ग्रेस नेताओं ने भाजपा के खिलाफ नारा भी लगाया। फिर उन्होंने स्थानीय पोस्ट ऑफिस जाकर ट्विटर के मुख्यालय को इसे कुरियर किया।

कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि वो इसे काफी अच्छे से पैक कर के भेज रहे हैं और उम्मीद है कि ट्विटर को ये डिश प्रसंद आएगी। हाल ही में 9 वर्षीय मृत बच्ची की माँ ने कहा था कि तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने से पहले राहुल गाँधी ने उनसे कोई अनुमति नहीं माँगी थी। POCSO (प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस) एक्ट नाबालिग रेप पीड़िता या उसके माता-पिता की तस्वीर साझा करने को प्रतिबंधित करता है ताकि उनकी पहचान उजागर न हो।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe