Friday, May 31, 2024
Homeराजनीतिपुडुचेरी में कल राहुल गाँधी का दौरा, आज कॉन्ग्रेस ने खोया बहुमत: CM ने...

पुडुचेरी में कल राहुल गाँधी का दौरा, आज कॉन्ग्रेस ने खोया बहुमत: CM ने कहा – ‘किरण बेदी की साजिश’

कहानी में ट्विस्ट है। जिस विधायक के इस्तीफे के कारण कॉन्ग्रेसी सरकार ने राहुल गाँधी के दौरे से ठीक एक दिन पहले बहुमत खोया, उसी विधायक ने 2016 में CM नारायणसामी के लिए अपनी सीट छोड़ दी थी।

पुडुचेरी में कॉन्ग्रेस की सरकार अल्पमत में आ गई है क्योंकि पार्टी के एक विधायक ने इस्तीफा दे दिया है। मुख्यमंत्री वेलु नारायणसामी (Velu Narayanasamy) सरकार ने एक विधायक के जाने से बहुमत खो दिया है। विधायक ए जॉन कुमार ने मंगलवार (फरवरी 16, 2021) को विधानसभा से अपना इस्तीफा स्पीकर वीपी शिवाकोलुन्थु को सौंप दिया है। कॉन्ग्रेस यहाँ DMK (द्रविड़ मुनेत्र कड़गम) के साथ गठबंधन बना कर सत्ता में है।

अब 33 सदस्यीय विधानसभा में सत्ताधारी गठबंधन के भी 14 ही सदस्य हैं और भाजपा-अन्नाद्रमुक गठबंधन के बाद भी इतनी ही संख्या में विधायक हैं। चूँकि विधानसभा में 3 नॉमिनेटेड विधायक होते हैं और 5 उपलब्ध नहीं हैं, इसीलिए फ़िलहाल विधानसभा की संख्या 28 ही है। कॉन्ग्रेस के पास 10 विधायक हैं और उसके साथी DMK के पास 3 हैं। उन्हें 1 निर्दलीय का समर्थन भी प्राप्त है। विपक्ष में भाजपा के पास 3 नॉमिनेटेड विधायक हैं।

उसकी साथी ‘NR कॉन्ग्रेस’ के पास 7 विधायक हैं और AIADMK के 4 विधायकों को मिला कर ये संख्या 14 पहुँचती है। विपक्षी दलों ने माँग की है कि उप-राज्यपाल किरण बेदी जल्द ही सरकार को सदन में बहुमत साबित करने को कहें। जॉन कुमार हाल ही में दिल्ली में कुछ भाजपा नेताओं से मिले थे। 2016 में नेल्लीथोपे विधानसभा क्षेत्र से जीतने वाले जॉन ने मुख्यमंत्री नारायणसामी के लिए ये सीट छोड़ दी थी।

उन्हें सीएम का करीबी भी माना जाता था। बाद में वो कामराज नगर से उपचुनाव में 2019 में विजयी रहे थे। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री मल्लादी कृष्णा ने भी 1 दिन पहले ट्विटर के माध्यम से अपना इस्तीफा सार्वजनिक किया था। ये सब तब हो रहा है, जब कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी 1 दिन बाद ही पुडुचेरी में मई में होने वाले विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाने जा रहे हैं। केंद्र शासित प्रदेश में पार्टी के सत्ता में आने के बाद ये उनका पहला दौरा है।

पुडुचेरी के सीएम वी नारायणसामी के कार्यकाल को उप-राज्यपाल किरण बेदी से उनकी लड़ाई को लेकर लेकर भी याद किया जाता है। अब भी उन्होंने किरण बेदी पर ही साजिश के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि कि वो राष्ट्रपति से शिकायत करेंगे कि किरण बेदी उनकी सरकार को अस्थिर कर रही हैं और अधिकारियों को धमका रही हैं। पिछले कुछ दिनों में 4 कॉन्ग्रेस विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। नारायणसामी ने कहा कि किरण बेदी ने कई सरकारी योजनाओं को भी रोक दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -