Tuesday, September 28, 2021
Homeराजनीतिउज्जैन में पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने वालों के बचाव में आए दिग्विजय...

उज्जैन में पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने वालों के बचाव में आए दिग्विजय सिंह, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- नहीं होगी नए सिरे से जाँच

दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए हुए मप्र के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में तालिबानी सोच और राष्ट्र विरोधी मानसिकता वालों को नहीं बख्शा जाएगा।

कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके दिग्विजय सिंह ने उज्जैन में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करने वालों का बचाव किया है । उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश पुलिस को वास्तविकता का पता लगाना चाहिए और यदि गिरफ्तारी हुई है तो प्रकरण वापस लेना चाहिए।

उज्जैन में 19 अगस्त 2021 को मुहर्रम के दिन ताजिया उठाने के दौरान पाकिस्तान समर्थित नारेबाजी की गई थी। इसके संबंध में ऑल्ट न्यूज की फैक्ट चेक रिपोर्ट को आधार मानते हुए कॉन्ग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करके कहा, “फेक न्यूज़ के आधार पर “काजी साहब जिंदाबाद” को “पाकिस्तान जिंदाबाद” बता कर कई लोगों पर मुक़दमे दायर हो गए। मप्र पुलिस को कार्रवाई करने के पूर्व वास्तविकता का पता लगा लेना चाहिए था। यदि गिरफ़्तारी हुई है तो प्रकरण वापस लेना चाहिए।”

दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए हुए मप्र के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में तालिबानी सोच और राष्ट्र विरोधी मानसिकता वालों को नहीं बख्शा जाएगा। सिंह के बयान पर गृहमंत्री मिश्रा ने कहा कि दिग्विजय सिंह अपनी तुष्टिकरण की मानसिकता के चलते विरोधी लोगों के पक्ष में खड़े होते आए हैं और उन्हें ऐसे लोगों एक नेतृत्व कर पाकिस्तान ले जाना चाहिए। उन्होंने उज्जैन मामले की नए सिरे से जाँच की बात को सिरे से नकार दिया।

दिग्विजय सिंह ने ऑल्ट न्यूज की जिस रिपोर्ट को आधार माना है, उसमें यह दावा किया गया है कि सोशल मीडिया पर वायरल उज्जैन के वीडियो का एनालिसिस करने पर यह पता चलता है कि वीडियो में पाकिस्तान जिंदाबाद नहीं, बल्कि काजी साब जिंदाबाद का नारा लगाया गया था। ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक प्रतीक सिन्हा ने वीडियो के बेहतर क्वालिटी वाले क्लिप्स का एनालिसिस करने का दावा किया है।

ज्ञात हो कि गुरुवार (19 अगस्त 2021) को उज्जैन में मोहर्रम के अवसर पर देश विरोधी नारे लगाने का मामला सामने आया था। गीता कॉलोनी में मोहर्रम का ताजिया उठ रहा था, इसी दौरान देश विरोधी नारे लगे और कई युवक पाकिस्तान जिंदाबाद चिल्लाने लगे। सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपितों की पहचान की थी और 15 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में शनिवार की शाम तक 12 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,827FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe