Friday, July 23, 2021
Homeराजनीतिब्राह्मणों को कुत्ता बताने वाले सांसद को बेल, दलितों पर टिप्पणी को लेकर हुई...

ब्राह्मणों को कुत्ता बताने वाले सांसद को बेल, दलितों पर टिप्पणी को लेकर हुई थी आरएस भारती की गिरफ्तारी

डीएमके सांसद आरएस भारती पूर्व में मीडिया कंपनियों की तुलना रेड लाइट एरिया से कर चुके हैं। इस पर काफी विवाद हुआ था। इसके अलावा उन्होंने ब्राह्मणों को ‘कुत्ता’ कहा था। उनके खिलाफ चेन्नई के दो पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज है।

दलित समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में गिरफ्तार कॉन्ग्रेस के सहयोगी दल द्रविड़ मुनेत्र कझगम (DMK) के राज्यसभा सांसद आरएस भारती को अंतरिम जमानत दे दी गई है। भारती के वकील शनमुगासुंदरम ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने आरोप लगया कि गिरफ्तारी का एकमात्र कारण मुख्यमंत्री और अन्य नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज कराना था।

बता दें कि पुलिस ने आज (मई 23, 2020) सुबह आरएस भारती को चेन्नई से गिरफ्तार किया था। उन्हें 14 फरवरी 2020 को आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। भारती के खिलाफ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक आदि तमिल मक्कल काची के प्रमुख कल्याण कुमार की शिकायत के बाद पुलिस ने ये कार्रवाई की। चेन्नई पुलिस ने भारती को अलंदुर स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया था। शिकायतकर्ता ने भारती पर आरोप लगाया था कि उन्होंने अपने भाषण से न केवल न्यायमूर्ति वरदराजन का अनादर किया, बल्कि पूरी अनुसूचित जाति (SC) समुदाय के लोगों के लिए घृणास्पद टिप्पणी की।

गिरफ्तारी से कुछ मिनट पहले ही पत्रकारों से बात करते हुए भारती ने कहा था कि उनके भाषण को संदर्भ से बाहर ले जाया गया। उन्होंने सभी आरोपों से इनकार करते हुए कहा था कि शिकायतकर्ता ने भाषण से कुछ लाइनों को निकाला और कहने के मतलब को अलग तरह से पेश किया।

भारती उसी भाषण की बात कर रहे थे, जिसे लेकर उनकी गिरफ्तारी की गई है। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो क्लिप में भारती ने दलित जजों पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। भारती ने भी अपनी गिरफ्तारी को सत्ताधारी AIDMK की साजिश बताया था। सांसद ने कहा था कि शुक्रवार शाम को उन्होंने मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में शिकायत दर्ज कराई थी, इसीलिए अचानक उनकी गिरफ्तारी की गई।

उन्होंने यह भी कहा था कि एक समूह द्वारा सोशल मीडिया पर उन्हें बदनाम करने के लिए कैंपेन चलाया जा रहा है। इसमें उनके एक भाषण का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। गौरतलब है कि भारती ने मीडिया कंपनियों की तुलना रेड लाइट एरिया से की थी, जिसे लेकर काफी विवाद हुआ था। इसके अलावा उन्होंने ब्राह्मणों को ‘कुत्ता’ कहा था। DMK नेता के खिलाफ चेन्नई के दो पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कौन है स्वरा भास्कर’: 15 अगस्त से पहले द वायर के दफ्तर में पुलिस, सिद्धार्थ वरदराजन ने आरफा और पेगासस से जोड़ दिया

इससे पहले द वायर की फर्जी खबरों को लेकर कश्मीर पुलिस ने उनको 'कारण बताओ नोटिस' जारी किया था। उन पर मीडिया ट्रॉयल में शामिल होने का भी आरोप है।

जिस भास्कर में स्टाफ मर्जी से ‘सूसू-पॉटी’ नहीं कर सकते, वहाँ ‘पाठकों की मर्जी’ कॉर्पोरेट शब्दों की चाशनी है बस

"भास्कर में चलेगी पाठकों की मर्जी" - इस वाक्य में ईमानदारी नहीं है। पाठक निरीह है, शब्दों का अफीम देकर उसे मानसिक तौर पर निर्जीव मत बनाइए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,862FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe