Thursday, August 18, 2022
Homeराजनीतियूपी में पहली बार: बाबा विश्वनाथ दरबार में होगी योगी सरकार की कैबिनेट, 'भव्य...

यूपी में पहली बार: बाबा विश्वनाथ दरबार में होगी योगी सरकार की कैबिनेट, ‘भव्य काशी दिव्य काशी’ के लिए ऐसी है तैयारी

14 दिसंबर को भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता खुद प्रधानमंत्री मोदी करेंगे। वहीं 16 दिसंबर को योगी सरकार की कैबिनेट की बैठक होगी। यह बैठक काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में ही कराने की तैयारी हो रही है।

वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे। समारोह को भव्य बनाने के लिए बड़े स्तर पर तैयारियाँ की जा रही हैं। सबसे बड़ी तैयारी भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन के साथ ही योगी कैबिनेट की मीटिंग को लेकर हो रही है। 

14 दिसंबर को भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इसके बाद 16 दिसंबर को योगी सरकार की कैबिनेट की बैठक होगी। यह बैठक काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में ही कराने की तैयारी हो रही है। अगर ऐसा होता है तो देश में पहली बार किसी सरकार की कैबिनट की बैठक किसी मंदिर में होगी। 

16 दिसंबर को होने वाली योगी कैबिनेट की बैठक में दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा के साथ ही अन्य मंत्री और अधिकारी मौजूद रहेंगे। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को लेकर हो रहे आयोजनों को आगामी विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी का बड़ा दाँव माना जा रहा है।

इस बैठक को लेकर वाराणसी जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। सुरक्षा के लिहाज से भी यहाँ पुलिस ऑफिसर ड्राफ्ट तैयार कर रहे हैं। अब तक उत्तर प्रदेश के इतिहास में ऐसा नहीं हुआ है, जब पूरी कैबिनेट लखनऊ छोड़कर कहीं किसी मंदिर में पहुँचे और वहाँ बैठक हो।

13 दिसंबर को कॉरिडोर के लोकार्पण के साथ ही काशी में एक महीने तक चलने वाले आयोजनों की शुरुआत भी हो जाएगी। इसमें भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन, देश के सभी महापौरों का सम्मेलन के अलावा हर दिन अलग-अलग आयोजन होने हैं। ‘काशी चलो’ अभियान के तहत पूरे देश से काशी के लिए ट्रेनें चलाई जाएँगी। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करने के बाद 14 दिसंबर को भाजपा के मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे। सम्मेलन में 12 राज्यों के मुख्यमंत्री व दो राज्यों के तीन डिप्टी सीएम भाग लेंगे। यह सम्मेलन पाँच सत्रों में होगा। उसमें वे अपने राज्यों में विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन का प्रेजेंटेशन देंगे। भाजपा पदाधिकारियों के मुताबिक शासन स्तर पर सभी मुख्यमंत्रियों को आमंत्रण भेजा जा चुका है। 

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काशी में करीब हफ्ते भर का प्रवास करने जा रहे हैं। सर्किट हाउस मुख्यमंत्री का कैम्प कार्यालय बनेगा। अधिकारियों के मुताबिक वह 8 से 14 दिसंबर तक काशी से सरकार चलाएँगे। इस दौरान पीएम के आगमन, विश्वनाथ धाम के लोकार्पण और महीने भर तक प्रस्तावित काशी विश्वनाथ यात्रा की तैयारियों की निगरानी करेंगे। 

उनका गोरखपुर और आसपास के जिलों का दौरा भी बनारस से ही होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काशी प्रवास के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए विभिन्न विभागों के प्रमुख सचिवों व अधिकारियों के साथ कार्य निबटाएँगे। इसके साथ ही 16 दिसंबर को काशी में होने वाली कैबिनेट बैठक की तैयारियों को भी अंतिम रूप देंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बीएस येदियुरप्पा समेत 6 नए सदस्यों के साथ भाजपा संसदीय बोर्ड का गठन, गडकरी- शिवराज बाहर: 2024 की स्पष्ट रणनीति

बीजेपी के नए संसदीय बोर्ड का ऐलान हो चुका है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बुधवार, 17 अगस्त 2022 की शाम को नए संसदीय बोर्ड का ऐलान किया।

1 नाव-3 AK 47, कारतूस और विस्फोटक भी: जैसे 26/11 के लिए समंदर से आए पाकिस्तानी आतंकी, वैसे ही इस बार महाराष्ट्र के तट...

डिप्टी सीएम ने जानकारी दी कि अभी तक किसी आतंकी एंगल की पुष्टि नहीं हुई है। केंद्रीय जाँच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,081FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe