Saturday, February 24, 2024
Homeबड़ी ख़बर'राघव चड्ढा की हरकत आतंकवाद से कम नहीं': झूठी खबर को लेकर केजरीवाल के...

‘राघव चड्ढा की हरकत आतंकवाद से कम नहीं’: झूठी खबर को लेकर केजरीवाल के विधायक पर FIR

चड्ढा के ख़िलाफ़ वकील प्रशांत पटेल उमराव ने मामला दर्ज कराया है। उन पर वैमनस्य का माहौल बनाने, घृणा व द्वेष फैलाने और सीएम योगी आदित्यनाथ की मानहानि करने का आरोप लगाया गया है। एफआईआर नोएडा में दर्ज कराई गई है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बदनाम करने और उनकी मानहानि करने के आरोप में आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज किया गया है। चड्ढा के ख़िलाफ़ वकील प्रशांत पटेल उमराव ने मामला दर्ज कराया है। उन पर वैमनस्य का माहौल बनाने, घृणा व द्वेष फैलाने और सीएम योगी आदित्यनाथ की मानहानि करने का आरोप लगाया गया है। एफआईआर नोएडा में दर्ज कराई गई है।

दिल्ली के राजेंद्र नगर से विधायक राघव चड्ढा के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 500 (किसी की मानहानि करना), धारा 505 (2) (विभिन्न समुदायों के बीच शत्रुता, घृणा या वैमनस्य की भावनाएँ पैदा करने के आशय से झूठ बोलना) और आईटी एक्ट 66 (आपत्तिनजक पोस्ट या ट्वीट करना) का आरोप लगाया गया है। प्रशांत पटेल उमराव ने हर्षवर्धन त्रिपाठी के एक ट्वीट को रीट्वीट भी किया है, जिसमें कहा गया है कि राघव चड्ढा ने जो हरकत की है, वो आतंकवाद से कम नहीं है।

बता दें कि राघव चड्ढा ने ट्वीट किया था कि उन्हें सूत्रों से पता चला है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली से जाने वाले मजदूरों को दौड़ा-दौड़ा कर पिटवा रहे हैं। बकौल चड्ढा, सीएम योगी ने मजदूरों से पूछा कि वो दिल्ली क्यों गए थे और साथ ही धमकाया कि उन्हें आगे से दिल्ली नहीं जाने दिया जाएगा। उन्होंने यूपी सरकार पर संकट की घड़ी में समस्याओं को बढ़ाने का आरोप मढ़ा था। चड्ढा ने अपनी बात को साबित करने के लिए कुछ नहीं किया। उनके आरोप का आधार क्या था, ये भी उन्होंने नहीं बताया।

राघव चड्ढा के इस ट्वीट को शेयर करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने लिखा है, “यह सरासर झूठी ख़बर है, ऐसी महामारी के समय भी इनकी पार्टी गंदी राजनीति खेलने से बाज़ नहीं आ रही है, इतना नीचे कैसे गिर सकती है आम आदमी पार्टी? इस ट्वीट पर उत्तरप्रदेश सरकार और पुलिस निश्चित कार्यवाही करेगी।”

बता दें कि दिल्ली सरकार पर प्रवासी मजदूरों को लॉकडाउन के नाम पर गुमराह करने का आरोप है। कहा जा रहा है कि इनलोगों के बिजली-पानी कनेक्शन काट उन्हें यूपी बॉर्डर पर छोड़ दिया गया था। यह अफवाह फैलाई गई बॉर्डर पर उनको घर ले जाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई है। इसको लेकर ट्विटर पर सहायक अध्यापक (ट्विटर अकाउंट द्वारा उपलब्ध जानकारी) महेंद्र सिंह ने दिल्ली से UP-बिहार की ओर पलायन कर रहे लोगों की स्थिति को लेकर एक ट्वीट करते हुए लिखा, “दिल्ली में रह रहे मजदूरों के घर का पानी, बिजली काट दिया गया। अफ़वाह फैलाई कि लॉकडाउन 3 महीने का होगा। अफ़रातफ़री मच गई। बसों में भर कर लोगों को यूपी बॉर्डर पर भेज दिया। रात भर गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ में 1000 से ज्यादा बसें लगाकर इनको गंतव्य तक पहुँचाने की व्यवस्था की गई।” एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि दिल्ली ने प्रवासी मजदूरों को निराश किया है। चड्ढा ने उनके ट्वीट को रिट्वीट करते हुए यूपी सरकार पर आरोप लगाए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात, दिल्ली, UP… कॉन्ग्रेस ने सेट किया सीटों का गणित, AAP को भरूच देने पर अहमद पटेल के बच्चे नाराज: फर्रुखाबाद में सलमान खुर्शीद...

कॉन्ग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच इंडी गठबंधन के तहत सीटों का बँटवारा हो गया है, लेकिन पुराने कॉन्ग्रेसी नाराज दिख रहे हैं। अहमद पटेल के बेटे-बेटी ने पार्टी को आँख दिखाई है, तो वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता सलमान खुर्शीद तो एक कदम आगे ही बढ़ गए।

6 दिन में 700+ कंप्लेन… संदेशखाली में TMC नेता के खिलाफ उमड़े लोग, लगी कतार: BJP के संघर्ष से पीड़ितों को मिला हौसला, बैकफुट...

संदेशखाली में एक सप्ताह के भीतर 700 से अधिक शिकायतें दर्ज हो चुकी हैं। इनमें से 150 से अधिक जमीन कब्ज़ा किए जाने से जुड़ी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe