Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीति'तुम कम्युनल हो, तुम्हें पत्रकार नहीं मानता': जवानों के बलिदान पर हुआ सवाल तो...

‘तुम कम्युनल हो, तुम्हें पत्रकार नहीं मानता’: जवानों के बलिदान पर हुआ सवाल तो चिल्लाने लगे फारूक अब्दुल्ला, दिखाई उँगली

फारूक अब्दुल्ला ने पत्रकार को उँगली दिखाते हुए कहा "जबान संभाल कर। तुम कोई जनर्लिस्ट नहीं हो। मैं तुम्हें जनर्लिस्ट नहीं मानता। तुम कम्युनल हो। हमेशा तुम्हारा व्यवहार सांप्रदायिक रहता है।"

नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) अपने भड़काऊ भाषणों के लिए अक्सर विवादों में रहते हैं। इस बार भी उनका पाकिस्तान (pakistan) के लिए प्रेम नजर आया है और बलिदानी हुए दो पुलिसकर्मियों के बारे में उन्होंने बात करना जरूरी नहीं समझा। सोशल मीडिया पर फारूक का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वह एक पत्रकार पर सवाल पूछने पर चिल्लाते हुए नजर आ रहे हैं।

शनिवार (11 दिसंबर 2021) को जम्मू में टाइम्स नाउ के एक पत्रकार ने फारूक से दो पुलिसकर्मियों के बलिदान को लेकर सवाल किया। इस पर उन्होंने झल्लाते हुए कहा “तुम मुझसे यह सवाल क्यों पूछ रहे हो। तुम कहना क्या चाहते हो। इसके बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष ने पत्रकार से कहा कि क्या तुम लोगों के मरने से खुश हो। यह बहुत ही दुखद कहानी है। जाकर केंद्र सरकार से पूछो इसके बारे में।”

फारूक अब्दुल्ला ने आगे कहा, ”केंद्र सरकार बड़ी-बड़ी बातें करती है, लेकिन जमीनी हकीकत बिल्कुल अलग है। कश्मीर में अगर लोगों की सुरक्षा के लिए तैनात सुरक्षाबल और पुलिसकर्मी ही सुरक्षित नहीं होंगे, तो आम लोग कैसे सुरक्षित रह सकते हैं।”

इसके बाद एक अन्य रिपोर्टर ने उनसे पूछा कि क्या हम इसके लिए पाकिस्तान से बात कर सकते हैं। इस पर उन्होंने ​कहा कि आपको बात ही करनी है तो पाकिस्तान से नहीं चीन से करो, जो लगातार पूर्वी लद्दाख में तनाव बढ़ा रहा है। हमारे क्षेत्र पर कब्जा किया जा रहा है। क्या तुम लोग इससे सहमत हो।”

पाकिस्तानी आतंकवादी हमारे जवानों को मार रहे हैं आप उन्हें क्लीन चिट कैसे दे सकते हैं? इस सवाल पर फारूक अब्दुल्ला ‘टाइम्स नाउ’ के पत्रकार पर जोर से चिल्लाते हैं और कहते हैं, ”सरदार साहब। आपने पहले भी मुझे बदनाम किया है। माफी माँगता हूँ आपसे ये कहने के लिए। मैंने इससे पहले भी आपको देखा है और इसके लिए आपको चेतावनी भी दी है। मैं कभी आपसे बात नहीं करूँगा।”

इसके बाद पत्रकार कोई और सवाल करता फारूक अब्दुल्ला ने उसे उँगली दिखाते हुए कहा “जबान संभाल कर। तुम कोई जनर्लिस्ट नहीं हो। मैं तुम्हें जनर्लिस्ट नहीं मानता। तुम कम्युनल हो। हमेशा तुम्हारा व्यवहार सांप्रदायिक रहता है। तुम सांप्रदायिक हो।”

वहीं, एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर कभी भी उनके हाथों में नहीं आएगा। शनिवार को उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में स्थायी शांति के लिए पाकिस्तान से बात करने के अलावा केंद्र सरकार के पास कोई रास्ता नहीं है। शुक्रवार (10 दिसंबर 2021) को बांदीपोरा जिले में आतंकवादियों द्वारा दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दिया गया था। इसके बारे में पूछे जाने पर अब्दुल्ला ने कहा, “यह एक दुखद कहानी है। सब कुछ कहने वाली सरकार को हंकी-डोरी (बोलने) दो।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -