आतिशी ने कहा गौतम ने मेरे नाम के ‘गंदे’ पर्चे बाँटे, गौतम ने भेजा मानहानि नोटिस

इन सब के बीच आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने अपने ट्विटर पर एक स्क्रीनशॉट ट्वीट किया है। इसमें लोगों से उस पैम्पलेट को ट्वीट के जरिए शेयर करने को कहा जा रहा है, जिसमें आतिशी के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया है।

पूर्वी दिल्ली से आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी आतिशी ने गुरुवार (मई 9, 2019) को भाजपा के उम्मीदवार गौतम गंभीर पर संगीन आरोप लगाए। आतिशी ने अपने खिलाफ ‘आपत्तिजनक और अपमानजनक’ टिप्पणियों वाला एक पर्चा पढ़ते हुए दावा किया कि गंभीर ने निर्वाचन क्षेत्र में ऐसे पर्चे बँटवाए हैं। इस पर गौतम ने आतिशी पर मानहानि का केस करने का फैसला किया।

गौतम गंभीर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और प्रत्याशी आतिशी को मानहानि का नोटिस भिजवाया। गंभीर ने कहा कि वे बिना शर्त, माफ़ी माँगे और अपना झूठा बयान वापस लें, नहीं तो मानहानि का केस किया जाएगा।

इससे पूर्व गौतम गंभीर ने अपने ऊपर लगे कथित आरोपों पर ट्वीट करते हुए लिखा था, “मैं घोषणा करता हूँ कि केजरीवाल और आतिशी अगर साबित कर दें कि मैंने कुछ गलत किया है तो मैं अभी अपनी उम्मीदवारी वापस ले लूँगा, लेकिन वह अगर ऐसा न कर पाए तो क्या वे राजनीति छोड़ देंगे?”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अपने ऊपर लगे आरोपों पर गंभीर ने एक के बाद एक ट्वीट किए। गंभीर ने केजरीवाल पर ट्वीट करते हुए लिखा, “मैं किसी महिला की इज्जत उछालने के कृत्य से घृणा करता हूँ। अरविंद केजरीवाल, अपनी सहयोगी के साथ ऐसा काम आपने केवल चुनाव जीतने के लिए किया? श्रीमान मुख्यमंत्री आप गंदे हैं और आपके दिमाग को साफ करने के लिए आपकी झाड़ू की जरूरत पड़ेगी”

बता दें इन सब के बीच आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने अपने ट्विटर पर एक स्क्रीनशॉट ट्वीट किया है। इसमें लोगों से उस पैम्पलेट को ट्वीट के जरिए शेयर करने को कहा जा रहा है, जिसमें आतिशी के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया है। इस स्क्रीनशॉट में एक ट्वीट करने पर 200 रुपए दिए जाने का भी दावा है। कपिल मिश्रा का कहना है कि इस सबूत को कोर्ट में ‘आप’ के ख़िलाफ़ इस्तेमाल किया जा सकता है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बीएचयू, वीर सावरकर
वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया था। फोटो पर स्याही लगी हुई थी। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो उठे और धरने पर बैठ गए। छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी वहाँ पर पहुँचे। उन्होंने तीन सदस्यीय कमिटी गठित कर जाँच का आश्वासन दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,578फैंसलाइक करें
23,209फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: