Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'गजवा-ए-हिंद का सपना नहीं होगा पूरा': बुर्का विवाद पर CM योगी की दो टूक,...

‘गजवा-ए-हिंद का सपना नहीं होगा पूरा’: बुर्का विवाद पर CM योगी की दो टूक, कहा- देश शरीयत से नहीं चलेगा

सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्कूल में हिजाब पहनने की जिद्द पर कहा कि किसी को अपने मजहब और आस्था को देश और इसके संस्थानों पर नहीं थोपना चाहिए। वह बोले कि स्कूलों में ड्रेस कोड लागू होना चाहिए। ये स्कूल के लिए और उसके अनुशासन के लिए जरूरी चीज है।

कर्नाटक बुर्का मामले में ओवैसी की बयानबाजी के बाद अब यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पर जवाब दिया है। उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में स्पष्ट कहा कि इस देश का तंत्र भारतीय संविधान से चलता है न कि शरीयत या इस्लामी कानून से। उन्होंने हिजाब विवाद को लेकर कहा कि किसी को भी अपनी मजहबी आस्था इस देश पर और इसके संस्थानों पर थोपनी नहीं चाहिए। कट्टरपंथी बयानों को लेकर सीएम योगी ने कहा गजवा-ए-हिंद का सपना तो किसी का कयामत तक भी पूरा नहीं होगा।

एएनआई से बात करते हुए सीएम योगी ने मुस्लिम लड़कियों की आजादी को लेकर कहा, “उसी बेटी को तो आजाद कराने के लिए, उसी बेटी को तो अधिकार दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक की प्रथा को खत्म किया। उसी बेटी को न्याय दिलाने के लिए, सम्मान दिलाने के लिए और स्वालंबन के मार्ग पर अग्रसर के लिए ये फैसले लिए जा रहे हैं और उसी बेटी के सम्मान को लेकर हम कहते हैं कि शरीयत के अनुसार व्यवस्था नहीं चलेगी, संविधान के हिसाब से चलेगी, ताकि हर बेटी के सम्मान और स्वावलंबन का कार्य हो सके।”

उन्होंने स्कूल में हिजाब पहनने वाले सवाल को लेकर कहा, “हम इस देश और इसके संस्थान पर अपनी धार्मिक मान्यताएँ या चुनाव नहीं थोप सकते। क्या मैं यूपी के हर नागरिक और कर्मचारी से भगवा पहनने को बोलता हूँ? वो जो पहनते हैं ये उनकी मर्जी है। लेकिन स्कूलों में ड्रेस कोड को लागू किया जाना चाहिए। ये स्कूल और वहाँ के अनुशासन की बातें हैं।”

इस दौरान सीएम योगी ने गजवा-ए-हिंद का सपना देखने वालों को भी संदेश दिया। उन्होंने कहा, “ये लोग जान लें ये नया भारत है। दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी का भारत है। इस नए भारत में विकास सबका होगा, मगर तुष्टिकरण किसी का नहीं होगा। ये नया भारत संविधान के हिसाब से चलेगा। शरीयत के हिसाब से नहीं। गजवा-ए-हिंद का सपना कयामत के दिन तक भी साकार नहीं होगा।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -