Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज22 साल बाद जाकर कॉन्ग्रेस अध्यक्ष का ठना चुनाव, 9000+ प्रतिनिधि करेंगे फैसला: शशि...

22 साल बाद जाकर कॉन्ग्रेस अध्यक्ष का ठना चुनाव, 9000+ प्रतिनिधि करेंगे फैसला: शशि थरूर बोले- पार्टी का पुनरुत्थान शुरू

22 साल पहले जितेंद्र प्रसाद ने सोनिया गाँधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गए थे। आज दोबारा से ये चुनाव हो रहे हैं। 65 मतदान केंद्रों पर वोट पड़ रहा है। 138 साल पुरानी पार्टी में ये छठी बार अध्यक्ष पद पर कौन बैठेगा, इसका फैसला चुनाव होकर किया जाएगा।

कॉन्ग्रेस अध्‍यक्ष पद के लिए मतदान (Congress President Poll Live) जारी है। चुनाव में मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर आमने-सामने हैं। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, शशि थरूर ने कहा कि कॉन्‍ग्रेस पार्टी का पुनरुत्‍थान शुरू हो गया है और भारतीय राष्‍ट्रीय कॉन्ग्रेस का भाग्‍य अब पार्टी कार्यकर्ताओं के हाथ में है। वहीं खड़गे ने कहा, “हमें साथ मिलकर पार्टी बनानी है।”

हालाँकि दोनों नेताओं ने इससे पहले कई मौकों पर इस पद के लिए खुद को बेहतर साबित करने वाले बयान भी दिए हैं ।

बता दें कि आज कॉन्ग्रेस अध्‍यक्ष पद के लिए 22 साल बाद चुनाव हो रहे हैं। 2017 में राहुल गाँधी निर्विरोध कॉन्‍ग्रेस अध्‍यक्ष चुने गए थे। मतदान 10 बजे सुबह शुरू हुआ और यह 4 बजे समाप्‍त होगा। चुनाव (Congress President Poll Live) के नतीजे 19 अक्‍टूबर को आएँगे। 9,000 से अधिक प्रदेश कॉन्ग्रेस कमेटी (पीसीसी) के प्रतिनिधि गुप्त मतदान में पार्टी प्रमुख को चुनने के लिए मतदान कर रहे हैं।

शशि थरूर ने आज सुबह (17 अक्टूबर 2022) ट्वीट कर कहा कि उन्‍होंने अपने प्रतिद्वंदी मल्लिकार्जुन खड़गे से बातचीत की और उन्‍हें चुनाव के लिए शुभकामनाएँ दी।

वहीं खड़गे ने सामाचार एजेंसी एएनआई से कहा, “यह हमारा आंतरिक चुनाव है। हम दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ जो भी कहा है, वह सौहार्दपूर्ण माहौल में कहा गया है। हम दोनों को साथ मिलकर पार्टी को आगे बढ़ाना है। थरूर ने मुझे फोन किया और शुभकामनाएँ दी। मैंने भी उन्‍हें शुभकामनाएँ दीं।”

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गाँधी ने भी मतदान किया। उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा के शिविर में बने बूथ में अपना वोट डाला।

अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने कॉन्ग्रेस मुख्यालय पर अपना वोट डाला।

यह पहली बार नहीं है कि कॉन्‍ग्रेस के अध्‍यक्ष पद के चुनाव के लिए गॉंधी परिवार से बाहर के नेता चुनाव लड़ रहे हैं। 22 साल पहले जितेंद्र प्रसाद ने सोनिया गाँधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गए थे। आज दोबारा से ये चुनाव हो रहे हैं। सोनिया गाँधी और जितेंद्र प्रसाद की जगह मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर हैं। 65 मतदान केंद्रों पर वोट पड़ रहा है। 138 साल पुरानी पार्टी में ये छठी बार अध्यक्ष पद के चुनाव हैं। गाँधी परिवार के अलावा इस कुर्सी पर अब कौन बैठेगा, इसका फैसला 19 अक्टूबर को किया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -