Tuesday, April 13, 2021
Home राजनीति 'मोदी मंदिर' बनाने की खबर फर्जी: MLA गणेश जोशी ने कॉन्ग्रेस को बताया 'मोदीफोबिया'...

‘मोदी मंदिर’ बनाने की खबर फर्जी: MLA गणेश जोशी ने कॉन्ग्रेस को बताया ‘मोदीफोबिया’ से ग्रसित

गणेश जोशी ने बताया कि 'टाइम्स ऑफ़ इंडिया' की पत्रकार ने जब उनसे 'मोदी आरती' के बारे में पूछा तो उन्होंने यही कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लोकप्रिय नेता हैं और कई लोग उनका सम्मान करते हैं। लेकिन इस बयान की जगह फर्जी रिपोर्ट छाप कर मंदिर बनवाने वाली बात गढ़ दी गई।

उत्तराखंड मसूरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक और भाजपा नेता गणेश जोशी द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंदिर बनाने और मोदी स्तुति की खबर को ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ से लेकर अन्य प्रमुख मुख्यधारा की मीडिया ने मनगढ़ंत रूप से प्रकाशित किया है। इसके विपरीत भाजपा नेता गणेश जोशी का कहना है कि उनसे बयान लेकर मीडिया ने अपनी मर्जी से काल्पनिक बातों को प्रकाशित किया।

ऑपइंडिया से बातचीत में मसूरी विधायक गणेश जोशी ने बताया कि ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ की पत्रकार ने जब उनसे ‘मोदी आरती’ के बारे में पूछा तो इस पर उन्होंने यही कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लोकप्रिय नेता हैं और कई लोग उनका सम्मान करते हैं, लेकिन इस बयान की जगह TOI ने फर्जी खबर को प्रकाशित किया है।

‘कभी नहीं कहा कि PM मोदी का मंदिर बना रहा हूँ’

दरअसल, भाजपा नेता गणेश जोशी ने कहा था कि पीएम मोदी की छवि के कारण लोग उन्हें श्रद्धेय मानते हैं, उनकी पूजा भी करते हैं और लोगों ने इसी कारण उनके मंदिर भी बनाए हैं। लेकिन ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ की रिपोर्टर ने उनके बयान को एक किनारे रखकर यह खबर प्रकशित करना ज्यादा बेहतर समझा कि भाजपा के विधायक गणेश जोशी ने कहा है कि वो पीएम नरेन्द्र मोदी का मंदिर बनाने जा रहे हैं।

गणेश जोशी ने यह भी कहा कि बहुत से लोगों ने कॉन्ग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गाँधी और रजनीकांत के लिए भी मंदिर बनाया है क्योंकि वे लोग उनसे प्यार करते हैं और उनका सम्मान करते हैं।

‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ की रिपोर्टर द्वारा प्रकाशित इस खबर को फर्जी बताते हुए ऑपइंडिया से बातचीत में विधायक गणेश जोशी ने कहा कि इस झूठी रिपोर्ट को अन्य मीडिया संस्थानों ने भी बिना उनका बयान पूछे ही प्रकाशित कर उनकी छवि खराब करने का काम किया है।

‘मोदी-आरती’ की वास्तविकता

गौरतलब है कि हाल ही में उत्तराखंड में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समर्थक डॉ. रेनू पंत ने कोरोना वायरस संकट के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व और COVID-19 वायरस के कारण जारी लॉकडाउन को लेकर लिए गए जरूरी फैसलों से प्रभावित होकर उनके सम्मान में ‘मोदी-स्तुति’ लिखी थी।

इसी मोदी-आरती को लेकर विपक्ष और मीडिया भाजपा नेताओं को इससे जोड़ने का प्रयास कर रहा है। जबकि डॉ. रेनू पंत का भाजपा से कोई लेना-देना नहीं है और वो सिर्फ पीएम मोदी की समर्थक हैं।

विधायक गणेश जोशी ने ऑपइंडिया से स्पष्ट करते हुए कहा- “वास्तव में, जिस तरह से बीजेपी कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रही है और जरूरतमंद लोगों को राहत प्रदान कर रही है, उसे लेकर विपक्ष चिंतित है।

भाजपा नेता गणेश जोशी ने कहा-

“अकेले मेरे निर्वाचन क्षेत्र में हमने अब तक तकरीबन 3 लाख भोजन पैकेट्स वितरित किए हैं और 17 हजार से अधिक लोगों को राशन सामग्री प्रदान की है। लेकिन कॉन्ग्रेस कोरोना वायरस की महामारी के समय धरातल से एकदम गायब है। और अब मात्र एफआईआर की राजनीति के सहारे ही खड़ी है। हमने देखा है कि किस तरह से कॉन्ग्रेस द्वारा मीडिया के खिलाफ एफआईआर की राजनीति की जा रही है, और अब वो इसका इस्तेमाल निर्वाचित प्रतिनिधियों के खिलाफ भी कर रहे हैं, यह निंदनीय और शर्मनाक है।”

कॉन्ग्रेस पर द्वैषपूर्ण राजनीति करने की बात रखते हुए भाजपा नेता गणेश जोशी ने कहा – “वे मीडिया में इस तरह की फर्जी खबरें जारी कर हमारे प्रयासों को पटरी से उतारने की कोशिश कर रहे हैं। मैंने अपने मंदिर में फोटो रखने के बारे में कभी कुछ नहीं कहा। हर दूसरे कार्यकर्ता की तरह ही मेरे कार्यालय में भी पीएम मोदी की एक तस्वीर है और उनके प्रति मेरे मन में सम्मान और श्रद्धा है। लेकिन मीडिया और विपक्ष फेक न्यूज़ के जरिए यह साबित करने का प्रयास कर रहा है कि मैं पीएम मोदी का मंदिर बनाने की योजना बना रहा हूँ। यह बिल्कुल निराधार और बेबुनियाद खबरें हैं।”

‘मोदीफ़ोबिया से ग्रसित है कॉन्ग्रेस’

विपक्ष और मीडिया को ‘मोदीफ़ोबिया’ से ग्रसित बताते हुए गणेश जोशी ने कहा कि डॉ. रेणु पंत एक स्कॉलर हैं, जिनकी रचना का धन सिंह रावत और उन्होंने अनावरण किया था। उन्होंने कहा कि डॉ. रेणु पंत एक आम नागरिक हैं, जिन्हें पीएम मोदी का प्रशंसक होने के कारण निशाना बनाया जा रहा है, वास्तव में यह सिर्फ और सिर्फ मोदीफोबिया है।

दरअसल, डॉ. रेणु पंत द्वारा ‘मोदी आरती’ उस समय पढ़ी गई, जब देहरादून के डोभालवाला स्थित राजकीय इण्टर कॉलेज में मसूरी विधायक गणेश जोशी एवं प्रदेश के राज्यमंत्री धन सिंह रावत ने लॉकडाउन के दौरान जरुरतमंद प्रवासियों एवं स्थानीय लोगों को भोजन, राशन, मास्क, सैनिटाइजर प्रदान करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं को सम्मानित करने के लिए उपस्थित थे।

गणेश जोशी ने कहा कि प्रशसकों द्वारा यदि प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान में कुछ लिखा जाता है, तो उन्हें रोका भी नहीं जा सकता। साथ ही उन्होंने कॉन्ग्रेस को अपनी नकारात्मक सोच को छोड़ने की भी सलाह दी।

‘मोदी किचन’ के जरिए कोरोना वायरस से प्रभावितों की मदद कर रहे हैं गणेश जोशी

विधायक गणेश जोशी ने कोरोना वायरस की महामारी के दौरान ‘मोदी किचन’ के जरिए लॉकडाउन के कारण प्रभावितों को खाना खिलाने से लेकर उनकी अन्य जरूरतों में मदद करने का काम व्यापक स्तर पर किया है। कई प्रमुख समाचार पत्रों ने भी उनके इस कार्य की सराहना की है।

‘मोदी किचन’ में खाना बनाते हुए मसूरी विधायक गणेश जोशी

भूखे, असहाय और जरुरतमंदों के लिए ‘मोदी किचन’ खोलना गणेश जोशी का ही विचार था। शुरू में ऐसी 6 रसोइयाँ – डोभालवाला, जाखन, गढ़ी कैंट, मसूरी, राजपुर में तैयार की गईं। इसी की तर्ज पर भाजपा ने पूरे उत्तराखंड में ऐसे ही 200 ‘मोदी किचन’ खोलकर इस मॉडल को अपनाया और लोगों तक मदद पहुँचाई जा रही।

जरूरतमंदों के लिए राहत सामग्री वितरण करते हुए

इसके साथ ही गणेश जोशी द्वारा बाहरी राज्यों से घर लौट रहे प्रवासियों को फ़ूड पैकेट्स भी उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

1 वर्ष का वेतन, निर्वाचन क्षेत्र भत्ते एवं सचिवीय भत्ते से कटौती पर भी गणेश जोशी की सहमति

राहत सामग्री के साथ ही विधायक गणेश जोशी ने कोरोना महामारी से निपटने में अपना सहयोग करते हुए अपने 1 वर्ष का वेतन, निर्वाचन क्षेत्र भत्ते एवं सचिवीय भत्ते, यानी कुल आय का 30% कटौती पर सहमति भी दी है।

यह उत्तराखंड ही नहीं बल्कि पूरे देशभर में ही देखा जा रहा है कि कॉन्ग्रेस और मीडिया ने भाजपा सरकार को लेकर कोरोना वायरस के दौरान जारी लॉकडाउन के दौरान भ्रामक और फेक न्यूज़ के जरिए भाजपा सरकार और उनके समर्थकों के खिलाफ दुष्प्रचार करने का काम किया है, जबकि प्राथमिकता इस समय सिर्फ और सिर्फ लोगों को राहत पहुँचाने और व्यवस्थाओं का सहयोग करने पर ही होना चाहिए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस में शरीफ होना पाप, प्रशांत किशोर की फौज को खुश कर मिलता है टिकट’: पंजाब के पार्टी नेता ने खोले राज

बंगाल में ममता बनर्जी की संभावित हार से पीछे छुड़ाने की कोशिश में लगे प्रशांत किशोर के लिए पंजाब की राह भी आसान नहीं दिखती।

जलियाँवाला नरसंहार वाले जनरल डायर का स्वर्ण मंदिर में सिरोपा दे हुआ था सम्मान, अमरिंदर के पुरखे भी थे अंग्रेजों के वफादार

जलियाँवाला बाग़ नरसंहार के बारे में कौन नहीं जानता। यह नरसंहार अंग्रेज अधिकारी जनरल रेजिनाल्ड एडवर्ड डायर के आदेश पर हुआ था। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि अकाल तख़्त ने उसे सिरोपा देकर सम्मानित किया था।

लालू यादव की सलामती के लिए उनकी बेटी रखेंगी रोज़ा, अल्लाह-पाक से न्याय की भी दुआ करेंगी

लालू को कानून ने साबित कर दिया है कि वो अपराधी है, सजा दी जा चुकी है। लेकिन बेटी रोहिणी को यह मंजूर नहीं। वो पूरे महीने रोज़े रख कर...

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। आँसू गैस के गोले दागे जाने पर हिंसक भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

भाई ने कर ली आत्महत्या, परिवार ने 10 दिनों तक छिपाई बात: IPL के ग्राउंड में चमका टेम्पो ड्राइवर का बेटा, सहवाग भी हुए...

IPL की नीलामी में चेतन सकारिया को अच्छी खबर तो मिली, लेकिन इससे तीन सप्ताह पहले ही उनके छोटे भाई ने आत्महत्या कर ली थी।

भारतीय गणना ही सर्वोत्तम: विदेशी कैलेंडर गड़बड़ियों की तारीख से भरे, कभी 10 माह का साल तो कभी 10 दिन गायब

रोमन, जूलियन और ग्रेगेरियन कैलेंडरों में खासा कन्फ्यूजन था। अब भी है। कई त्रुटियाँ हुईं। किसी ने सूर्य को आधार माना तो किसी ने चन्द्रमा को। भारतीय प्राचीन कैलेंडर यूँ ही चला आ रहा है - सटीक।

प्रचलित ख़बरें

‘हमें बार-बार जाना पड़ता है, वो वॉशरूम कब जाती हैं’: साक्षी जोशी का PK से सवाल- क्या है ममता बनर्जी का टॉयलेट शेड्यूल

क्लबहाउस पर बातचीत में ‘स्वतंत्र पत्रकार’ साक्षी जोशी ने ममता बनर्जी की शौचालय की दिनचर्या के बारे में उनके चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से पूछताछ की।

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। आँसू गैस के गोले दागे जाने पर हिंसक भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

राजस्थान: छबड़ा में सांप्रदायिक हिंसा, दुकानों को फूँका; पुलिस-दमकल सब पर पत्थरबाजी

राजस्थान के बारां जिले के छबड़ा में सांप्रदायिक हिसा के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया गया है। चाकूबाजी की घटना के बाद स्थानीय लोगों ने...

रूस का S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम और US नेवी का भारत में घुसना: ड्रैगन पर लगाम के लिए भारत को साधनी होगी दोधारी नीति

9 अप्रैल को भारत के EEZ में अमेरिका का सातवाँ बेड़ा घुस आया। देखने में जितना आसान है, इसका कूटनीतिक लक्ष्य उतनी ही कॉम्प्लेक्स!

बालाघाट में यति नरसिंहानंद के पोस्टर लगाए, अपशब्दों का इस्तेमाल: 4 की गिरफ्तारी पर भड़की ओवैसी की AIMIM

बालाघाट पुलिस ने यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ पोस्टर लगाने के आरोप में मतीन अजहरी, कासिम खान, सोहेब खान और रजा खान को गिरफ्तार किया।

गुफरान ने 5 साल की दलित बच्ची का किया रेप, गला घोंट मार डाला: ‘बड़े सरकार की दरगाह’ पर परिवार के साथ आया था

गुफरान अपने परिवार के साथ 'बड़े सरकार की दरगाह' पर आया हुआ था। 30 वर्षीय आरोपित ने रेप के बाद गला घोंट कर बच्ची की हत्या की।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,166FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe