क्या कपिल मिश्रा के खुलासे के बाद केजरीवाल ने की ‘पैरेंट्स को कसम खिलाने वाली’ मीटिंग रद्द?

एक टीचर ने कपिल मिश्रा को व्हाट्सप्प किया, "...अगले चार दिनों में हर पेरेंट्स के साथ एसएमसी मेंबर मीटिंग करेगा और केजरीवाल को वोट देने की कसम खिलवाई जाएगी। स्कूलों में इतनी भद्दी राजनीति कभी नहीं हुई।"

नई वाली राजनीति का जुमला लेकर दिल्ली की राजनीति में आए दिन नई नौटंकी रचने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने एक नया कारनामा किया है। यदि आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा की मानें तो अरविन्द केजरीवाल स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों को मीटिंग के बहाने बुलाकर आगामी विधानसभा चुनाव में AAP को ही वोट दिलवाने की कसम खिलाने वाले थे। लेकिन अब केजरीवाल ने यह प्लान रद्द कर दिया है।

इस बात पर यकीन करना मुश्किल था लेकिन हम सभी आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष अरविन्द केजरीवाल की प्रतिभा से अच्छी तरह से परिचित हैं। कपिल मिश्रा के इस खुलासे को तब बल मिला जब सोशल मीडिया पर कपिल मिश्रा की इस मीटिंग की सच्चाई बताने के बाद अचानक अरविन्द केजरीवाल ने इस मीटिंग को रद्द करने का फैसला कर लिया।

दिल्ली में कुछ ही समय में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, लेकिन उससे पहले ही आम आदमी पार्टी ने चुनावी चकल्लस शुरू कर दी है। आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने शुक्रवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र लिखकर सरकारी स्कूलों में हो रही राजनीतिक मीटिंगों पर रोक लगाने की माँग की थी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

कपिल मिश्रा इस मामले में कोर्ट भी जाने की तैयारी कर रहे हैं। कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर लिखा, “21 जून से 24 जून हर माता पिता को स्कूल बुलवाकर केजरीवाल को वोट देने की कसम खिलवाने का लिखित निर्देश दिया जा रहा है। इसे तुरंत रोकिए, ये सरकारी स्कूलों में गैरकानूनी हरकत है, अगर इसे नहीं रोक गया तो हमें कोर्ट जाना पड़ेगा।”

इसके बाद एक ट्वीट में कपिल मिश्रा ने लिखा कि ये एक टीचर ने उन्हें व्हाट्सएप किया है- “टीचर्स को जबर्दस्ती स्कूल बुलवाया गया है, टीचर्स फ़ोन करके पेरेंट्स को बुलाएँगे। अगले चार दिनों में हर पेरेंट्स के साथ एसएमसी मेंबर मीटिंग करेगा और केजरीवाल को वोट देने की कसम खिलवाई जाएगी। स्कूलों में इतनी भद्दी राजनीति कभी नहीं हुई।”

कपिल मिश्रा के बाद बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता ने भी ट्वीट करते हुए कहा, “दिल्ली सरकार के स्कूलों में सरकारी ख़र्च से ‘आप’ के कार्यकर्ता और नेता अभिभावकों को ज़बरन बुलाकर आने वाले विधान सभा चुनावों में पार्टी के उम्मीदवारों को वोट देने का पाठ पढ़ाएँगे। बीजेपी विधायक उपराज्यपाल से मिलकर हस्तक्षेप की माँग करेंगे।”

कपिल मिश्रा के इन आरोपों के ठीक एक दिन बाद उन्होंने आज एक और ट्वीट करते हुए बताया है कि अरविन्द केजरीवाल ने इस मीटिंग को रद्द करने का फैसला किया है और फिलहाल के लिए यह स्थगित कर दी गई है। इस ट्वीट में कपिल मिश्रा ने लिखा है, “स्कूलों में होने वाली मीटिंग कैंसिल। जनता की बड़ी जीत, सिसोदिया और केजरीवाल के झूठ की पोल खुली। आखिर हमारा दबाव रंग लाया। वीडियो, अभिभावकों की शिकायतें, सब सामने आ गईं तो आखिर मीटिंग रद्द करने पर मजबूर स्कूलों में केजरीवाल को राजनीति नहीं करने देंगे।”

इस पूरे प्रकरण ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि अरविन्द केजरीवाल राजनीति के नाम पर अपनी इस प्रकार की निम्नस्तरीय हरकतों से बाज नहीं आएँगे। खैर, जो भी हो, कम से कम यह तो स्पष्ट है कि अरविन्द केजरीवाल मनोरंजन में कोई कमी नहीं होने देते हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राम मंदिर
"साल 1855 के दंगों में 75 मुस्लिम मारे गए थे और सभी को यहीं दफन किया गया था। ऐसे में क्या राम मंदिर की नींव मुस्लिमों की कब्र पर रखी जा सकती है? इसका फैसला ट्रस्ट के मैनेजमेंट को करना होगा।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,155फैंसलाइक करें
41,428फॉलोवर्सफॉलो करें
178,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: