‘POK पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ हूँ, बालाकोट से हमने दिखा दिया कि हम चुप नहीं रहेंगे’

शशि थरूर ने स्पष्ट किया कि POK पर पाकिस्तान का कोई अधिकार नहीं है और उसने चीन को वह हिस्सा दे दिया जो उसका है ही नहीं।

कॉन्ग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर ने गुरुवार (सितंबर 17, 2019) को केंद्र सरकार से अपने मतभेद का कारण बताते हुए पाकिस्तान के प्रति अपना रोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि POK पर पाकिस्तान का कोई अधिकार नहीं है और उसने चीन को वह हिस्सा दे दिया जो उसका है ही नहीं।

कॉन्ग्रेस नेता ने इस दौरान स्पष्ट किया कि पीओके को लेकर सरकार के रुख से उन्हें कोई मतभेद नहीं है, लेकिन जिस तरीके से जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद सरकार ने मुद्दे को ‘डील’ किया है वो संविधान के अनुरूप नहीं है।

थरूर ने गुरुवार को ऑल इंडिया कॉन्ग्रेस द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। जहाँ उन्होंने बताया, ” मेरे केंद्र सरकार के साथ POK पर कोई गंभीर मतभेद नहीं हैं, लेकिन अंदर से मैं (आर्टिकल 370 को लेकर) असहमत हूँ, उन्होंने संविधान की आत्मा को ठेस पहुँचाया है।” आगे पाकिस्तान के लिए उन्होंने कहा, “पाकिस्तान को कोई अधिकार नहीं है, कि वो चीन को वह हिस्सा दें, जो उसका है ही नहीं।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

उन्होंने इस बातचीत में गाय से जुड़े मॉब लिंचिंग के मुद्दे को भी उठाया। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं से देश की छवि खराब हो रही है। उन्होंने कहा, “जब मैं विदेश जाता हूँ तो वहाँ लोग पूछते है कि भारत में गाय के नाम पर लोगों को मारा जा रहा है, गाय के नाम पर मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं ने एक ऐसा माहौल बना दिया है जिसके कारण निवेशक देश में निवेश करने से कतरा रहे हैं।”

इसके बाद बालाकोट स्ट्राइक पर भी थरूर बात करने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि कई अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट्स इस बात का खुलासा करती है कि 26 फरवरी को हुई बालाकोट स्ट्राइक में एक भी आतंकी नहीं मारा गया।

उन्होंने कहा “कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने बालाकोट हमले की तस्वीरें प्रकाशित कीं और यह सबूत दिया है कि बालाकोट हवाई हमले में कोई आतंकवादी नहीं मारा गया। जो सबूत उनके पास हैं, वो हमारी सरकार के पास नहीं। अगर सरकार कहती है कि ये स्ट्राइक प्रभावी थी और इसमें आतंकी मारे गए, तो इन्हें सबूत दिखाने चाहिए।”

थरूर के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय माध्यमों का दर्शाया जो भी उन्होंने देखा, उससे लगता है कि कुछ बड़ा नहीं हुआ है लेकिन सिर्फ़ एक संदेश गया है कि हमारे प्लेन पाकिस्तान की हवाई क्षेत्र में गए और उन्होंने लक्ष्य साधा। इसलिए उन्हें लगता है कि ये एक बड़ा संदेश था जो बताता था कि वो चुप नहीं रहेंगे और प्रतिक्रिया देंगे।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नितिन गडकरी
गडकरी का यह बयान शिवसेना विधायक दल में बगावत की खबरों के बीच आया है। हालॉंकि शिवसेना का कहना है कि एनसीपी और कॉन्ग्रेस के साथ मिलकर सरकार चलाने के लिए उसने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

113,096फैंसलाइक करें
22,561फॉलोवर्सफॉलो करें
119,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: