ED को मिले नए सुराग, रॉबर्ट वाड्रा की मनी लॉन्ड्रिंग जाँच में आया साइप्रस एंगल

ईडी का आरोप है कि थम्पी की स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी एफज़ेडई के असली मालिक वाड्रा हैं, जिन्होंने दुबई में एक ₹14 करोड़ का विला और लंदन में ₹26 करोड़ का एक फ़्लैट इस कम्पनी के ज़रिए खरीदा।

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के बहनोई और विवादास्पद जमीन कारोबारी रॉबर्ट वाड्रा की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जाँच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को अब साइप्रस के रास्ते हुए उनके कुछ और गोपनीय लेन-देन के सबूत मिले हैं। इससे पहले निदेशालय ने दावा किया था कि दुबई में पंजीकृत शेल कंपनियों में पड़े नकदी के जखीरे की जानकारी उसके पास है। यह धन रक्षा दलाल संजय भंडारी को हस्तांतरित किया गया था, जिससे उसने ब्रिटेन में सम्पत्ति खरीदी। यह वही संजय भंडारी हैं, जिनके बारे में मार्च में ऑपइंडिया ने खुलासा किया था कि राहुल गाँधी राफेल घोटाले का विरोध इसलिए कर रहे हैं ताकि राफेल सौदा रद्द होकर कॉन्ट्रैक्ट यूरोफाइटर को मिल जाए, जिसमें भंडारी का आर्थिक हित जुड़ा है। वाड्रा से मनी लॉन्ड्रिंग रोधी कानून के अंतर्गत पहले ही दिल्ली और जोधपुर में 13 बार पूछताछ हो चुकी है, और उन पर मामले भी दर्ज हैं।

थम्पी को ईडी का फिर से बुलावा

इन सबूतों की रोशनी में ईडी ने वाड्रा के दुबई निवासी एनआरआई सहयोगी सीसी थम्पी को एक बार फिर अपने दिल्ली कार्यालय में जाँच के लिए बुलावा भेजा है। थम्पी स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी एफज़ेडई नामक कम्पनी दुबई में चलाते हैं जिसका नाम वाड्रा की कंपनी स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड से संदेहास्पद रूप से मिलता-जुलता है। वाड्रा की स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी पर बीकानेर और गुरुग्राम (तत्कालीन गुड़गाँव) में जमीनों पर अवैध कब्जा करने के मामले में जाँच चल रही है।

थम्पी ने बीमारी का हवाला दे समय माँगा, वाड्रा से बेनामी सम्पत्तियों को लेकर हुई पूछताछ

थम्पी ने बीमारी का हवाला देकर ईडी से पेश होने के लिए और समय की माँग की है। इससे पहले अपनी पिछली पेशी में थम्पी ने बताया था कि उनको वाड्रा से मिलवाने वाले और कोई नहीं, सोनिया गाँधी के निजी सहायक पीपी माधवन थे। ईडी का आरोप है कि थम्पी की स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी एफज़ेडई के असली मालिक वाड्रा हैं, जिन्होंने दुबई में एक ₹14 करोड़ का विला और लंदन में ₹26 करोड़ का एक फ़्लैट इस कम्पनी के ज़रिए खरीदा।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

थम्पी ने जाँच के दौरान यह भी कबूल किया था कि वाड्रा अपने लंदन प्रवास के दौरान 12 ब्रैंस्टन स्क्वायर स्थित इस फ्लैट में ठहरे भी थे, जिससे वाड्रा ने इंकार किया है। इसके अलावा भी कुछ अन्य सम्पत्तियाँ रॉबर्ट वाड्रा द्वारा खरीदे जाने का प्रवर्तन निदेशालय को शक है। इनमें से कुछ मामलों में गत मंगलवार (4 जून) को वाड्रा से पूछताछ भी की गई थी

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जब मुस्लिम और ईसाई एक तरफ अल्पसंख्यक होने के नाम पर अपना मजहब और उसकी शुद्धता बनाए रखेंगे और दूसरी तरफ भजन, गीत, संगीत के आभूषणों के साथ संस्कृत भाषा सीखकर आपके हिन्दू धर्म, सनातन मूल्यों, वैदिक साहित्य और अनुष्ठानों की अपने तरह की व्याख्या करेंगे। तब आप सर्वधर्म समभाव का झुनझुना बजाते रहिएगा।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,945फैंसलाइक करें
23,442फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: